(रजिस्ट्रेशन) झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना 2022: Check Eligibility & Benefits

झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन | साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना फॉर्म | Jharkhand Cyber Crime Prevention Scheme 2021-22 | साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना लाभ व विशेषता | झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना 2022

इस डिजिटलीकरण युग में साइबर क्राइम दिन बा दिन बढ़ता जा रहा है। जिसकी रोक का उपाय करते हुए झारखण्ड सरकार ने झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना 2022 की शुरुआत की है। चुकी हमारे देश भारत के झारखण्ड राज्य में सबसे अधिक साइबर क्राइम होते है। इस कारण साइबर क्राइम पर रोक लगाना बहुत आवश्यक हो गया था, इसलिए ही Jharkhand Cyber Crime Prevation Yojana 2022 की शुरुआत की गयी है। इस लेख में हम आपको झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना 2022 की सम्पूर्ण विस्तारपूर्वक जानकारी देने वाले है। जैसे- साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना क्या है ? तथा ये योजना किस प्रकार कार्य करेगी ? योजना क्यों  शुरू की गयी है ? लाभ तथा विशेषताएं ,उद्देश्य आदि। [यह भी पढ़ें- भु नक्शा झारखण्ड: Jharkhand Bhu Naksha, अपना खाता, भूलेख ऑनलाइन जमाबंदी नकल]

Jharkhand Cyber Crime Prevation Yojana 2022

झारखंड सरकार ने 17 दिसंबर 2020 को इस योजना की शुरुआत की गयी है झारखण्ड राज्य में साइबर क्राइम हर बढ़ते दिन के साथ बढ़ते नज़र आ रहे थे, जिसकी रोक तथा जड़ से निवारण हेतु ही इस की Jharkhand Cyber Crime Prevation Yojana 2022 शुरुआत की गयी है। इस योजना के तहत पुलिस विभाग में भी डिजिटल आधुनिकरण का प्रभाव पड़ेगा। जिस के चलते पुलिस विभाग डिजटलीकरण के माध्यम से रुक गए केसेस का समाधान कर पाएगी। साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना 2022 के तहत ऑनलाइन साइबर पंजीकरण , क्षमता निर्माण , जागरूकता निर्माण, अनुसंधान इकाई, फॉरेंसिक यूनिट आदि का लाभ दिया जायगा। [यह भी पढ़ें- मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा पारदेशीय छात्रवृत्ति योजना 2021: ऑनलाइन पंजीकरण]

झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना 2021

PM Modi Yojana

Jharkhand Cyber Crime Prevention Scheme Details

योजना का नामझारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना
वर्ष2022
आरम्भ की गईमुख्यमंत्री श्री हेमंत सुरेंद्र जी के द्वारा
आरंभ तिथि17 दिसंबर 2020
लाभार्थीझारखण्ड के बच्चे तथा महिलाएं
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन
उद्देश्यराज्य की महिलाओं को बच्चों को बढ़ते साइबर क्राइम से बचाना
लाभछात्रों को कंप्यूटिंग पुलिसिंग की ट्रेनिंग प्रदान करना
श्रेणीझारखण्ड सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइट ———–

झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना की जरूरत

आपको बता दे कि साइबर क्राइम प्रशिक्षण हेतु झारखण्ड सरकार ने कुछ स्कुल चुने है, ये प्रशिक्षण भी योजना के अंतर्गत ही संचालित किया जाएगा। जानकारी हेतु आपको बता दें कि फिलहाल इस महीने ही झारखण्ड में साइबर क्राइम के 355 केसेस दर्ज हुए है। इन सब कारणों के चलते ही योजना आवश्यक हो गयी है। योजना के माध्यम से महिलाओं तथा बच्चों को सभी साइबर क्राइम से बचाने का प्रयास किया गया है। इसके साथ ही Jharkhand Cyber Crime Prevention Scheme 2022 के संचालन हेतु सरकार ने एक टीम का गठन किया है। जो साल के 24 घंटे 365 दिन काम करेगी। इसके साथ ही आपको बता दे कि पिछले 5 वर्षो में 4803 केस दर्ज किये गए है , ये केवल वो केस है, जो सामने आ पाए है। ये संख्या दिन बा दिन बढ़ती जा रही है। [यह भी पढ़ें- झारखंड ऋण माफी योजना 2021: किसान कर्ज माफी लिस्ट, Jharkhand Farm Loan Waiver]

झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना का उद्देश्य

बढ़ते साइबर क्राइम के कारण, इस क्राइम की रोक का उपाय आवश्यक हो गया था। जिस कारण Jharkhand Cyber Crime Prevation Scheme 2022 का संचालन किया गया है। योजना में न केवल साइबर क्राइम इन्वेस्टीगेशन होगी। इसके साथ ही पुलिस विभाग डिजटलीकरण के माध्यम से रुक गए केसेस का समाधान कर पाएगी। साथ ही साइबर क्राइम प्रशिक्षण हेतु झारखण्ड सरकार ने कुछ स्कुल चुने है| ये प्रशिक्षण भी योजना के अंतर्गत ही संचालित किया जायगा। इसके अतिरिक्त यदि किसी महिला या युवती को डिजिटल प्लेटफार्म जैसे – फेसबुक , व्हाट्सप्प आदि के माध्यम से ब्लैकमेल किया जा रहा है। तब योजना हेतु  नियुक्त की गयी टीम इच्छा अनुसार हाईड वय में भी केस सोल्व करेगी। [यह भी पढ़ें- |ceo.jharkhand.gov.in| झारखण्ड वोटर लिस्ट 2021: Download Voter List With Photo PDF]

साइबर क्राइम प्रिवेंशन फॉर वूमेन एंड चिल्ड्रन 5 कॉम्पोनेन्ट

  • जागरूकता निर्माण इकाई
  • क्षमता निर्माण इकाई
  • ऑनलाइन साइबर क्राइम रिपोर्टिंग यूनिट
  • अनुसंधान एवं विकास इकाई
  • फॉरेंसिक यूनिट

ऑनलाइन साइबर क्राइम रिपोर्टिंग यूनिट

आपको बता दे कि साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना के अंतर्गत सहायता हेतु साइबर क्राइम रिपोर्टिंग यूनिट पोर्टल की शुरुआत की गयी है जिसके अंतर्गत साइबर क्राइम रिपोर्टिंग के लिए पोर्टल की शुरुआत की गयी है।जो की वूमेन एंड चिल्ड्रन 5 कॉम्पोनेन्ट में सयुक्त फॉरेंसिक यूनिट के साथ भी कार्य करेगी।  इस पोर्टल के माध्यम से एक सेंट्रल रिपोर्टजारी की जायगी। जो केस के विरोध में राज्य स्तर , कानून प्रवर्तन तथा स्थानीय स्तर दुवारा तैयार की जायगी। [यह भी पढ़ें- मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना लिस्ट: आवेदन की स्थिति, MMKAY Beneficiary List]

फॉरेंसिक यूनिट

ये एक प्रकार की प्रयोगशाला होती है जिसका उपयोग केस के विरोध में मिले अवशेष के मुआयना के लिए किया जायगा। इस फॉरेंसिक प्रयोगशाला का सेटअप नए आधुनिकरण युग के उपकरणों दुवारा किया जायगा। जिसका उपयोग आवश्यकता होने पर राष्ट्रीय , राज्य या स्थानीय स्तर पर भी कर सकते है। साथ ही इस फॉरेंसिक यूनिट को साइबर सिक्योरिटी विशेषज्ञों दुवारा संचालित किया जायगा। जो साल के 24 घंटे 365 दिन काम करेगी। [यह भी पढ़ें- (रजिस्ट्रेशन) झारखण्ड विवाह पंजीकरण: Marriage Certificate, विवाह प्रमाण पत्र फार्म]

जागरूकता निर्माण इकाई

ऐसे लोग जो साइबर क्राइम का शिकार हो चुके है तथा वे समाज के सामने अपनी समस्या नई ला पा रहे है , उनकी समस्या का समाधान गोपनीय तरह से किया जायगा। साथ ही की इस जागरूकता निर्माण इकाई यूनिट के माध्यम से लोगों के प्रीति साइबर क्राइम को लेकर जागरूकता फैलाई जायगी। जिसके की लोग इन क्राइम्स का शिकार होने या करने से बच सके, साथ ही साइबर क्राइम करने वालो की सज़ा भी बताई जायगी, जिस कारण लोग इन क्राइम्स में आगे न बढ़े। [यह भी पढ़ें- (पंजीकरण) झारखण्ड मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना 2021: डाउनलोड एप्लीकेशन फॉर्म]

अनुसंधान एवं विकास इकाई

आज के समय में हर काम डिजिटल माध्यम से किया जा रहा है , जिस कारण हर दिन लोग इस से जुड़ते चले जा रहे है। इस कारण इस माध्यम से होने वाले क्राइम्स का पता लगा कर उनका शोध करने हेतु ये अनुसंधान एवं विकास इकाई कार्य करेगी। चुकी केवल केस का वरन समाधान करना ही इस झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना 2022 का उदेश्य नहीं बल्कि जड़ से साइबर क्राइम को ख़त्म करना है। [यह भी पढ़ें- झारखंड मुख्यमंत्री श्रमिक रोजगार योजना 2021: Shramik Rojgar Card, ऑनलाइन आवेदन]

क्षमता निर्माण इकाई

इस इकाई के माध्यम से कुछ ऐसे केसेस भी सामने आयगे जहां उपकरणों की नहीं। बल्कि बल की आवश्यकता होगी। अतः इस क्षमता निर्माण इकाई के माध्यम से साइबर क्राइम प्रिवेंशन फॉर वूमेन एंड चिल्ड्रन 5 कॉम्पोनेन्ट संचालन करने वाली टीम पुलिस बल का इस्तेमाल करेगी। इस यूनिट के अंर्तगत आवश्यकता पड़ने पर पुलिस ,न्यायायिक अधिकारियो तथा उच्च स्तर पर अभियोजना पक्ष की सहायता भी मिलेगी। [यह भी पढ़ें- (रजिस्ट्रेशन) झारखण्ड फसल राहत योजना 2021: Fasal Rahat Yojana, ऑनलाइन आवेदन]

झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना पात्रता एवं महत्वपूर्ण दस्तावेज

यदि आप भी इस में आवेदन करना चाहते है, तब आपके पास नीचे लिखे हुए डाक्यूमेंट्स होने चाहिए यदि आपके पास इनमे से कोई एक डॉक्यूमेंट भी नहीं है तब आप इस योजना का लाभ नहीं उठा है।

  • आधार कार्ड 
  • पासपोर्ट साइज फोटो 
  • मोबाइल नंबर 
  • राशन कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • योजना का लाभ केवल झारखण्ड का स्थायी निवासी ही ले सकता है।

झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया

राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना में आवेदन करना चाहते है। तो इच्छुक लाभार्थी को थोड़ा रुकना होगा। राज्य झारखंड सरकार ने आवेदन हेतु कोई भी जानकारी साझा नहीं की है। इस संबंध में दी गयी कोई भी जानकारी गलत है। सरकार के माधयम से योजना में ऑनलाइन या ऑफलाइन या अन्य किसी भी प्रकार से आवेदन करने की कोई ऑफिशियली जानकारी नहीं दी गयी है। यदि आने वाले समय में Jharkhand Cyber Crime Prevation Yojana 2022 की कोई भी हेतु अपडेट मिलेगी उसको हम आप तक इस आर्टिकल के माध्यम से पहुंचा देंगे। [यह भी पढ़ें- Jharsewa | झारखण्ड झारसेवा प्रमाण पत्र (Income, Caste Certificate) ऑनलाइन आवेदन]

Nationa Portal Of India- india.gov.in

Leave a Comment