बिहार राज्य फसल सहायता योजना 2021: Fasal Sahayata, ऑनलाइन आवेदन

बिहार फसल सहायता योजना 2021 | Bihar Fasal Bima Yojana Online Apply | Bihar Fasal Sahayata Yojana Application Form | बिहार राज्य फसल सहायता योजना ऑनलाइन आवेदन

बिहार सरकार ने एक नई योजना का आरम्भ किया है जिसका नाम Mukhyamantri Fasal Sahayata Yojana 2021 है बिहार सरकार ने किसानो की फसलों के नुकसान के लिए इस योजना को शुरू किया है। जैसा की हम सब जानते है की बहुत बार ऐसा होता है किसान फसल लगाते हैं, लेकिन फसल कुछ कमियों के कारण खराब हो जाती है जिससे किसान का बहुत नुकसान होता है । इस बात को ध्यान देते हुए, बिहार सरकार ने Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana का आरम्भ किया है अगर किसानो की फसल खराब हो जाती है तो बिहार सरकार उन फसलों के नुकसान की भरपाई करेगी। इस योजना से बहुत किसानो की जिंदगी अच्छी हो जाएगी, कियोकि बहुत बार ऐसा हुआ है कि हमारे किसान फसल ख़राब होने के कारण बहुत परेशानी में पड़ जाते हैं और अब ऐसा नहीं होगा । सरकार द्वारा बिहार के किसानो के लिए इस योजना को शुरू किया गया है इस योजना के अंतगर्त 20% फसलों के नुकसान की स्थिति में प्रति हेक्टर ₹7500 रुपये की धनराशि आर्थिक सहायता के रूप में दी जाएगी।

Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana

बिहार सरकार ने इस योजना के द्वारा हमारे किसानों का  बहुत बड़ा बोझ उतारा है । कियोकि गरीब किसान को इस योजना के अंतगर्त कोई टेंशन नहीं रहेगी। किसानो की जिंदगी सही करने के लिए बिहार सरकार ने इस योजना को शुरू किया है। क्या आपको पता है इस योजना का कैसे रजिस्ट्रेशन करवाते हैं? तो हम आप को बताते है कि इसमें रजिस्ट्रेशन करवाना बहुत आसान है। इस योजना के अंतगर्त 20% फसलों के नुकसान की स्थिति में प्रति हेक्टर ₹7500 रुपये की धनराशि आर्थिक सहायता के रूप में दी जाएगी। हम आपको आपने इस लेख के द्वारा बतायेगे की आप Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana में रजिस्ट्रेशन कैसे करवाया जाता है?

राज्य फसल सहायता योजना

किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट 2021

बिहार राज्य फसल सहायता योजना के लिए आरंभ हुए निबंधन

Bihar Fasal Bima Yojana के तहत 2020-21 के लिए पंजीकरण शुरू हो गया है। 3 दिसंबर 2020 को, सहयोग विभाग ने पंजीकरण के लिए एक अधिसूचना जारी की है। इस योजना के तहत किसानों को किसी भी प्रकार के प्रीमियम का भुगतान करने की कोई आवश्यकता नहीं है। फसल का नुकसान सरकार द्वारा किया जाएगा। जो भी किसान इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं, उन्हें आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा। यह पंजीकरण गेहूं, मक्का, चना, मसूर, कबूतर, सरसों, ईख, प्याज और आलू की फसल के नुकसान की भरपाई के लिए किया जाएगा। सरकार द्वारा विभिन्न फसलों के लिए अलग-अलग तिथियां प्रदान की गई हैं। वे सभी किसान जो इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं, उन्हें अंतिम तिथि से पहले पंजीकरण कराना होगा।

Bihar Fasal Sahayta Yojana Highlights

योजना का नामबिहार फसल सहायता योजना
किसके द्वारा शुरू की गईबिहार सरकार द्वारा
विभागसहकारिता विभाग
योजना का उद्देश्यकिसानों की फसलों को प्राकृतिक आपदाओं से होने वाले नुकसान से बचाना
योजना का लाभफसलों को बचाने के लिए सहायता राशि प्रदान करना
सहायता राशि7500 से 10,000 रुपये तक
आवेदन की अंतिम तिथिकोई नहीं
आवेदन का प्रकारऑनलाइन आवेदन
अधिकारिक वेबसाइटयहां क्लिक करें

बिहार राज्य फसल सहायता योजना का उद्देश्य

हमारे देश के किसानों को  फसलों में जैसे ज्यादा बारिश के कारण या अधिक सूखा आदि पढ़ने  के कारण बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ता था बिहार सरकार ने इसी बात को ध्यान देते हुए Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana का आरम्भ किया है। बिहार के  किसानो की फसल में होने वाले  नुकसान की भरपाई इस योजना के अंतगर्त बिहार सरकार द्वारा दिया जायेगा  हमारे देश के किसानों को किसी भी परेशानी का सामना ना करना पड़े। बिहार सरकार ने इस योजना को इस उद्देश्य से निकाला है कि हमारे देश के किसानों को आत्मनिर्भर व सशक्त बनाया जाए और वह अपना जीवन अच्छे से यापन कर सकें

किन फसलों की भरपाई की जाएगी

  • राज्य के 38 जिलों में गेहूं और मक्का को पंचायत स्तर पर बनाया गया है। इसके अलावा, जिला स्तर पर चना, मसूर, कबूतर, सरसों, सरसों, ईख, प्याज और आलू को अधिसूचित किया गया है।
  • यदि चने की फसल का नुकसान होता है, तो राज्य के 17 जिलों को मुआवजा दिया जाएगा, अगर मसूर की फसल पर नुकसान हुआ है, तो 35 जिलों को मुआवजा दिया जाएगा|

बिहार किसान रजिस्ट्रेशन 2021

  • अगर अरहर की फसल का नुकसान होता है, तो 22 जिलों को मुआवजा दिया जाएगा, अगर ईख की फसल को नुकसान हुआ है, तो 16 जिलों को मुआवजा दिया जाएगा, राज्य के सभी जिलों को सरसों और सरसों की फसल के लिए मुआवजा दिया जाएगा। यदि यह फसल नुकसान होता है, तो 14 जिलों को चुकाया जाएगा और अगर आलू की फसल पर कोई नुकसान होता है, तो 15 जिलों को मुआवजा दिया जाएगा।
  • बिहार राज्य फसल सहायता योजना के तहत, यदि नुकसान 20% से कम है तो प्रतिपूर्ति दर 7500 प्रति हेक्टेयर है। प्रत्येक किसान अधिकतम 2 हेक्टेयर में इस योजना का लाभ उठा सकता है। यदि नुकसान 20% से अधिक है, तो। प्रति हेक्टेयर 10000 का मुआवजा दिया जाता है।

इन फसलों की जाएगी भरपाई

  • राज्य के 38 जिलों में पंचायत स्तर पर गेहूं और मक्का बनाया गया है। इसके अलावा, जिला स्तर पर चना, मसूर, कबूतर, सरसों, सरसों, ईख, प्याज और आलू को अधिसूचित किया गया है।
  • अगर चने की फसल का नुकसान होता है, तो राज्य के 17 जिलों को मुआवजा दिया जाएगा, अगर मसूर की फसल पर नुकसान हुआ है, तो 35 जिलों को मुआवजा दिया जाएगा,
  • अगर कबूतर की फसल का नुकसान होता है, तो 22 जिलों को मुआवजा दिया जाएगा, अगर ईख की फसल को नुकसान हुआ, तो 16 जिलों को मुआवजा दिया जाएगा, राज्य के सभी जिलों को सरसों और सरसों की फसल के लिए मुआवजा दिया जाएगा। यदि यह फसल नुकसान होता है, तो 14 जिलों को चुकाया जाएगा और अगर आलू की फसल पर कोई नुकसान होता है, तो 15 जिलों को मुआवजा दिया जाएगा।
  • बिहार राज्य फसल सहायता योजना के तहत, यदि नुकसान 20% से कम है तो प्रतिपूर्ति दर 7500 प्रति हेक्टेयर है। प्रत्येक किसान अधिकतम 2 हेक्टेयर के लिए इस योजना का लाभ उठा सकता है। यदि नुकसान 20% से अधिक है, तो मुआवजा प्रति हेक्टेयर than 10000 की दर से दिया जाता है।

फसल निबंधन अंतिम तिथि

फसल का नामनिबंधन की अंतिम तिथि
गेहूं26 फरवरी 2021
मक्का26 फरवरी 2021
चना31 जनवरी 2021
मसूर15 फरवरी 2021
अरहर28 मार्च 2021
ईख28 फरवरी 2021
प्याज़15 फरवरी 2021
आलू31 जनवरी 2021
राई – सरसो31 दिसंबर 2020

प्रधान मंत्री की अन्य सरकारी योजनाएँ :-

फसल सहायता योजना के अंतर्गत कुल आवेदन

  • 810070 ( खरीफ- 19), 1150527 ( खरीफ- 18)
  • अधिप्राप्ति के लिए 7479
  • रबी 2018-19 के आवेदन 1754350

रैयत कृषक के लिए

  • भू स्वामित्व प्रमाण पत्र
  • स्वघोषणा  प्रमाण पत्र

बिहार फासल सहायता योजना के लाभ

  • राज्य के किसानों की फसलों के नुकसान की दिशा में प्रति हेक्टेयर की दर से R10000 की राशि प्रदान की जाएगी।
  • यह राशि किसानों के बैंक खातों में आएगी।
  • योजना बाढ़, धर्मी और बेमौसम बारिश से नुकसान को भी कवर करेगी।
  • यह बिहार राज्य फसल सहायता योजना के खिलाफ आवेदन लेने के लिए है।

Fasal Sahayata Yojana Mukhyamantri आवेदन के लिए जरुरी दस्तावेज

राज्य फसल सहायता योजना 2021 में आवेदन लेने के लिए आपके पास ये दस्तावेज़ होने चाहिए।

  • आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • बैंक खाता आधार कार्ड से जुड़ा हुआ है।
  • बैंक की किताब
  • खेती के कागजात
  • कोड आकार फोटो।
  • मोबाइल नंबर

बिहार राज्य फसल सहायता योजना 2021 के लिए आवेदन कैसे करे?

इच्छुक लाभार्थी जो इस योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं, लाभार्थी निम्नलिखित तरीकों से आवेदन कर सकते हैं और योजना का लाभ उठा सकते हैं।

Bihar Fasal Yojana min
  • आपको एक पंजीकरण विकल्प दिखाई देगा, जिस पर क्लिक करना होगा। ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा।
Bihar Fasal Bima Yojana
  • आपको आधार का विकल्प दिखाई देगा। अगर आपके पास आधार है, तो Yes ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • आधार कार्ड Yes ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद अगला पेज खुलेगा, उस पेज पर आपसे आधार नंबर मांगा जाएगा।
  • फिर अपना आधार नंबर भरें और अपना नाम भरें। इस तरह आपको योजना के तहत आवेदन किया जाएगा।

 Bihar Fasal Bima Yojana App डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले, आपको बिहार राज्य फसल सहायता योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा। अब आपके सामने Homepage खुलेगा।
  • होमपेज पर आपको पात्र ग्राम पंचायतों की सूची के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा, जिसमें आपको  बिहार राज्य फसल सहायता निरीक्षण रबी लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने Google Play Store खुल जाएगा, जिसमें आपको यह ऐप मिलेगा।
  • आपको इंस्टॉल बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप बिहार राज्य फसल सहायता निरीक्षण ऐप रबी डाउनलोड कर पाएंगे।

Helpline Number

Leave a Comment