पीएम मित्र योजना | PM Mitra Scheme लाभ, विशेषता, घटक व कार्यान्वयन प्रक्रिया

PM मित्र योजना के लाभ | PM Mitra Scheme Apply Online | पीएम Mitra योजना कार्यान्वयन | पीएम मित्र योजना के लाभ

कैबिनेट कमेटी ने पीएम मित्र योजना को मंजूरी दे दी है, जिसके तहत 7 मेगा टेक्सटाइल पार्क की स्थापना की जाएगी। केंद्र सरकार ने PM Mitra Scheme के तहत अगले 5 वर्षों के लिए 4445 करोड़ रुपए आवंटित किए हैं। पीएम Mitra योजना को शुरू करने के पीछे सरकार का उद्देश्य देशभर में समग्र एकीकृत कपड़ा प्रसंस्करण क्षेत्र की स्थापना करना है। जो कि कपड़ा उत्पादों की वर्तमान बिक्री हुई मूल्य श्रंखला को एकत्रित करने का कार्य करेगा। आज हम यहां आपको अपने इस लेख में PM मित्र योजना के बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। इसलिए यदि आप भी इस योजना के बारे में विस्तार पूर्वक जानना चाहते हैं तो हमारे इस लेख को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़ें। [यह भी पढ़ें- शौचालय सूची 2021- Gramin Sochalay New List | अपना नाम ऑनलाइन देखें]

पीएम मित्र योजना 2021

6 अक्टूबर 2021 को कैबिनेट द्वारा पीएम मित्र योजना के अंतर्गत साथ नई मेगा टेक्सटाइल पार्कों को मंजूरी प्रदान कर दी गई है। इस नई योजना को शुरू करने के पीछे केंद्र सरकार का उद्देश्य प्लग एंड प्ले सुविधाओं के साथ विश्वस्तरीय बुनियादी ढांचे का निर्माण करना है जिससे निर्यात में बड़े निवेश को सक्षम बनाया जा सके। यह पार्क सरकार के फॉर्म 252 फैक्ट्री टो फैशन टो फॉरेन उसी का एक हिस्सा है। प्रत्येक पार्क 1 लाख प्रत्यक्ष और दो लाख अप्रत्यक्ष रोजगार पैदा करने की क्षमता रखता है। कपड़ा उद्योग को विश्व स्तर पर प्रतिस्पर्धी बनाने एवं रोजगार सृजन और निर्यात को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने पहली बार फरवरी के माह में मेगा इन्वेस्टमेंट टैक्सटाइल पार्क का प्रस्ताव एक बार फिर से दिया था। यह पार्क विभिन्न इच्छुक राज्यों में स्थित ग्रीन फील्ड या ब्राउनफील्ड साइट पर स्थापित किए जाएंगे। [यह भी पढ़ें- Vivad Se Vishwas Scheme 2021: विवाद से विश्वास स्कीम आवेदन प्रक्रिया]

पीएम मित्र योजना

पीएम मित्र योजना के तहत ग्रीन फील्ड और ब्राउनफील्ड साइटों में निवेश

पीएम मित्र योजना के तहत कताई, बुनाई, प्रसंस्करण, रंगाई और छपाई से लेकर कपड़ों के निर्माण तक का काम एक ही जगह किया जाएगा। PM Mitra Yojana के आरम्भ होने से पहले ये सभी काम देश के अलग-अलग राज्यों में होते थे। जिससे लॉजिस्टिक्स का काफी खर्चा उठाना पड़ता था। केंद्र सरकार द्वारा पीएम मित्र योजना शुरू करने से लॉजिस्टिक्स की लागत में भी कमी आएगी क्योंकि पूरी वैल्यू चेन एक जगह मौजूद होगी। इस योजना के तहत विभिन्न राज्यों में स्थित ग्रीन फील्ड और ब्राउनफील्ड स्थानों पर पार्क का निर्माण किया जाएगा। ग्रीन फील्ड मित्र पार्क के विकास पर 500 करोड़ खर्च किए जाएंगे। [यह भी पढ़ें- सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम 2021: Soil Health Card, मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना की जानकारी]

  • इस योजना के तहत केंद्र सरकार ने ब्राउनफील्ड पार्क के विकास के लिए 200 करोड़ रुपये खर्च करने की घोषणा की है.
  • इसके साथ ही विनिर्माण इकाइयों को प्रतिस्पर्धी प्रोत्साहन के लिए सभी मित्र पार्कों को 300 करोड़ रुपये की मदद मिलेगी।
  • मित्र पार्क को स्पेशल पर्पज व्हीकल पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप मोड में विकसित होगा और इन वाहनों का स्वामित्व राज्य सरकार और केंद्र सरकार द्वारा किया जाएगा।

3 साल में दी जाएगी 30 करोड़ रुपए की सहायता

ये पार्क उन सभी राज्यों में स्थापित किए जाएंगे जहां सस्ती जमीन, पानी और श्रम मुहैया कराया जाएगा। केंद्र सरकार द्वारा 7 पार्कों की स्थापना की अनुमानित लागत 17000 करोड़ रुपये है। जो इकाइयां शुरुआत में बड़ा निवेश करेंगी उन्हें भी पहले आओ पहले पाओ के आधार पर सहायता प्रदान की जाएगी। केंद्र सरकार की ओर से 3 साल में 30 करोड़ रुपये तक की यूनिट दिए जाएगे और इन टेक्सटाइल पार्कों में अनुसंधान केंद्र, डिजाइन केंद्र, प्रशिक्षण केंद्र, चिकित्सा सुविधाएं, श्रमिकों के लिए घरेलू सुविधाएं, गोदाम, परिवहन सुविधाएं, होटल, दुकानें भी बनाई जाएंगी। इस योजना के तहत यह पार्क एक एकीकृत प्रणाली होगा जिसके द्वारा एक पारिस्थितिकी तंत्र बनाया जाएगा जिसमें सभी एक दूसरे से लाभान्वित और मदद कर सकें और पार्क का 50% क्षेत्र शुद्ध निर्माण गतिविधियों के लिए, 20% क्षेत्र उपयोगिताओं के लिए और 10% क्षेत्र वाणिज्यिक विकास के लिए प्रदान होगा। [यह भी पढ़ें- शौचालय सूची 2021- Gramin Sochalay New List | अपना नाम ऑनलाइन देखें]

PM Mitra Scheme का उद्देश्य

आज के समय में भारत में वस्त्रों की संपूर्ण बोले श्रृंखला विभिन्न भागों में बिक्री हुई एवं खंडित है। जिनमें से कुछ नीचे दिए गए हैं।

  • गुजरात एवं महाराष्ट्र में उगाई जाने वाली कपास
  • तमिलनाडु में कताई
  • राजस्थान और गुजरात में प्रसंस्करण
  • राजधानी क्षेत्र में बैंगलोर कोलकाता आदि में गारमेंटिंग
  • मुंबई और कांडला से निर्यात

यही कारण है कि कपड़ा उत्पादों की बिक्री हुई मूल्य श्रंखला को एकीकृत करने के लिए भारत सरकार ने PM मित्र योजना प्रारंभ की है। पीएम Mitra योजना के लिए तमिलनाडु, पंजाब, ओडीशा, आंध्र प्रदेश, गुजरात, राजस्थान, असम, कर्नाटक जैसे कई राज्यों ने अपनी रूचि व्यक्त की है।

पीएम Mitra योजना के घटक

भारत सरकार द्वारा शुरू की जा रही इस नई पीएम मित्र योजना के कुल 2 भाग होंगे। इस योजना का बड़ा घटक विकास समर्थन होगा। सरकार का कहना है कि एक अनुमान के अनुसार प्रत्येक पार्क की स्थापना की लागत सातारा 100 करोड़ रुपए होगी। इनमें से परियोजना लागत का 30% तक या फिर ग्रीन फील्ड पार्को में 500 करोड़ रुपए तक एवं ब्राउनफील्ड पार्कों में 200 करोड रुपए तक की राशि सरकार द्वारा विकास पूंजी सहायता के रूप में प्रदान की जाएगी। योजना के दूसरे घटक में लंगर संयंत्र स्थापित करने वाले एवं कम से कम 100 लोगों को काम पर रखने वाले पहले मूवर्स को सरकार द्वारा प्रतिस्पर्धात्मक प्रोत्साहन प्रदान किया जाएगा। इस फॉर्मूला के तहत यह है व्यवसाय 3 साल के लिए प्रति वर्ष 10 करोड़ रुपए यहां कुल 30 करोड़ रुपए तक सुरक्षित कर सकते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह मौजूदा पीएलआई योजना का हिस्सा नहीं है। [यह भी पढ़ें- (PMGDISHA) प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान : ऑनलाइन आवेदन फॉर्म]

पीएम मित्र योजना

PM मित्र योजना के लाभ

केंद्र सरकार PM Mitra Scheme के तहत बनने वाले पार्क के आसपास समग्र एकीकृत कपड़ा प्रसंस्करण क्षेत्र स्थापित करना चाहती है। इन्ना मेगा टैक्सटाइल पार्क में निम्नलिखित सुविधाएं शामिल की जाएगी।

  • सामान्य सेवा केंद्र
  • डिजाइन केंद्र
  • अनुसंधान और विकास केंद्र
  • प्रशिक्षण सुविधाएं
  • चिकित्सकीय सुविधाएं
  • आवास सुविधाएं
  • अंतर्देशीय कंटेनर टर्मिनल
  • रसद गोदाम

सरकार ने पीएम Mitra योजना की कपड़ा क्षेत्र में उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन योजना के साथ मिलकर काम करने की कल्पना की है। सितंबर 2021 में केंद्र सरकार ने 10683 करोड रुपए के पीएलआई को अधिसूचित किया था। इसके पीछे सरकार का उद्देश्य विशेष रूप से मानव निर्मित फाइबर कपड़े एमएमएफ परिधान एवं तकनीकी वस्तुओं के उत्पादन को बढ़ावा देना था। परंतु अब कुछ माह से केंद्र सरकार ने कपड़ा मंत्रालय द्वारा पीएलआई के लिए अपने बुनियादी मानकों में कुछ बदलाव कर दिए हैं। जबकि अधिकांश पीएलआई में उच्च मूल्य वाले सामानों को लक्षित करके आयात निर्भरता में कटौती करने के बदलाव देखने को मिलेंगे इसके साथ ही सिंथेटिक फाइबर जैसे रेयान, नायलॉन, पॉलिएस्टर एवं एक्रेलिक एवं  तकनीकी वस्त्र जो किसी भी क्षेत्र में नहीं आते हैं को शामिल किया जाएगा। इन दोनों योजनाओं के एक साथ चित्र में आने से गिरते निवेश एवं घटती उत्पादकता में कुछ अच्छे बदलाव आने की आशा की जा रही है। [यह भी पढ़ें- प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना 2021: Saubhagya Yojana, ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म]

पीएम मित्र योजना

पीएम मित्र योजना की विशेषताएं

आपकी सुविधा के लिए हम नीचे PM Mitra Scheme की कुछ मुख्य विशेषताओं की सूची प्रदान करने जा रहे हैं।

  • इस योजना के तहत 7 लाख डायरेक्ट एवं 14 लाख इनडायरेक्ट रोजगार के अवसरों को उत्पन्न किया जाएगा।
  • यह पार्क बनाने के लिए जगह का चुनाव चैलेंज मेथड से किया जाएगा।
  • इन पार्क में बुनाई रंगाई सूत काटने से लेकर टेक्सटाइल तक सभी सुविधाएं मौजूद कराई जाएंगी।
  • एक ही पार्क में सभी सुविधाएं मौजूद कराने से आवागमन में होने वाले खर्च का बचाव भी होगा।
  • इस योजना के तहत 50% जगह का प्रयोग मैन्युफैक्चरिंग के लिए किया जाएगा एवं 10% क्षेत्र में व्यावसायिक कार्यों को किया जाएगा।
  • इतना ही नहीं इस पार्क को बनाने के लिए स्पेशल पर्पस व्हीकल भी डिवेलप किए जाएंगे। यह कार्य संयुक्त रूप से केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा संभाला जाएगा जिसके तहत पीपीपी मॉडल को भी प्रयोग में लाया जाएगा।
  • सरकार द्वारा मैक्सिमम कैपिटल के तहत 500 करोड़ ग्रीन फील्ड क्षेत्रों एवं 200 करोड़ ब्राउनफील्ड क्षेत्रों को प्रदान किया जाएगा।
  • सरकार इस योजना के तहत देसी वर्कर्स एवं कंपनियों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मजबूत बनाने का प्रयास कर रही है।

PM Mitra Scheme पात्रता मानदंड

सभी भारतीय कंपनियां एवं टेक्सटाइल क्षेत्र से जुड़े वर्कर्स पीएम Mitra योजना के तहत लाभ प्राप्त कर सकते हैं। सरकार जो है योजना उनकी स्थिति में सुधार लाने के लिए लेकर आए हैं ताकि वैश्विक स्तर पर उन्हें पहचान मिल सके एवं उन्हें कड़ी चुनौतियों का सामना ना करना पड़े।

पीएम मित्र योजना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

अब तक केंद्र सरकार ने PM मित्र योजना के तहत आवेदन के लिए कोई जानकारी जारी नहीं की है। इसलिए अभी आपको योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए सरकार की अगली घोषणा की प्रतीक्षा करनी होगी। तब तक आप इस योजना से जुड़ी सूचनाओं के लिए टेक्सटाइल मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट पर जा सकते हैं। इसके अलावा आपकी सुविधा के लिए हम यहां अपने पेज पर योजना से संबंधित सभी अपडेट प्रदान करते रहेंगे। इसलिए निरंतर अपडेट देखने के लिए आप हमारे इस पेज पर आकर भी जानकारी की जांच कर सकते हैं। [यह भी पढ़ें- पीएम किसान सम्मान निधि सुधार 2021: PM Kisan Correction Update]

Leave a Comment