मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना 2024: ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म, पात्रता व लाभ

Mukhyamantri Vriksh Sampada Yojana Application Form, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन | मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना आवेदन कैसे करें, पात्रता एवं लाभ जाने – छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा रोजगार के अवसर को बढ़ावा देने, किसानों की आय में वृद्धि करने और जंगलों पर दबाव कम करने हेतु 17 दिसंबर को गौरव दिवस के मोके पर Mukhyamantri Vriksh Sampada Yojana को आरंभ करने की घोषणा की गई है। इस योजना के माध्यम से राज्य में पेड़ों के व्यवसायिक उपयोग को बढ़ावा दिया जाएगा, इसके साथ ही इस योजना के माध्यम से काष्ठ आधारित उद्योगों को निजी भूमि पर वृक्षारोपण को प्रोत्साहन देकर बढ़ावा दिया जाएगा। राज्य के मुख्यमंत्री जी के अनुसार राज्य में पेड़ पौधों को लगाना समृद्ध बनाने हेतु अत्यंत जरूरी है। आज के इस आर्टिकल में हम आपको मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना 2024 से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने जा रहे है, जैसे- इस योजना को सरकार द्वारा किस उद्देश्य से आरंभ किया गया है, तथा इसके लाभ, पात्रता, जरूरी दस्तावेज क्या है आदि। (यह भी पढ़ें- cgteeka.cgstate.gov.in | CG Teeka Covid 19 Booster Dose Vaccination Registration)

Mukhyamantri Vriksh Sampada Yojana 2024

छत्तीसगढ़ राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा 17 दिसंबर को Mukhyamantri Vriksh Sampada Yojana 2024 को आरंभ करने की घोषणा की गई है, इस योजना का आरंभ करने की घोषणा छत्तीसगढ़ सरकार के 4 साल पूर्ण होने की ख़ुशी में छत्तीसगढ़ गौरव दिवस के अवसर पर की गई है। इस योजना के माध्यम से 5 साल के भीतर 2 लाख एकड़ निजी भूमि पर राज्य सरकार द्वारा इमारती व औषधीय वृक्ष को तैयार करने की योजना बनाई गई है। इसके अतिरिक्त किसानो को 50% सब्सिडी इस योजना के माध्यम से निजी भूमि पर पौधों के रोपण हेतु प्रदान की जाएगी, इसके साथ ही प्रति एकड़ 10 हजार रुपए का बोनस 3 सालो तक प्रदान किया जाएगा। राज्य में मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना के आरंभ होने से राज्य के सभी किसानो की आय में वृद्धि होगी तथा राज्य में बढ़ती बेरोजगारी की दर में भी कमी आएगी। इसके साथ ही राज्य किसानों के पेड़ों की लकड़ी, छाल आदि बिकवाने की जिम्मेदारी भी राज्य सरकार की होगी। (यह भी पढ़ें- मुख्यमंत्री गोवंश मोबाइल चिकित्सा योजना को मिली मजूरी, पशुओं को दी जाएगी चिकित्सा सुविधा)

Mukhyamantri Vriksh Sampada Yojana

Narendra Modi Schemes List

Overview of Mukhyamantri Vriksh Sampada Yojana

योजना का नाममुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना
आरम्भ की गईमुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा
वर्ष2024
लाभार्थीराज्य के नागरिक
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन 
उद्देश्यनिजी भूमि पर पौधारोपण को बढ़ावा देना 
लाभआय व रोजगार के अवसर को बढ़ाया जाएगा
श्रेणीछत्तीसगढ़ सरकारी योजनाएं  
आधिकारिक वेबसाइटhttp://www.cgforest.com/

मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना 2024 का उद्देश्य 

छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना 2024 का मुख्य उद्देश्य निजी भूमि पर पौधारोपण को प्रोत्साहित करके आधारित उद्योगों को बढ़ाना है। इसके अतिरिक्त इस योजना के माध्यम से जंगलों पर दबाव कम होगा, किसानों की आय में वृद्धि होगी तथा रोजगार के अवसर में भी बढ़ोत्तरी हो सकेगी। राज्य सरकार द्वारा इस योजना के तहत 50% सब्सिडी किसानों को वृक्षारोपण हेतु प्रदान की जाएगी। इसके तहत राज्य सरकार द्वारा वन विभाग किसानों द्वारा तैयार की गई पेड़ों की लकड़ी और छाल बिकवाने व निर्यात हेतु देश-विदेश की कंपनियों के साथ मिलकर किसानों से एमओयू किया जाएगा। इस कार्य से छत्तीसगढ़ राज्य में वृक्षारोपण को प्रोत्साहन प्राप्त होगा तथा राज्य में हरियाली से पर्यावरण भी सुरक्षित रूप से रहेगा। (यह भी पढ़ें- |रजिस्ट्रेशन| छत्तीसगढ़ पेंशन योजना | CG Pension ऑनलाइन आवेदन फॉर्म)

100 करोड़ के बजट का किया जाएगा प्रावधान

राज्य सरकार द्वारा राज्य के नागरिको को टिश्यू कल्चर पद्धति के आधार पर सागौन, शीशम, बांस, ग्राफ्टेड, आंवला, चंदन जैसी इमरती व महंगी लकड़ियों वाले पेड़ों के पौधे लगाने हेतु Mukhyamantri Vriksh Sampada Yojana 2024 के माध्यम से प्रोत्साहित किया जाएगा। हाल ही में राज्य सरकार द्वारा इस योजना के भली भांति संचालन हेतु 100 करोड़ रुपए के बजट का प्रावधान किया गया है। इसके अतिरिक्त सरकार द्वारा किसानों को पौधों के रोपण हेतु 50% सब्सिडी प्रदान की जाएगी, साथ ही प्रति एकड़ 10,000 रूपए बोनस सरकार द्वारा 3 वर्ष तक प्रदान किया जाएगा। इसके अंतर्गत यदि किसी किसान द्वारा एक लाख रुपए खर्च करके अपनी एक एकड़ भूमि पर पौधे लगाएं जाते है तो इस स्थिति में सरकार द्वारा 1 लाख रुपए किसान को सब्सिडी के रूप में प्रदान किए जाएंगे। (यह भी पढ़ें- छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना : ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, एप्लीकेशन फॉर्म)

प्राकृतिक पेड़ों को काटने हेतु इजाज़त की जरूरत नहीं होगी

किसानों की निजी भूमि पर कृषि के रूप में रोपित और प्राकृतिक रूप से उगे पेड़ों की कटाई के नियमों का विश्लेषण शासन द्वारा Chhattisgarh Mukhyamantri Vriksh Sampada Yojana के अंतर्गत कर दिया गया है। इस विश्लेषण के अनुसार अब राज्य के सभी किसान अपनी भूमी पर मौजूद कृषि के रूप में रोपित पेड़ों की कटाई को स्वंय ही करा सकते है, इस कार्य के लिए किसानो को किसी भी प्रकार की अनुमति प्राप्त करने की आवश्यकता नहीं होगी। इसके अंतर्गत किसानो द्वारा केवल अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को पेड़ काटने की जानकारी प्रदान करनी होगी, वन विभाग द्वारा भी किसान नागरिक पेड़ो को कटवा सकते है। मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना 2024 के तहत अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को निर्धारित प्रक्रिया के अंतर्गत आवेदन प्राप्ति के 45 दिन के भीतर इजाज़त प्रदान करनी होगी। (यह भी पढ़ें- (पंजीकरण) छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना: ऑनलाइन आवेदन (CG Godhan Nyay)

इमारती लकड़ी का किया जाएगा आयात

वर्तमान समय में भारत में हर साल 60,000 करोड़ रुपए की इमारती लकड़ी का आयात विदेश से किया जाता है, इस बात की जानकारी वन विभाग के अधिकारियों द्वारा प्रदान की गई है, इसका लगभग 10% हिस्सा छत्तीसगढ़ राज्य में आता है। इसके अतिरिक्त सरकार द्वारा काष्ठ आधारित उद्योगों की स्थापना पर भी कार्य को आरंभ किया गया है इसी बात को ध्यान में रखते हुए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी के द्वारा Mukhyamantri Vriksh Sampada Yojana को आरंभ करने की घोषणा की गई है। इस योजना का आरंभ पेड़ों के व्यवसायिक उपयोग को बढ़ावा देने की अपार संभावनाओं को देखते हुए 17 दिसंबर गौरव दिवस के अवसर पर किया गया है। (यह भी पढ़ें- (Rs. 5000) CG Kaushalya Maternity Scheme: कौशल्या मातृत्व योजना, Apply Online)

मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना के लाभ और विशेषताएं

  • राज्य सरकार द्वारा Mukhyamantri Vriksh Sampada Yojana का आरंभ अपने राज्य के नागरिको को अपनी निजी भूमि पर व्यवसायिक वृक्षारोपण करने हेतु प्रोत्साहित करने के लिए किया गया है। 
  • इस योजना के माध्यम से राज्य सरकार द्वारा लकड़ी का उपयोग करने करने हेतु राज्य के नागरिको को प्रोत्साहित किया जाएगा, जिससे राज्य के किसानो की इस कार्य से ही अच्छी कमाई हो सकेगी। 
  • लकड़ी से संबंधित उद्योगों को भी इस योजना के माध्यम से छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा बढ़ावा दिया जाएगा। इसके अलावा निजी भूमि पर पौधों के रोपण हेतु सरकार द्वारा किसानों को 50% सब्सिडी इस योजना के तहत प्रदान की जाएगी। 
  • प्रति एकड़ 10,000 रुपए की धनराशि छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा किसानों को 3 वर्ष तक इस योजना के माध्यम से बोनस के रूप में दी जाएगी। 
  • हाल ही में राज्य सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना 2024 के भली भांति संचालन हेतु 100 करोड़ रुपए के बजट का प्रावधान किया गया है। 
  • इसके अतिरिक्त 5 साल के भीतर 2 लाख एकड़ निजी भूमि पर इमारती व औषधीय वृक्ष तैयार करने का लक्ष्य राज्य सरकार द्वारा इस योजना के तहत निर्धारित किया गया है। 
  • राज्य के सभी किसान अब अपनी भूमी पर मौजूद कृषि के रूप में रोपित पेड़ों की कटाई को स्वंय ही करा सकेंगे, इसके लिए उन्हें किसी की भी इजाज़त प्राप्त करने की आवश्यकता नहीं होगी। 
  • छत्तीसगढ़ राज्य में इस योजना के माध्यम से रोजगार के अवसरों में बढ़ोत्तरी हो सकेगी, इसके अतिरिक्त किसानों की आमदनी में भी इस योजना के माध्यम से वृद्धि होगी। 
  • सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत तैयार होने वाले पेड़ो की लकड़ी, छाल आदि बिकवाने की जिम्मेदारी ली जाएगी। 
  • मुख्यमंत्री जी के द्वारा आरंभ इस योजना के माध्यम से पेड़ पौधे, हरियाली में समृद्धि होने के साथ साथ राज्य के निवासियों की आय में वृद्धि भी होंगी।  

Mukhyamantri Vriksh Sampada Yojana 2024 की पात्रता 

  • इस योजना का लाभ प्राप्त करने के इच्छुक नागरिको को छत्तीसगढ़ राज्य का मूल निवासी होना अनिवार्य है। 
  • सभी वर्ग के नागरिको द्वारा इस योजना का लाभ प्राप्त किया जा सकता है। 
  • इस योजना के तहत आवेदन करने वाले आवेदक की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए। 

आवश्यक दस्तावेज

  • आय प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता विवरण
  • आधार कार्ड
  • स्थाई प्रमाण पत्र
  • जमीनी दस्तावेज
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया 

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री जी के द्वारा मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना 2024 का आरंभ राज्य के नागरिको को सुविधा प्रदान करने हेतु आरंभ किया गया है, इस योजना के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया इस प्रकार है:- 

  • सबसे पहले आपको अपने नजदीकी वन विभाग के कार्यालय में जाना होगा, वहां जाकर आपको संबंधित अधिकारी से आवेदन पत्र प्राप्त करना होगा।
  • अब आपको आवेदन पत्र में पूछी गई सभी आवश्यक जानकारी दर्ज करनी होगी, इसके साथ ही फॉर्म में पूछे गए सभी दस्तावेजों को साथ में संलग्न करना होगा।
  • इसके बाद आपको यह आवेदन पत्र वापस वन विभाग के अधिकारी के पास जमा करना होगा। इस प्रक्रिया को अपनाकर आप योजना के तहत आवेदन कर सकते हैं।

Leave a Comment