यूपी स्वामी विवेकानंद पर्यटन यात्रा योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म

यूपी स्वामी विवेकानंद पर्यटन यात्रा योजना 2022 | Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana Apply | स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना ऑनलाइन आवेदन | Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana Application Form

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री आदित्यनाथ योगी जी ने उत्तर प्रदेश के मजदूरो के लिए UP Swami Vivekanada Paryatan Yatra Yojana 2022 शुरू की है। इसके तहत मजदूरो को धार्मिक स्थलों में यात्रा करने हेतु मौका दिया जायेगा जिसमे यूपी स्वामी विवेकानंद पर्यटन यात्रा योजना 2022 के लाभार्थियों को  12,000 रुपए की राशि धार्मिक स्थलों की यात्रा हेतु दिए जायगे। इस लेख में हम आपको Paryatan Yatra Yojana से जुडी सम्पूर्ण जानकारी देने वाले है। यदि आप इस योजना में आवेदन करना चाहते है तब इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े। आर्टिकल में बताया जायगा कि स्वामी विवेकानंद पर्यटन यात्रा स्कीम  का आवेदन कहा से तथा कैसे करे ?उद्देश्य क्या है ?, लाभ क्या -क्या मिलेंगे। आदि, की जानकारी दी जायगी।

Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana 2022

उत्तर प्रदेश के वे मजदूर जो वाणिज्य प्रतिष्ठानों ,कारखानों कार्यशालाओं में काम कर रहे है। उन सभी मजदूरों को धार्मिक स्थलों की यात्रा हेतु 12000 की राशि दी जायगी। जिसका उपयोग कर आसानी से बिना किसी आर्थिक चिंता के बिना धार्मिक पर्यटन स्थलों पर यात्रा कर अपनी संस्कृति को ह्रदय तक महसूस कर पाए। राज्य सरकार 12,000 मजदूरों के बीच इस योजना को लोकप्रिय बनाने का काम करेगा। 12,000 मजदूरों को सीधे लाभ पहुंचने वाली इस योजना का कुल बजट 1.5 करोड़ रूपये हैं. यह लाभार्थी मज़दूर वर्तमान में लगभग 6.5 लाख वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों, 20,500 कार्यशालाओं और कारखानों में कार्यरत हैं।

यूपी स्वामी विवेकानंद पर्यटन यात्रा योजना 2021

पीएम मोदी योजना

यूपी स्वामी विवेकानंद पर्यटन यात्रा योजना 2022 के धार्मिक स्थल

इस योजना के अंतर्गत निम्नलिखित धार्मिक स्थलों को शामिल किया गया है।

  • अयोध्या
  • मथुरा
  • प्रयागराज
  • वाराणसी
  • हस्तिनापुर (मेरठ)
  •  गोरखपुर का गोरखनाथ मंदिर
  • शाकुंभरी देवी तथा वैष्णो देवी मंदिर

Highlights of the Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana

योजना का नामस्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना
वर्ष2022
आरम्भ की गईउत्तर प्रदेश सरकार
लाभार्थीउत्तर प्रदेश के नागरिक
उद्देश्यश्रमिकों को धार्मिक यात्रा के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना।
आर्थिक सहायता₹12000
श्रेणीउत्तर प्रदेश सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइटhttp://uplabour.gov.in/

Sawami Vivekanada Etihasik Paryatan Yatra Yojana Application Form

अधिकतर गरीब परिवार के व्यक्ति आर्थिक समस्याओ के कारण तीर्थ यात्रा नहीं कर पाते है। उत्तर प्रदेश के उन सभी गरीब परिवारों को इस शुभ काम को नियोजित रूप से करने के लिए की 12000 की राशि दी जायगी। मज़दूर को धार्मिक योजना का उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है, मज़दूरों को उनकी दैनिक पीस से समय मिले। इसके अतिरिक्त श्रमिक स्वामी विवेकानद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना के माध्यम से  देश की समृद साँस्कृतिक धार्मिक विरासत से भी परिचित हो सकेंगे। राज्य सरकार 12,000 मजदूरों के बीच योजना को लोकप्रिय बनाने का काम करेगा। 12,000 मजदूरों को सीधे लाभ पहुंचने वाली इस योजना का कुल बजट 1.5 करोड़ रूपये हैं।

Eligliblity Criteria for Sawami Vivekanada Etihasik Paryatan Yatra Yojana

  • युपी राज्य श्रम कल्याण बोर्ड के तहत पंजीकरण किये हुए मजदुर परिवार के केवल एक मजदूर को ही इस योजना का लाभ दिया जायगा।
  • आवेदक का बैंक अकाउंट उसके आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए।
  • केवल उत्तर प्रदेश के स्थायी निवासी ही इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते है।
  • उम्मीदवार को वर्तमान में वाणिज्य, प्रतिष्ठानों ,कारखानों , कार्यशालाओं में  नियोजित किया जाना चाहिए।

महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • आईडी कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर

रुपए के तहत स्थानों की पहचान की 12000 मजदूरो की धार्मिक यात्रा के लिए योजना

इस योजना के माध्यम से निम्न धार्मिक स्थलों पर यात्रा करने का मौका दिया जायगा जो निम्नलिखित है,

  • अयोध्या धार्मिक शहर 
  • वाराणसी धार्मिक शहर
  • मथुरा धार्मिक शहर
  • मेरठ में हस्तिनापुर 
  • गोरखपुर में गोरखनाथ मंदिर 
  • शाकुंभरी देवी विध्यवासनी देवी के मंदिर

यूपी मजदूरों की संकल्पना एवं धार्मिक यात्रा योजना 2022

दत्तोपंत देगड़ी की जयंती पर 10 नवंबर 2020 को यूपी स्वामी विवेकानंद पर्यटन यात्रा योजना की शुरुआत की गयी है। दत्तोपंत देगड़ी एक आरएसएस (RSS )विचारक थे। ये वही महान व्यक्ति है, जिन्होंने भारतीय मजदूर संघ (BMS )की स्थापना की थी, बीएमएस एक ट्रेंड यूनियन संगठन है। Uttar Pradesh Swami Vivekanada Paryatan Yatra Yojana का उद्देश्य गरीब मजदूरो को अपने देश की संस्कृति से परिचित कराना है। उत्तर प्रदेश की इस योजना का लाभ 6.5 लाख वाणिज्य प्रतिष्ठानों में से, 20500 कारखानों कार्यशालाओं में कार्यरत मजदूरों को दिया जाएगा।

Benefits of UP Paryatan Yatra Yojana

  • मुख्यमंत्री श्री आदित्यनाथ योगी जी ने उत्तर प्रदेश के मजदूरो के लिए UP Swami Vivekanada Paryatan Yatra Yojana 2022 शुरू की है।
  • दत्तोपंत देगड़ी की जयंती पर 10 नवंबर 2020 को यूपी स्वामी विवेकानंद पर्यटन यात्रा योजना की शुरुआत की गयी है।
  • श्रमिक स्वामी विवेकानद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना के माध्यम से देश की समृद्ध साँस्कृतिक धार्मिक विरासत से भी परिचित हो सकेंगे।
  • उत्तर प्रदेश की इस योजना का लाभ 6.5 लाख वाणिज्य प्रतिष्ठानों में से, 20500 कारखानों कार्यशालाओं में कार्यरत मजदूरों को दिया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से बहुत से लाभार्थियों को भारत की बहुत सी ऐतिहासिक इमारतों की यात्रा करने का मौका दिया जायगा।

स्वामी विवेकानंद पर्यटन यात्रा योजना हेतु ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया

उत्तर प्रदेश के वे इच्छुक लाभार्थी जो स्वामी विवेकानंद पर्यटन यात्रा योजना 2022 में आवेदन करना चाहते है। राज्य  उत्तर प्रदेश सरकार में आवेदन हेतु कोई भी जानकारी साझा नहीं की गयी है। इस संबंध में दी गयी कोई भी जानकारी गलत है। तो इच्छुक लाभार्थी को थोड़ा रुकना होगा। राज्य सरकार ने अभी इस विषय में कोई सुचना नहीं दी है। इस विषय में जैसे ही कोई भी सुचना प्राप्त होती है , वैसे ही हम इस आर्टिकल माध्यम से आप तक सम्पूर्ण सुचना आप तक पहुंचा देंगे। सरकार के माधयम से योजना में ऑनलाइन या ऑफलाइन या अन्य किसी भी प्रकार से आवेदन करने की कोई ऑफिशियली जानकारी नहीं दी गयी है।

Leave a Comment