समग्र शिक्षा अभियान-2.0: Samagra Shiksha Scheme, उद्देश्य, लाभ व कार्यान्वयन

Samagra Shiksha Abhiyan | समग्र शिक्षा अभियान-2.0 के लाभ | Samagra Shiksha Scheme 2.0 | Samagra Shiksha Abhiyan in Hindi

हम सभी नागरिक जानते है की हमारे देश में नागरिको की शिक्षा को सहायता पहुचाने के लिए कई अन्य तरह की योजनए आरम्भ की जाती है इस तरह केंद्र सरकार ने देश के हर एक बच्चे की शिक्षा को ध्यान में रखते हुए 04 अगस्त 2021 को समग्र शिक्षा अभियान-2.0 को आरम्भ किया है, इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य यह है की देश के हर एक बच्चे को शिक्षा के स्तर में सुधार करने में प्रयास किया जा सके, इसके आलावा केंद्र सरकार ने देश के बच्चो को ध्यान में रखते हुए, हाल ही में एक नई शिक्षा नीति 2020 भी शुरू की है, ताकि देश की शिक्षा में सुधार लाया जा सके और बच्चो का जीवन में सुधार हो सके, तो दोस्तों यदि आप समग्र शिक्षा अभियान-2.0 के तहत सभी जानकारी प्राप्त करना चाहते है, या अभ उठाना चाहते है तो आप सभी को हमारे इस आर्टिकल को पूरा पढ़ना होगा, क्योकि आज हमने अपने इस आर्टिकल में Samagra Shiksha Abhiyan-2.0 से संबंधित सभी जानकारी प्रदान की है। [यह भी पढ़ें- (Fake) प्रधानमंत्री बेरोजगारी भत्ता योजना 2021- ऑनलाइन आवेदन (PM Berojgari Bhatta)]

Samagra Shiksha Scheme 2.0

केंद्र सरकार द्वारा शुरू किए गए Samagra Shiksha Abhiyan-2.0 का मुख्य उद्देश्य यह है की हमारे देश की शिक्षा के स्तर में सुधार आएगा, और इसके अलावा समग्र शिक्षा अभियान-2.0 के माध्यम से स्कूल से लेकर कक्षा बारहवीं तक के सभी आयामों को सहायता दी जाएगी, जिसके द्वारा छात्रों को बेहतर शिक्षा मिल सके, और केंद्र सरकार ने Samagra Shiksha Scheme को नई शिक्षा नीति की सिफारिशों के अनुरूप में बनाया है, ताकि नई शिक्षा नीति के क्रियान्वयन में भी सहायता दी जा सके। केंद्र सरकार के माध्यम से समग्र शिक्षा अभियान के तहत साल के लिए लागू किया जाएगा। [यह भी पढ़ें- (NDHM Health ID) नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन योजना | ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, पात्रता व लॉगिन]

  • इस Samagra Shiksha Abhiyan के द्वारा स्कूल, बच्चों और शिक्षकों का विकास होगा, और सीखने की प्रक्रिया की निगरानी, बाल उद्यान की स्थापना, शिक्षकों की क्षमताओं के विकास और प्रशिक्षण कार्य पर भी ध्यान दिया जाएगा, केंद्र सरकार द्वारा इस समग्र शिक्षा अभियान-2.0 का मुख्य उद्देश्य यह भी है की शिक्षकों को प्रशिक्षित करने के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया जाए, तो दोस्तों यदि आप Samagra Shiksha Abhiyan-2.0 के तहत लाभ प्राप्त करना चाहते है तो आपको इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

अभियान के अंतर्गत 1103 करोड़ रुपए की राशि पंजाब के लिए प्रस्तावित की गई 

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने इस योजना के अंतर्गत 1102.91 करोड़ रुपए के बजट का प्रावधान स्कूली शिक्षा के लिए किया है। इस प्रावधान का आरम्भ वित्तीय साल के लिए 2022-23 में पंजाब के लिए किया गया है। इसके अंतर्गत केंद्र और राज्य सरकार द्वारा उक्त राशि में 60:40 का हिस्सा साझा करने के लिए किया जाना है। इस पूरी राशि में से 661.75 करोड़ रुपए केंद्रीय वित्त पोषण की तरह पेश किये गए है और राज्य सरकार द्वारा प्रारम्भिक शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा, अन्य शिक्षा घटको के लिए बाकि 441.16 करोड़ रुपए प्रदान किये जायेगे। प्राथमिक शिक्षा हेतु मंत्रालय के माध्यम से 707.73 करोड़ रुपए और माध्यमिक शिक्षा हेतु 378.62 करोड़ रुपए का निर्धारण किया गया है। इसके अतिरिक्त राज्य शिक्षा अनुंसधान और परीक्षण परिषद, जिला शिक्षा, प्रशिक्षण संस्थान हेतु 16.55 करोड़ रुपए प्रस्तुत किये गए है। 

आखिरी परिव्यय से जुड़े निर्धारित राज्य सरकार ने प्रस्तावित सालाना कार्य योजना तथा परियोजना अनुमोदन बोर्ड की बैठक में बजट के अनुरूप किया जायेगा। 1126 करोड़ रुपए के बजट की इजाज़त मिनिस्ट्री ऑफ़ एजुकेशन के माध्यम से पंजाब के लिए दी गई है, जिसमे पूर्व बजट की तुलना में 47.33 करोड़ की रकम कि बढ़ोत्तरी की गई है। इस योजना का आरम्भ राज्य के शिक्षा स्तर को बेहतर करने के द्रष्टिकोण से किया गया है। इससे बालको को अच्छी शिक्षा ग्रहण करने का मौका प्राप्त होगा। [यह भी पढ़ें- नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट 2022: नई MGNREGA कार्ड सूची, NREGA Card डाउनलोड]

समग्र शिक्षा अभियान-2.0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की योजनाएं

समग्र शिक्षा अभियान-2.0 का कार्यान्वयन

राज्य सरकार द्वारा स्कूली शिक्षा के क्षेत्र में सुधार लाने के लिए प्रबंध सिस्टम का आयोजन किया गया है। इस योजना के अंतर्गत राज्य के सभी बच्चो को उच्च और सरल शिक्षा प्राप्त करने में मदद मिलेगी। भारत सरकार की ज्ञप्तियों,अनुमोदित परिव्यय, उदेश के अनुसार कवरेज, अनुमोदित कि स्कूलवार सूचि, स्कूलवार अंतराल, अनुमोदन आदि की स्थिति की जाँच राज्य और केंद्र शासित प्रदश समग्र शिक्षा के माध्यम से कर सकते है। इसके अतिरिक्त इस सिस्टम के ज़रिये वित्तीय और भौतिक मासिक प्रगति रिपोर्ट को भी राज्यों के द्वारा ऑनलाइन पेश किया जा सकेगा। इस कार्य के लिए भी सरकार द्वारा एक विजुलाइजेशन डैशबोर्ड की भी स्थापना की गई है। केंद्र शासित प्रदेश और राज्य के अंतर्गत दिए जाने वाली माहवार अपडेट के अनुसार ये डैशबोर्ड, सिस्टम से सभी डाटा इकठ्ठा करता है। सरकार का लक्ष्य इस सिस्टम को शुरू करने का यह है की इसके ज़रिये योजना के कार्यान्वयन में पारदर्शिता और सुधार लाया जा सके। [यह भी पढ़ें- (PMUY) प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना 2022 | Ujjwala 2.0 KYC Application Form]

समग्र शिक्षा अभियान-2.0 के अंतर्गत निर्धारित किया गया बजट 

इस अभियान के संचालन के लिए राज्य सरकार द्वारा 2.94 लाख रुपए की लागत लगाई गई है। इस योजना के लिए आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओ को ट्रेनिंग देना, बालिकाओ के लिए हॉस्टल में सैनेट्री पेड की व्यवस्था कराना कस्तूरबा गाँधी महाविधालय का बारहवीं कक्षा तक विस्तार करना आदि कार्य इस योजना के अंतर्गत शामिल किये गए है। इस योजना को 1 अप्रैल 2021 से लेकर 31 मार्च 2026 तक संचालित किया जायेगा। इसमें केंद्र सरकार की 2.94 लाख करोड़ के बजट में से 1.85 लाख करोड़ की हिस्सेदारी होगी। इसके अतिरिक्त इस योजना के अंतर्गत 11.6 लाख स्कूल, 15.6 करोड़ बच्चे, 57 लाख अध्यापको को लाभ प्रदान किया जायेगा, जिससे उनकी और उनके परिवार की काफी मदद हो सकेगी। इसके अतिरिक्त इस योजना के ज़रिये सीखने की प्रक्रिया पर निगरानी बाल वाटिका का निर्माण किया जायेगा और  शिक्षकों की क्षमताओं का विकास और प्रशिक्षण के कार्य पर भी ध्यान दिया  जायेगा। इस योजना के अंतर्गत शिक्षकों को प्रशिक्षित करने हेतु भिन्न भिन्न प्रकार के प्रशिक्षण कार्यक्रम को भी आयोजित किया जायेगा। वह छात्र जो काफी दूर के स्थान से आते है उन्हें 6000 रुपए माध्यमिक स्तर पर हर साल परिवहन सुविधा राशि के रूप में दिए जाएंगे। [यह भी पढ़ें- PMJAY CSC: Registration, Login, Download Ayushman Card | Mera PMJAY]

समग्र शिक्षा अभियान 2.0

हम सभी जानते हैं कि राजस्थान सरकार के द्वारा राजस्थान के नागरिको को लाभ और सहायता प्रदान करने के लिए Samagra Shiksha Abhiyan-2.0 शुरू किया गया है। राज्य सरकार द्वारा इस समग्र शिक्षा अभियान-2.0 के तहत कक्षा 1 से 12 तक स्कूली शिक्षा में सुधार किया जाएगा। राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद का गठन समग्र शिक्षा अभियान-2.0 के संचालन के लिए किया गया है, जिसे 2021 में पंजीकृत किया गया है। इस अभियान में पूर्व-प्राथमिक, प्राथमिक, उच्च प्राथमिक, माध्यमिक से वरिष्ठ माध्यमिक स्तर तक ‘एक निरंतरता के रूप में स्कूल’ की परिकल्पना की गई है। स्कूली शिक्षा के विभिन्न ग्रेड स्तरों में स्थानांतरण दर में सुधार करना और बच्चों को एक सार्वभौमिक स्तर पर लाना है, ताकि स्कूली शिक्षा को पूरा करने को बढ़ावा देने में मदद की जा सके। यदि आप समग्र शिक्षा योजना के बारे में अधिक जानना चाहते हैं तो आपको योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। [यह भी पढ़ें- (रजिस्ट्रेशन) Pradhan Mantri Solar Panel Yojana 2021: फ्री सोलर पैनल योजना आवेदन]

Highlight of Samagra Shiksha Abhiyan-2.0

योजना का नामSamagra Shiksha Scheme
वर्ष2022
आरम्भ की गईकेंद्र सरकार के द्वारा
लाभार्थीहमरे देश के छात्र
पंजीकरण प्रक्रियाऑनलाइन मोड
उद्देश्यशिक्षा के स्तर में सुधार करना
श्रेणीकेंद्र सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइटhttp://samagrashiksha.in/

शिक्षण विधियों का विकास होगा

शिक्षा मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने बताया कि इसके दायरे में सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त 11.6 लाख स्कूल, 15.6 करोड़ बच्चे और 57 लाख शिक्षक आयेंगे,  समग्र शिक्षा अभियान-2.0 योजना के तहत अगले कुछ वर्षों में चरणबद्ध तरीके से स्कूलों में बाल वाटिका, स्मार्ट कक्षा, प्रशिक्षित शिक्षकों की व्यवस्था की जाएगी तथा आधारभूत ढांचे, व्यावसायिक शिक्षा एवं रचनात्मक शिक्षण विधियों का विकास किया जाएगा. [यह भी पढ़ें- (रजिस्ट्रेशन) Pradhan Mantri Solar Panel Yojana 2021: फ्री सोलर पैनल योजना आवेदन]

समग्र शिक्षा अभियान-2.0 के तहत मुख्य बाते

  • स्कूल वार प्रगति रिपोर्ट ऑनलाइन जमा करना – समग्र शिक्षा के विभिन्न घटकों के तहत स्कूलवार कार्यक्रम और निर्माण की स्थिति से संबंधित जानकारी ऑनलाइन जमा करी जा सकती है।
  • स्वीकृति आदेश का ऑनलाइन सर्जन – इस योजना के तहत सभी स्वीकृति आदेश आवश्यक अनुमोदन के बाद ऑनलाइन उत्पन्न किए जाएंगे। भारत सरकार के माध्यम से सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को ऑनलाइन ऑटो-जेनरेटेड मेल जारी किए जाएंगे जिनमें सभी प्रासंगिक जानकारी प्रदान होगी।
  • ऑनलाइन मासिक गतिविधियां – राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के माध्यम से समग्र शिक्षा के सभी घटकों के लिए गतिविधिवार प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत होगी।
  • वार्षिक कार्य योजना– राज्य और केंद्र शासित प्रदेश पोर्टल के द्वारा जिलेवार वार्षिक कार्य योजना और बजट प्रस्ताव प्रस्तुत कर सकते हैं। इन प्रस्तावों का ऑनलाइन मूल्यांकन भी सिस्टम के द्वारा होगा और परियोजना स्वीकृति बोर्ड के माध्यम से दी गई अंतिम स्वीकृति पोर्टल पर फीड करा जाएगा।
  • सक्रिय लॉगइन – इस योजना के तहत सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 740 जिलों, 8100 प्रखंडों और 12 लाख स्कूलों में जिला लॉगिन किया गया है।

समग्र शिक्षा अभियान-2.0 के लाभ तथा विशेषताएं

  • केंद्र सरकार द्वारा समग्र शिक्षा अभियान शुरू किया गया है, और यह अभियान 4 अगस्त 2021 को शुरू किया गया है।
  • समग्र शिक्षा अभियान-2.0 के माध्यम से एक बुनियादी ढांचा, व्यावसायिक शिक्षा और रचनात्मक शिक्षण विधियों की भी व्यवस्था की जाएगी, स्कूलों का निर्माण एक ऐसा वातावरण बनाने के लिए किया जाएगा जिसमें विविध पृष्ठभूमि, बहुभाषी आवश्यकताएं और बच्चों की विविध क्षमताएं संयुक्त हों।
  • केंद्र सरकार द्वारा इस अभियान के तहत पूर्वस्कूली से बारहवीं कक्षा तक स्कूली शिक्षा के आयामों को शामिल किया गया है।
  • नई शिक्षा नीति 2020 की सिफारिशों के अनुसार शुरू किया गया है, और शिक्षा पर सतत विकास लक्ष्यों सहित है। अभियान के तहत आने वाले वर्षों में चरणबद्ध तरीके से स्कूलों में बाल वाटिका, स्मार्ट क्लासरूम, प्रशिक्षित शिक्षकों की व्यवस्था की जाएगी। 
  • इस योजना का लाभ विद्यार्थी को खेल सामग्री के लिए पांचवी कक्षा तक के छात्रों को 5,000 रुपये तक का लाभ मिलेगा | कक्षा दसवीं तक के छात्रों को स्कूल में 10,000 रूपये मिलेंगे | कक्षा 12वीं तक के छात्रों को 15,000 रुपये दिए जाएंगे।
  • इस अभियान के माध्यम से शिक्षक पाठ्य सामग्री भी तैयार की जाएगी जिसके लिए प्रति विद्यार्थी ₹500 की राशि रखी गई है, और क्रियान्वयन पर 2.94 लाख करोड़ रुपये की राशि खर्च की जाएगी।
  • केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहाँ की सभी स्कूलों में छात्रों के लिए एक घंटा फिजिकल एक्टिविटी के लिए देनी होगी.
  • केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय के तहत केंद्रे स्कूल में लाइब्रेरी के लिए हर वर्ष 5,000 से लेकर 20,000 रूपये तक की सहायता राशि दी जाएगी | और उन्होंने कहाँ को हर स्कूल में लाइब्रेरी होना जरुरी है.
  • केंद्रे स्कूलों में पढ़ने वाले विकलांग विद्यार्थियों को 200 रुपये प्रतिमाह दिया जायेगा|
  • गॉव में रहने वाली लड़कियों के लिए कस्तूरबा गांधी विद्यालय योजना की शुरुआत की गई इस योजना के द्वारा बारहवीं तक लड़कियों को पढ़ाया जायेगा.
  • यह अभियान 1 अप्रैल 2021 से 31 मार्च 2026 तक लागू किया जाएगा, इस योजना के बजट में केंद्र सरकार की 1.85 लाख करोड़ रुपये की हिस्सेदारी होगी।

Samagra Shiksha Abhiyan की पात्रता

Samagra Shiksha Scheme का लाभ लेने के लिए आपको दिए गए पात्रता मानदंडों को अनिवार्य रूप से निम्न प्रकार पूरा करना होगा-

  • केवल भारत के स्थायी निवासी ही इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।
  • इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए आवेदक को आयाम होना अनिवार्य है।

समग्र शिक्षा अभियान-2.0 के तहत लॉगइन करने की प्रक्रिया

आपके द्वारा ऊपर दिए गए पात्रता मानदंडों को पूरा किये जाने की स्थिति में आप दिए गए चरणों के द्वारा Samagra Shiksha Scheme में लॉगिन कर सकते हैं।  

  • सबसे पहले आपको समग्र शिक्षा अभियान की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आ जाएगा।
समग्र शिक्षा अभियान-2.0
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको लॉगइन के टैब में अपनी लॉगिन आईडी, पासवर्ड और कैप्चा कोड को दर्ज कर देना है।
  • इसके बाद, आपको लॉगिन के विकल्प पर क्लिक कर देना है, आपके द्वारा क्लिक करने के बाद, आपकी Samagra Shiksha Abhiyan-2.0 के तहत लॉगिन करने की प्रक्रिया पूरी हो  जाएगी।

Contact Details

  • Address- Department of School Education & Literacy,, Ministry of Education, Shastri Bhawan, New Delhi.
  • Email- prabandh.edu[at]gmail[dot]com
  • Helpline- +91-11-23765609

Leave a Comment