पीएम मोदी ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन क्या है | Transparent Taxation Platform लाभ व कार्य प्रणाली

Transparent Taxation Platform | पीएम मोदी ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन | Transparent Taxation Platform in Hindi | Transparent Taxation Platform PDF

हमारे देश में गरीब नागरिको को सहायता प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकार कई अन्य तरह योजनाए आरम्भ करती है, जिसके तहत गरीब नागरिको को अपने जीवन काफी मदद मिलती है। इसी तरह हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने एक नया प्लेटफार्म लांच किया है जिसका नाम पीएम मोदी ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन है। केंद्र सरकार द्वारा 13 अगस्त 2020 को Transparent Taxation Platform को एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा आरंभ किया गया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण तथा फाइनेंस और कॉरपोरेट अफेयर्स मिनिस्टर अनुराग सिंह ठाकुर भी इस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग इस प्लेटफार्म की घोषणा करने में शामिल थे। हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने इस मौके पर यह कहा की “इस प्लेटफॉर्म में फेसलेस असेसमेंट, फेसलेस अपील, टैक्सपेयर्स चार्टर जैसे बड़े रिफॉर्म्स हैं, और फेसलेस असेसमेंट, टैक्सपेयर्स चार्टर आज से लागू हो गए हैं, तो दोस्तों यदि आप प्रधानमंत्री जी द्वारा शुरू किए गए Transparent Taxation Platform से समबंधित सभी जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो हमारे इस आर्टिकल को पढ़ना होगा, क्योकि हमने अपने इस आर्टिकल के माध्यम से पीएम मोदी ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन जुड़ी सभी जानकारी प्रदान की है। [यह भी पढ़ें- उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन: ऑनलाइन आवेदन | Udyog Aadhaar MSME Registration]

Transparent Taxation Platform

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने इस Transparent Taxation Platform की शुरुआत करते बताया की हमारे देश में पिछले 6-7 वर्षो में लगभग ढाई करोड़ से ज़्यादा नागरिक को ने इनकम टैक्स रिटर्न भरने के लिए हाथ बढ़ाया है, जिसको दखते हुए, हमने लोगो की सहायता को ध्यान में रखते हुए इस पीएम मोदी ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन को आरम्भ करने का फैसला लिया हैं। प्रधानमंत्री जी ने बताया है की अब देश के नागरिको को टैक्स से डरने की जरूरत नहीं होगी वे सभी निडर होकर टैक्स भर सकेंगे। इसका मतलब है कि आयकर विभाग करदाता की गरिमा का ख्याल रखेगा और करदाता पर भरोसा करेगा और पाठ दाता पर बिना किसी आधार के संदेह नहीं किया जाएगा, तो दोस्तों यदि आप प्रधानमंत्री जी द्वारा शुर की गई पीएम मोदी ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। [यह भी पढ़ें- (Vivah Panjikaran) विवाह पंजीकरण 2022: शादी प्रमाण पत्र ऑनलाइन आवेदन, स्टेटस चेक]

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की योजनाएं

Overview of the Transparent Taxation Platform

योजना का नामपीएम मोदी ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन
वर्ष2022
आरम्भ की गईकेंद्र सरकार
लाभार्थीभारतीय नागरिक
आवेदन की प्रक्रिया——
उद्देश्यप्लेटफॉर्म का मुख्य उद्देश्य टैक्स प्रणाली को आसान बनाना है।
श्रेणीकेंद्र सरकारी योजनाए
आधिकारिक वेबसाइटhttps://www.pmindia.gov.in/

Transparent Taxation Platform का उद्देश्य

हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने पीएम मोदी ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन को नागरिको के लिए सम्मान’ प्लेटफॉर्म की शुरुआत की है, केंद्र सरकार ने पीएम मोदी ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन को आरम्भ करने का मुख्य उदेश्य यह बताया है की िक्से माध्यम से सुधार और उसे सरल बनाने के लिए शुरू किया गया है। इसके आलावा मोदी जी ने यह भी बताया है कि नए प्लेटफॉर्म के लॉन्च होने से करदाता भयमुक्त महसूस करेंगे। और साथ ही बताया कि हमारे देश में चल रहे स्ट्रक्चरल रिफॉर्म्स का सिलसिला आज एक नए पड़ाव पर पहुँच गया है। इस Transparent Taxation Platform को शुरू करने का मुख्य उदेश्य यह है की देश के उन ईमानदार को संबोधित जो टैक्स देते है। [यह भी पढ़ें- स्वामित्व योजना 2022: PM Swamitva Yojana ऑनलाइन पंजीकरण, लाभ, पात्रता]

आयकर प्रणाली को आसान बनाना

प्रधानमंत्री जी ने इस मौके पर बताया कि देश का ईमानदारटैक्सपेयर राष्ट्र निर्माण में बड़ी भूमिका निभाता है। जब देश के ईमानदार टैक्सपेयर का जीवन आसान हो जाता है, वह प्रगति करता है, तो देश भी विकसित होता है, देश भी प्रगति करता है। आज से शुरू हो रहे नए सिस्टम, नई सुविधाएं, न्यूनतम सरकार, अधिकतम शासन, हमारी प्रतिबद्धता को और मजबूत करते हैं। यह भी देशवासियों के जीवन पर सरकार के दखल को कम करने की दिशा में एक बड़ा कदम है। यह न्यू इंडिया के नए शासन मॉडल का एक स्टेप्स है और देश में इसके अच्छे परिणाम देखने को मिल रहे हैं। इस सुधार से आयकर प्रणाली को सरल बनाया जाएगा। जिसमें न्यूनतम कानून होगा और जो कानून होगा वह स्पष्ट और आसान होगा जिसे करदाता आसानी से समझ सकेगा। [यह भी पढ़ें- Mera Ration App: वन नेशन वन राशन कार्ड, लाभ व विशेषताएं, डाउनलोड लिंक]

Transparent Taxation Platform

(Live) pmkisan.gov.in Status 2022

ऑनरिंग द ऑनेस्ट

प्रधान मंत्री मोदी जी ने हमारे देश में बताया है कि पिछले 6 वर्षों में सरकार का ध्यान बैकिंग द अनबैक्ड, सिक्योर्ड द अनसिक्योर्ड और अनफंडेड को फंडिंग पर रहा है, और अब सरकार ने यह नया सिस्टम शुरू किया है जिसे हम ऑनर द ऑनर के नाम से जानेंगे। इस प्रणाली के तहत ईमानदार करदाताओं के लिए कर प्रणाली को सरल बनाया जाएगा। [यह भी पढ़ें- प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना 2022: Saubhagya Yojana, ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म]

सीबीडीटी द्वारा किए जाने वाले परिवर्तन

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड द्वारा पिछले एक साल में कई बड़े बदलाव किए गए हैं। इन्हीं बदलावों में से एक है टैक्स स्लैब में किए गए बदलाव भी। अब 5 लाख तक की आय पर कोई टैक्स नहीं देना होगा। सीबीडीटी लगातार टैक्स नियमों में बदलाव कर रहा है। इससे टैक्स सिस्टम में पारदर्शिता आएगी, जिसके द्वारा काफी बदलाव देखने को मिलेगा और सुधार आएगा। [यह भी पढ़ें- (Land Record) भूमि जानकारी 2022: जिलेवार भूलेख, भू नक्शा, जमाबंदी नकल ऑनलाइन देखें]

अब कम दखल होगा सरकार का

हमारे देश के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी ने बताया कि ट्ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन के तहत एक दौर में सुधारों की बात की गई थी लेकिन किसी कारण से सुधार नहीं हो सका। इस सभी बातो को ध्यान में रखते हुए अब यह तरीका बदल गया है, और आज से यह नई व्यवस्था शुरू हो रही है, की इस नई व्यवस्था से देशवासियों के जीवन में सरकार का दखल कम होगा, और पीएम मोदी ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन का मुख्य उद्देश्य यह ही है। [यह भी पढ़ें- (100 लाख करोड़) प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन, लाभ व पात्रता जानकारी]

बैठक में कौन उपस्थित था?

पीएम मोदी ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन के तहत बैठक में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हमारे देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, आयकर विभाग के अधिकारी और अधिकारी, विभिन्न चैंबर्स ऑफ कॉमर्स, ट्रेड यूनियनों और चार्टर्ड एकाउंटेंट्स एसोसिएशन के जाने-माने करदाता मौजूद थे। [यह भी पढ़ें- बीपीएल सूची 2022: डाउनलोड NEW BPL List, बीपीएल राशन कार्ड लिस्ट में नाम देंखे]

इलेक्ट्रॉनिक मोड को दिया गया बढ़ावा और सालाना रिटर्न दाखिल करने की सीमा बढ़ाई गई

केंद्र सरकार के माध्यम से शुरू की गई ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन के तहत डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा दिया जा रहा है, जिसके द्वारा आज देश के कई नागरिक ऑनलाइन भुगतान करने की सुविधा ले रहे है। इस वजह से देश के नागरिको को यह बहुत आसान भी लगता है, और केंद्र सरकार के माध्यम से कोरोना काल को देखते हुए वार्षिक रिटर्न दाखिल करने की समय सीमा को भी बढ़ने का फैसला लिया गया है और करदाताओं के नकदी प्रवाह को बढ़ाने के लिए रिफंड की प्रक्रिया को तेज कर दिया है, अधिक जानकारी के लिए आप सभी इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जा सकते है। [यह भी पढ़ें- (List) प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लिस्ट 2022: PMAY-G संशोधित लिस्ट]

पीएम मोदी ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन के लाभ एवं विशेषताएं

  • केंद्र सरकार के माध्यम से Transparent Taxation Platform शुरुआत 13 अगस्त 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा की गई है।
  • इस प्लेटफार्म के द्वारा टैक्स प्रणाली में सरलता लाई जाएगी, और प्रधानमंत्री जी द्वारा टैक्स प्रणाली को सीमलेस पेनलैस तथा फैसेलेस बनाया जाएगा।
  • हमारा देश पूरी दुनिया में सबसे कम कॉरपोरेट टैक्स वसूल करने वाले देशों में से एक है।
  • प्रधानमंत्री जी द्वारा फेसलेस असेसमेंट एंड ट्रांसपेरेंट चार्टर 13 अगस्त 2020 से लागू होगा और निर्णय अपील 25 सितंबर 2020 से लागू होगी।
  • केंद्र सरकार के माध्यम से इस प्लेटफार्म के द्वारा फेसलेस एसेसमेंट, फेसलेस अपील और ट्रांसपेरेंट चार्टर जैसे बड़े रिफॉर्म होंगे।
  • Transparent Taxation Platform के द्वारा टैक्स की दरों में भी कमी आएगी, जिससे विवाद से विश्वास अधिनियम 2020 प्रस्तुत किया गया है जिसके तहत विवादों से निपटने के लिए प्रक्रिया निर्धारित की गई हैं, और विवादों का समाधान होगा।
  • हमारे देश में हो रहे कोरोनावायरस संक्रमण के कारण इनकम टैक्स रिटर्न भरने की डेट भी बढ़ाई गई है, जिससे देश के नागरिको को परेशानी का सामना नहीं करना पड़े।

Leave a Comment