(रजिस्ट्रेशन) राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन स्टेटस

Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana 2021 Apply Online, मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना एप्लीकेशन फॉर्म, Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana Registration Form, Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana 2021

राजस्थान बजट 2021-22 पेश करते हुए, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक नई Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana 2021 कि शुरुआत करने की घोषणा की है। यह घोषणा 24 फरवरी, 2021 को राज्य विधानसभा में मुख्यमंत्री द्वारा की गई है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य यह है लाभार्थी किसानों को आकस्मिक मृत्यु / आंशिक / स्थायी विकलांगता पर सहायता प्रदान करना है। तो दोस्तों आप सभी इस योजना के तहत आवेदन करना चाहते है तो हमारे इस आर्टिकल को ध्यान से अंत तक पढ़े क्योकि आज हम इस लेख के माध्यम से मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना से जुड़ी सभी जानकारी देंगे जैसे इस योजना का उदेश्ये क्या है, इसके लाभ तथा अन्य जानकारी |

मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी  ने बुधवार को राजस्थान विधानसभा में तीसरा बजट पेश किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि भारत की आत्मा किसानों में बसती है और उन्होंने कृषि बजट को अगले साल से अलग पेश करने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि covid के लिए एक विशेष पैकेज की घोषणा की गई है। बजट भाषण की शुरुआत में, सीएम गहलोत ने कोरोना युग की चुनौतियों का उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि कोरोना कम हो गया है लेकिन अभी तक समाप्त नहीं हुआ है।

कृषक साथी योजना

जन सूचना पोर्टल 2021

Overviews of Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana

नाममुख्यमंत्री कृषक योजना
आरम्भ किसके द्वारा की गयीमुख्यमंत्री अशोक गहलोत
साल2021
उदेश्येदुर्घटना के कारण मृत्यु या विकलांगता के मामले में पंजीकृत किसान के पति / पत्नी की सहायता करना
योजनाRajasthan State Government Scheme
Official website 

ग्रामीण बस सेवा फिर से होगी शुरू

मुख्यमंत्री ने बताया कि सड़कों पर निर्माण कार्य किया जाएगा, जिसके लिए 1,425 करोड़ रुपये का अतिरिक्त व्यय किया जाएगा। जयपुर में 700 करोड़ रुपये की लागत से विकास कार्य होंगे। ग्रामीण बस सेवा को पिछली सरकार ने बंद कर दिया था और इसे फिर से शुरू किया जाएगा।

राजस्थान मुख्मंत्री कृषक साथी योजना का उद्देश्य

योजना का मुख्य उद्देश्य पंजीकृत किसान के वारिस, पंजीकृत किसान के सभी बच्चों (पुत्र / पुत्री) और दुर्घटना के कारण मृत्यु या विकलांगता के मामले में पंजीकृत किसान के पति / पत्नी की सहायता करना है।

प्रधान मंत्री की अन्य सरकारी योजनाएँ :-

कृषक साथी योजना की मुख्य शर्तें

  • मृतक या स्थायी विकलांगता वाला व्यक्ति एक पंजीकृत किसान (व्यक्तिगत या संयुक्त नाम भूमि) या पंजीकृत किसान (पुत्र या पुत्री) या पति या पत्नी का बच्चा होना चाहिए।
  • दुर्घटना के कारण मृत्यु या स्थायी विकलांगता।
  • योजना में आत्महत्या या प्राकृतिक मौत शामिल नहीं है।
  • 5 या 70 वर्ष की आयु के बीच एक मृत या स्थायी विकलांगता वाले व्यक्ति।
  • आवेदन 6 महीने के भीतर संबंधित जिला कृषि अधिकारी कार्यालय में किया जाना चाहिए।

अशोक गहलोत जी ने बजट में की ये बड़ी घोषणाएं

  • 20 लाख से ज्यादा किसानों के 8000 करोड़ से ज्यादा के ऋण माफ किए और कुल मिलाकर 14000 करोड़ से ज्यादा के ऋण माफ हुए. वन टाइम सेटलमेंट से किसानों के कमर्शियल कर्ज माफ करवाए जाएंगे.
  • किसानों को 16000 करोड़ के ब्याज मुक्त फसली ऋण दिए जाएंगे और इसमें मत्स्य पालकों और पशुपालकों को भी इसमें शामिल किया जाएगा.
  • मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना के कार्यान्वयन की घोषणा की है और विभिन्न कार्यों पर लगभग 2000 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।
  • अगले 3 वर्षों में, लगभग चार लाख 30 हजार क्षेत्र को सूक्ष्म सिंचाई क्षेत्र के तहत लाया जाएगा और स्वचालन को भी प्रोत्साहित किया जाएगा। इसके लिए लगभग 732 करोड़ रुपये का प्रावधान है।
  • 50000 किसानों को बिजली कनेक्शन देने की घोषणा और कृषि उपज मंडियों में 1000 करोड़ के काम।
  • बजट भाषण में, 50 हजार किसानों को सौर पंप प्रदान करने और कृषि मंडियों का आधुनिकीकरण करने की भी घोषणा की। यही नहीं, जोधपुर में किसान कॉम्प्लेक्स बनाने की भी घोषणा की गई है।
  • विभिन्न जिलों में मेगा फूड पार्क बनाए जाएंगे और 200 करोड़ की लागत से 1000 किसान सेवा केंद्र बनाए जाएंगे।
  • कृषि पर्यवेक्षकों के 1000 नए पद सृजित किए जाएंगे और एक नई कृषि बिजली वितरण कंपनी की घोषणा की जाएगी।
  • 2 महीने में कृषि उपभोक्ताओं को बिल भेजे जाएंगे और 50,000 किसानों को सोलर पंप दिए जाएंगे।
  • मनरेगा, सहरिया जनजाति और विशेष रूप से योग्य श्रमिकों को 100 के बजाय 200 दिनों का रोजगार मिलेगा। कमजोर वर्गों को वित्तीय सहायता की घोषणा की गई थी।

मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना के लाभार्थी

आकस्मिक मृत्यु या स्थायी विकलांगता के मामले में, सभी पंजीकृत किसान, किसान का कोई भी बच्चा (पुत्र / पुत्री) और 5 से 70 वर्ष की आयु के बीच के किसान के पति / पत्नी मुख्यमंत्री कृषक योजना के लाभार्थी हैं।

मुख्मंत्री कृषक योजना में आवेदन के लिए दस्तावेज़

  • निर्धारित प्रपत्र में आवेदन
  • F.I.R & स्पॉट पंचनामा पुलिस पूछताछ रिपोर्ट
  • पोस्टमार्टम रिपोर्ट या मृत्यु प्रमाण पत्र (मृत्यु के मामले में)
  • आयु प्रमाण
  • सब डिविजनल मजिस्ट्रेट की केस स्वीकृति रिपोर्ट।
  • स्थायी विकलांगता के मामले में मेडिकल बोर्ड / सिविल सर्जन का विकलांगता प्रमाण पत्र और विकलांगता की तस्वीर।
  • क्षतिपूर्ति बांड
  • हेरिडिटरी रिपोर्ट
  • बीमा निदेशक द्वारा पूछा गया कोई अन्य प्रमाण

CM Krishak Sathi Yojana में आवेदन कैसे करे

जो इच्छुक लाभार्थी आवेदन करना चाहते है, उन सभी को राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक सुरक्षा योजना आवेदन पत्र भरना होगा। Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म राज्य सरकार की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से भी ऑनलाइन किया जा सकता है। लेकिन अभी सरकार द्वारा रजिस्ट्रेशन फॉर्म नहीं निकला गया है जैसे ही  कृषक सुरक्षा योजना ऑनलाइन फॉर्म को लागू करती हैहम अपने इस आर्टिकल के माध्यम से आप सभी को सूचित क्र देंगे |

Leave a Comment