हरियाणा फसल विविधीकरण योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म

Haryana Crop Diversification Scheme Apply | हरियाणा फसल विविधीकरण योजना रजिस्ट्रेशन फॉर्म | हरियाणा फसल विविधीकरण योजना 2021-22 | Haryana Crop Diversification in Hindi

हरियाणा सरकार ने राज्य में गिरते भूजल स्तर के बचाव के लिए हरियाणा फसल विविधीकरण योजना 2022 का शुभारंभ किया है। हरियाणा फसल विविधीकरण योजना 2022 की शुरुआत हरियाणा राज्य सरकार के द्वारा मेरा पानी निवास योजना के तहत लागू की गई है। राज्य सरकार ने वर्ष 2020 में इस योजना को शुरू किया था जिसके प्रदेश में लगभग 1 लाख एकड़ जमीन पर धान की फसल की जगह वैकल्पिक फसलों की बुवाई कर विविधीकरण किया गया था। हरियाणा सरकार ने वर्ष 2021 में Haryana Crop Diversification Scheme के अंतर्गत 2 लाख एकड़ भूमि में विविध प्रकार की फसलों की बुवाई का लक्ष्य निर्धारित किया है। आज हम यहां आपको अपने इस लेख में Haryana Crop Diversification Scheme के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। तो यदि आप भी हरियाणा राज्य में किसानी से संबंध रखते हैं तो आपको एक बार Haryana Crop Diversification Scheme 2022 से जुड़ी नीचे दी गई जानकारी अवश्य देख लेनी चाहिए। [यह भी पढ़ें- हरियाणा कृषि यंत्र अनुदान योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म, बेनेफिशरी सूची]

हरियाणा फसल विविधीकरण योजना 2022

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी ने वर्ष 2020 में राज्य में गिरते जलस्तर को देखते हुए Haryana Crop Diversification Scheme लागू की थी। राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई इस योजना के तहत हरियाणा राज्य में किसानों को धान के स्थान पर वैकल्पिक फसलों की खेती जैसे कपास, मक्का, दलहन, मूंगफली, गवार, अरंडी, सब्जियां एवं फलों की बिजाई करने के लिए प्रति एकड़ ₹7000 की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी। हरियाणा फसल विविधीकरण योजना 2022 के तहत यह प्रोत्साहन की राशि खोल दो किस्तों में प्रदान की जाएगी पूर्वी इतना ही नहीं राज्य सरकार इन सभी वैकल्पिक फसलों को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर किसानों से खरीद भी लेगी। सरकार ने इन सभी वैकल्पिक फसलों का बीमा भी करवाने का निर्णय लिया है जिसके प्रीमियम की अदायगी प्रोत्साहन राशि के माध्यम से की जाएगी। [यह भी पढ़ें- हरियाणा मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना 2021 | ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म]

हरियाणा फसल विविधीकरण योजना

पीएम मोदी योजना

Highlights of Haryana Crop Diversification Scheme

नामहरियाणा फसल विविधीकरण योजना
आरम्भ की गईमुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा
वर्ष2020
लाभार्थीहरियाणा के किसान
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन
उद्देश्यबहुमूल्य जल, प्रकृति व मिट्टी का संरक्षण
लाभफसलों का विविधीकरण एवं जल संरक्षण
श्रेणीराज्य सरकार की योजना
आधिकारिक वेबसाइटhttp://117.240.196.237/Default.aspx

Haryana Crop Diversification Scheme अंतिम तिथि

हरियाणा सरकार ने…… के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए किसानों को मेरा पानी मेरी विरासत योजना के तहत पंजीकरण करवाने के लिए कहा है। योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए किसानों को 25 जून तक अपनी पंजीकरण प्रक्रिया को पूरा कर लेना होगा। यदि कोई किसान अंतिम तिथि अर्थात 25 जून तक अपना पंजीकरण नहीं करवाता है तो ऐसे में उसे विविधीकरण योजना के तहत लगाए जाने वाले विभिन्न प्रकार की फसलों के लिए सरकार द्वारा प्रोत्साहन राशि प्रदान नहीं की जाएगी। [यह भी पढ़ें- Haryana eKarma: ई-कर्मा योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन at ekarmaindia.com]

हरियाणा फसल विविधीकरण योजना 2022 का उद्देश्य

हरियाणा सरकार ने पानी की कमी की समस्या को दूर करने के लिए कृषि एवं कल्याण विभाग के साथ मिलकर बहुत से नए कदम उठाए हैं। यही कारण है कि राज्य के कल्याण के तू हरियाणा सरकार बहुत ही योजनाओं के माध्यम से नागरिकों के बेहतर स्वास्थ्य के लिए जमीनी स्तर पर तेजी से कार्य कर रही है। इसी कार्य में एक बहुत बड़ा कदम Haryana Crop Diversification Scheme भी है। इस योजना के तहत किसानों को धान एवं गेहूं के फसल चक्र से निकालकर उसकी जगह पर अधिक लाभ देने वाली फसलों का विकल्प प्रदान किया जाएगा। वे सभी किसान जो हरियाणा फसल विविधीकरण योजना के तहत कम पानी की मांग के साथ अधिक मुनाफा देने वाले फसलों की बुवाई करेंगे उन्हें सरकार के द्वारा प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी ताकि अधिक से अधिक किसान इस योजना से जुड़ सकें और जल का अति दोहन कम हो सके। इस योजना को शुरू करने के पीछे राज्य सरकार का उद्देश्य हरियाणा राज्य में गिरते जलस्तर में कमी लाकर वृद्धि करने का प्रयास करना है। [यह भी पढ़ें- पशु किसान क्रेडिट कार्ड योजना क्या है | ऑनलाइन आवेदन, लाभ, पात्रता एवं आवेदन फॉर्म]

हरियाणा फसल विविधीकरण योजना 2022 के लाभ

  • हरियाणा फसल विविधीकरण योजना के तहत हरियाणा राज्य में अन्य फसलों के उत्पादन को भी बढ़ोतरी मिलेगी।
  • राज्य के किसान Haryana Crop Diversification Scheme के अंतर्गत कम खर्च पर अधिक आय प्राप्त कर सकेंगे।
  • फसलों के विविधीकरण से राज्य में जल संकट की समस्या का समाधान भी हो सकेगा।
  • विभिन्न प्रकार की फसलें लगाने से मिट्टी की उर्वरता शक्ति में विकास होगा तथा इसके साथ ही है राज्य के भूजल स्तर में भी सुधार लाएगी।
  • हरियाणा सरकार प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत वैकल्पिक फसलों जैसे मक्का, कपास व बाजरा आदि का मुफ्त बीमा प्रदान करेगी।
  • राज्य सरकार द्वारा Haryana Crop Diversification Scheme के तहत धान की खेती को छोड़कर वैकल्पिक खेती करने वाले किसानों को ₹7000 प्रति एकड़ की राशि प्रोत्साहन के रूप में प्रदान की जाएगी।
  • हरियाणा सरकार Haryana Crop Diversification Scheme के अंतर्गत लगाई गई वैकल्पिक फसलों को किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदेगी।
  • Haryana Crop Diversification Scheme 2022 के तहत सरकार द्वारा किसानों को कृषि यंत्रों की खरीदारी पर अनुदान राशि भी प्रदान की जाएगी।
  • धान की खेती की जगह बागवानी करने वाले किसानों को ₹7000 के अलावा अतिरिक्त प्रोत्साहन राशि भी प्रदान की जाएगी।

हरियाणा सक्षम योजना 2021

हरियाणा फसल विविधीकरण योजना पात्रता मानदंड

  • हरियाणा फसल विविधीकरण योजना 2022 के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए किसानों को अपने पिछले वर्ष की खेती वाले धान के कम से कम 50% हिस्से में विविध फसलें लगानी होगी।
  • केवल हरियाणा राज्य का स्थाई निवासी ही Haryana Crop Diversification Scheme के तहत आवेदन कर लाभ प्राप्त कर सकते है।
  • 50 HP इलेक्ट्रॉनिक मोटर के साथ अपने ट्यूबवेल का संचालन कर रहे किसानों को Haryana Crop Diversification Scheme के तहत धान लगाने की अनुमति प्रदान नहीं की जाएगी।
  • लाभ की राशि प्राप्त करने के लिए किसानों के पास अपना आधार नंबर एवं उस आधार नंबर से लिंकड  सक्रिय बैंक खाता अकाउंट होना चाहिए।

आवश्यक दस्तावेज

हरियाणा राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई इस हरियाणा फसल विविधीकरण योजना 2022 का लाभ लेने के लिए आपको निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता होगी।

  • हरियाणा का स्थायी निवास प्रमाण पत्र
  • आवेदक का आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • बैंक खाते की पासबुक
  • वैध मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट आकार में आवेदक का फोटो
  • कृषि योग्य भूमि के दस्तावेज

हरियाणा फसल विविधीकरण योजना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

हरियाणा राज्य के जो भी किसान हरियाणा फसल विविधीकरण योजना के तहत विभिन्न प्रकार की फसलें लगाकर लाभ प्राप्त करना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों के माध्यम से ऑनलाइन पोर्टल पर अपना पंजीकरण करवाना होगा।

  • सबसे पहले आपको कृषि एवं किसान कल्याण विभाग हरियाणा के अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
हरियाणा फसल विविधीकरण योजना
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको फसल विविधीकरण के लिए पंजीकरण करेंगे विकल्प पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा|
  • इस पेज पर आपको एक रजिस्ट्रेशन फॉर्म दिखाई देगा। इस फॉर्म में अपना आधार नंबर एवं अन्य विवरण भरें इसके बाद फॉर्म के अगले भाग में किसान की सभी जानकारी भरें।
  • अब फॉर्म के अगले भाग में चाहिए उपलब्ध भूमि की जानकारी का विवरण भरे। आप भूमि के विवरण के बाद फसल के विवरण की जानकारी दें और इस फॉर्म को सबमिट कर दे।
  • फॉर्म को सबमिट करते  ही आपके Haryana Crop Diversification Scheme Registration की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

Leave a Comment