UP SAMBHAV Portal | ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, sambhav.up.gov.in लॉगिन

UP Sambhav Portal Online Registration | यूपी संभव पोर्टल ऑनलाइन आवेदन | sambhav.up.gov.in Login | sambhav.up.gov.in Portal Helpline

भारत सरकार द्वारा विभिन्न स्तरों पर देश के नागरिकों के द्वारा किये जाने वाले सार्वजनिक शिकायतों के समाधान हेतु अनेक प्रयास किये जा रहे है। इसी दिशा में उत्तर प्रदेश सरकार ने भी हाल ही में sambhav.up.gov.in पोर्टल की शुरुआत की है। उत्तर प्रदेश के शहरी विकास व ऊर्जा मंत्री एके शर्मा जी ने 18 मई 2022 को आईसीटी पर आधारित इस पोर्टल को लॉन्च किया है। उत्तर प्रदेश संभव पोर्टल के माध्यम से राज्य सरकार द्वारा राज्य परियोजनाओं, नीतियों, कार्यक्रमों और व्यक्तियों या विभागों से संबंधित शिकायतों की निगरानी की जाती है एवं उनका समाधान जल्द से जल्द करने का प्रत्यन किया जाता है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से UP Sambhav Portal से जुड़ी सभी आवश्यक जानकारी, जैसे:- उद्देश्य, लाभ, विशेषताएं, आवेदन करने की प्रक्रिया आदि के बारे में ज्ञान साँझा करेगें। यदि आप भी यूपी संभव पोर्टल से सम्बंधित सभी महत्त्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करने के इच्छुक है तो हमारे इस लेख के साथ अंत तक बने रहे। [यह भी पढ़ें- (शिकायत) उत्तर प्रदेश जनसुनवाई: UP Jansunwai Portal, jansunwai.up.nic.in]

UP Sambhav Portal 

उत्तर प्रदेश राज्य सरकार द्वारा आरम्भ की गयी यूपी संभव पोर्टल के माध्यम से सार्वजनिक शिकायतों का निवारण जल्द से जल्द एवं प्रभावी ढंग से किया जायेगा। यह पोर्टल सूचना और संचार प्रौद्योगिकी मंच की भांति कार्य करता है, जिसकी सहायता से नागरिकों द्वारा किये गए विभिन्न शिकायतों को सम्बंधित अधिकारियों तक पहुँचाया जाता है। इस पोर्टल पर सम्बंधित अधिकारियों द्वारा शिकायतों पर उनकी प्रतिक्रिया एवं कार्रवाई रिपोर्ट के विवरण भी दर्ज किये जायेगें। शहरी विकास व ऊर्जा मंत्री द्वारा लॉन्च की गयी sambhav.up.gov.in portal के माध्यम से मुख्यमंत्री जनसुनवाई अथवा एकीकृत शिकायत निवारण प्रणाली के तहत लंबित मामलों का भी समाधान किया जायेगा। इसके साथ ही पोर्टल पर सम्बंधित अदिकारियों से सीधे संपर्क करने हेतु वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग एवं टेली कॉन्फ्रेंसिंग की सुविधा भी प्रदान की गयी है। राज्य सरकार द्वारा आरम्भ की गयी इस पोर्टल की सहायता से प्रशासन के कार्यनिधि में पारदर्शिता भी आएगी। [यह भी पढ़ें- eMandi UP: ई मंडी उत्तर प्रदेश, emandi.up.gov.in Portal लॉगिन, लाइसेंस अप्लाई]

UP Sambhav Portal

 PM Modi Scheme

उत्तर प्रदेश संभव पोर्टल का उद्देश्य 

उत्तर प्रदेश सरकार के शहरी एवं ऊर्जा मंत्री के द्वारा आरम्भ की गयी यूपी संभव पोर्टल का मुख्य उद्देश्य राज्य के नागरिकों द्वारा विभिन्न स्तर पर किये गए शिकायतों का समाधान करना है। इस पोर्टल के माध्यम से राज्य के नागरिक अपने समस्याओं की शिकायत सम्बंधित अधिकारियों तक आसानी से पहुँचा सकते है, जिसका समाधान अधिकारियों द्वारा जल्द से जल्द एवं प्रभावी रूप से किया जायेगा। राज्य सरकार इस पोर्टल की सहायता से जन शिकायतों, योजनाओं, परियोजनाओं, कार्यक्रमों और नीतियों की निगरानी पारदर्शी तरीके से कर सकती है। इस पोर्टल के ऑनलाइन होने के कारण नागरिकों को अपनी शिकायत करने हेतु किसी विभाग अथवा कार्यालय के चक्कर लगाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। राज्य के नागरिक इस ऑनलाइन पोर्टल की सहायता से घर बैठे अपनी शिकायत दर्ज कर सकते है, जिससे उनके समय एवं पैसे दोनों की बचत होगी। [यह भी पढ़ें- ehrms upsdc.gov.in Registration, Login, eHRMS Manav Sampada UP]

Overview of sambhav.up.gov.in Portal

पोर्टल का नामउत्तर प्रदेश संभव पोर्टल (sambhav.up.gov.in)
आरंभ की गयी  शहरी विकास व ऊर्जा मंत्री एके शर्मा जी के द्वारा
वर्ष2022
लाभार्थी  उत्तर प्रदेश के सभी नागरिक
आवेदन की प्रक्रिया ऑनलाइन
उद्देश्य सार्वजनिक शिकायतों का तेजी एवं प्रभावी ढंग से निवारण करना
लाभ   ऑनलाइन पोर्टल की सुविधा
श्रेणी उत्तर प्रदेश सरकारी योजनाएं 
आधिकारिक वेबसाइटsambhav.up.gov.in

उत्तर प्रदेश संभव पोर्टल का आयोजन 

ऊर्जा और शहरी विकास मंत्री के द्वारा 18 मई 2022 को संभव पोर्टल को लागू किया गया है। इस संभव पोर्टल के माध्यम से सभी प्रकार कि शिकायतो, कार्यक्रमों, योजनाओ, और नीतियों पर नजर रखी जाएगी और उन पर कार्यवाही भी की जाएगी। इस पोर्टल के अंतर्गत नागरिको के द्वारा प्राप्त शिकायतों को सम्बंधित अधिकारी, जिनको लॉगिन आईडी दी गई है उनको शिकायत से सम्बंधित जानकारी प्रदान करके उसके समाधान करना होगा। इस प्रकार यह पोर्टल संचार प्रौद्योगिकी के रूप में कार्य करेगा। इसी के साथ अधिकारियो को भी, इन मुद्दों पर की गई अपनी कार्यवाही और प्रतिक्रिया की सम्पूर्ण जानकारी पोर्टल पर दर्ज करनी होती है। इस सम्बन्ध में अधिकारियो से बात करने के लिए इस पोर्टल पर वीडियो कॉल, ऑडियो कॉल का भी इंतजाम किया जायेगा। यह एक मल्टी-मोडल पोर्टल है जिसका प्रारम्भ नागरिको की शिकायतों को जल्द और प्रभाव पूर्ण तरीके से सुधारने में और सुशासन प्रदान करने के लिए किया गया है। नागरिक सेवा को पारदर्शी बनाने और नागरिको के सवालो के जवाब देने लिए भी इस पोर्टल को लॉन्च किया गया है। इस पोर्टल के माध्यम से लम्बे समय से रुके हुए मुख्यमंत्री जनसुनवाई/एकीकृत शिकायत निवारण प्रणाली के सभी मामलो और शिकायतो का भी निपटारा किया जायेगा। [यह भी पढ़ें- (रजिस्ट्रेशन) विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन स्टेटस]

कार्यकारी अध्यक्ष द्वारा( उदहारण के लिए -) बिजली विभाग में हर सप्ताह सोमवार को 10 बजे से 12 बजे तक सार्वजानिक शिकायतों को निपटाने का कार्य किया जायेगा, इसके विपरीत सर्कल स्तर पर, अधियक्ष अभियंता द्वारा हर सप्ताह सोमवार को 3 बजे से 5 बजे तक सार्वजानिक शिकायतों का निपटारा किया जायेगा। इसके आलावा सभी डिस्कॉम के एमडी हर सप्ताह मंगलवार को सुबह 10 बजे से 12 तक सार्वजानिक शिकायतों को सुलझाएंगे और मंत्री और उच्च स्तरीय अधिकारी हर महीने के तीसरे बुधवार को 12 बजे से नागरिको कि शिकायतों का निपटारा करेंगे। ये स्थानीय सेवाओं कि वैश्विक प्रणाली का उदहारण है। इस प्रकार सरकार द्वारा आयोजित कि गई सभी व्यवस्थाओ को निर्धारित किये गए तरीके से जारी रखा जायेगा, और मौजूद जनसुनवाई प्रणाली भी पूर्व ढंग से कार्य करती रहेंगी। [यह भी पढ़ें- (prernaup.in) प्रेरणा पोर्टल यूपी | Mission Prerna Portal Login, Registration]

यूपी के ऊर्जा विभाग के बारे में 

उत्तर प्रदेश के ऊर्जा उत्पादन और उसकी आपूर्ति का सम्पूर्ण कार्य ऊर्जा विभाग के नियंत्रण में किया जाता है। ऊर्जा विभाग द्वारा मुख्य रूप से दो तथ्यों पर कार्य किया जाता है। गैर नवीकरणीय ऊर्जा, पारंपरिक बिजली, जिसको उत्तर प्रदेश पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड के अंतर्गत पांच स्थानों में डिस्कॉम के द्वारा वितरित किया जाता है, इसके विपरीत उत्तर प्रदेश द्वारा ऊर्जा नवीकरणीय स्त्रोतों का नियंत्रण किया जाता है। नवीन तथा नवीकरण ऊर्जा विकास एजेंसी के पांच स्थान डिस्कॉम इस प्रकार है। [यह भी पढ़ें- (SSPY) यूपी पेंशन योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन, UP Pension Scheme न्यू लिस्ट]

  • MADHYANCHAL VIDYUT VITRAN NIGAM
  • PURVANCHAL VIDYUT VITARAN NIGAL LTD
  • DAKSHINANCHAL VIDYUT VITRAN NIGAM
  • PASCHIMANCHAL VIDYUT VITRAN NIGAM LTD
  • KANPUR ELECTRICITY SUPPLY COMPANY LTD

राज्य सरकार के शासन वाले जनरेटर के माध्यम से यूपीपीसीएल के द्वारा बिजली की खरीद कि जाती है।(उत्तर प्रदेश राज्य विधुत उत्पादन निगम तथा उत्तर प्रदेश जल विधुत निगम लिमिटेड), इसके अतिरिक्त बिजली खरीदने के समझौते के द्वारा राज्य सरकार के शासन के बिजली जरेटर (एनटीपीसी लिमिटेड तथा टीएचडीसी लिमिटेड) तथा इंडिपेंडेंट बिजली प्रोड्यूसर, आईपीपी (अधिकतर निजी बिजली कंपनियां), उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा एक स्वायत्त संस्था की तरह शेष ऊर्जा स्त्रोत विभाग के अंतर्गत गैर पारंपरिक ऊर्जा विकास एजेंसी का निर्माण अप्रैल 1983 को किया गया था। अब इस संस्थान का नाम बदलकर ”उत्तर प्रदेश नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा विकास एजेंसी कर दिया है। यह संस्थान शुरू किये जाने के बाद से ही प्रदेश में बहुत सी योजनाओ के कार्यक्रम के लिए नोडल एजेंसी कि तरह कार्य करती आ रही है। [यह भी पढ़ें- ehrms upsdc.gov.in Registration, Login, eHRMS Manav Sampada UP]

शहरी विकास विभाग के बारे में

उत्तर प्रदेश में होने वाले स्थानीय निकाय, शहरी विकास से जुड़े नियम, विनयम, कानून का निर्माण, प्रशासन आदि कि देखरेख कि ज़िम्मेदारी शहरी विकास विभाग की होती है। इसके आलावा शहरी विकास विभाग स्थानीय निकाय के निदेशालय के द्वारा से, स्थानीय निकाय को वित्तीय सहायता तथा अन्य तरह के अनुदान दे कर स्थानीय निकाय मुख्य रूप से नगर निगमों के समूचित कार्य भी करता है। और यह राज्यों कि उचित स्वच्छता,सार्वजानिक सुविधाएं प्रदान करने, बुनयादी ढांचे कि देख-रेख का भी ख्याल रखता है। [यह भी पढ़ें- (Registration) मानव सम्पदा पोर्टल: ehrms.upsdc.gov.in छुट्टी के लिए आवेदन]

शहरी विकास विभाग के अन्य भाग-

  • शहरी परिवहन 
  • अमृत 
  • शहरी स्थानीय निकाय 
  • स्मार्ट सिटीजन 
  • जल निगम 
  • निर्माण और डिज़ाइन सेवायें 
  • नागरिक पर्यावरण अध्ययन हेतु क्षेत्रीय केंद्र 
  • उत्तर प्रदेश राज्य गंगा नदी संरक्षण प्राधिकरण

केंद्र और राज्य सरकार कि सभी योजनाओ और कार्यक्रमों कि योजनाओ के किर्यान्वयन की निगरानी, इन सभी राज्य शहरी विभागों द्वारा कि  जाती है।अगर आप उत्तर प्रदेश के शहरी विकास विभाग में जाना चाहते है, तो आप इस लिंक के urbandevelopment.up.nic.in माध्यम से जा सकते है। [यह भी पढ़ें- योगी योजना 2022: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकारी योजनाएं, Yogi Yojana List]

यूपी संभल पोर्टल पर उपलब्ध सेवाएं    

  • राज्य परियोजनाएं – राज्य सरकार कि अवसंरचना परियोजनाएँ 
  • कार्यक्रम – राज्य सरकार के कार्यक्रम/प्रमुख योजनाएं 
  • व्यक्तिगत शिकायते – विभिन्न राज्य सरकार के पोर्टलों से प्राप्त शिकायते 
  • नीतिगत मामले – विभागीय नीतियों से जुड़ी शिकायते और सुझाव 
  • विभागीय मुद्दे – ऊर्जा अथवा शहरी विभाग के भीतर काम करने से जुड़ी शिकायतें

यूपी संभव पोर्टल के लाभ एवं विशेषताएं 

  • उत्तर प्रदेश सरकार के शहरी एवं ऊर्जा मंत्री के द्वारा sambhav.up.gov.in पोर्टल की शुरुआत की गयी है, जिस पर प्रदेश के नागरिक अपनी शिकायत बिना किसी परेशानी के दर्ज कर सकते है। 
  • इस पोर्टल पर दर्ज किये गए सार्वजनिक शिकायतों का निवारण सम्बंधित अधिकारियों द्वारा जल्द से जल्द एवं प्रभावी ढंग से किया जायेगा। 
  • राज्य सरकार द्वारा आरम्भ की गयी यह पोर्टल सूचना और संचार प्रौद्योगिकी मंच के तौर पर कार्य करता है, जिसकी सहायता से नागरिकों द्वारा किये गए सार्वजनिक शिकायतों को सीधे तौर पर सम्बंधित अधिकारियों तक पहुँचाया जायेगा। 
  • इसके साथ ही सम्बंधित अधिकारियों को राज्य सरकार की इस पोर्टल पर अपनी प्रतिक्रिया और कार्रवाई रिपोर्ट के विवरण दर्ज करना अनिवार्य होगा। 
  • उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रारम्भ की गयी इस ऑनलाइन पोर्टल पर सम्बंधित अधिकारियों से सीधे तौर पर संपर्क करने हेतु वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग एवं टेली कॉन्फ्रेंसिंग की सुविधा भी उपलब्ध की गयी है। 
  • इस पोर्टल की सहायता से मुख्यमंत्री जनसुनवाई या एकीकृत शिकायत निवारण प्रणाली के अंतर्गत लंबित मामलों का भी समाधान किया जायेगा। 
  • UP Sambhav Portal स्थानीय सेवाओं हेतु वैश्विक प्रणाली के विभिन्न उदाहरणों में से एक उदाहरण है। इसके साथ ही पोर्टल की सहायता से प्रशासन की कार्यप्रणाली में पारदर्शिता भी आएगी। 
  • इस पोर्टल के ऑनलाइन उपलब्ध होने से प्रदेश के नागरिक घर बैठे अपनी शिकायतों को दर्ज कर सकते है, जिससे उनके पैसे एवं समय दोनों की बचत होगी। 

यूपी संभव पोर्टल पर आवेदन करने की प्रक्रिया

उत्तर प्रदेश के ऐसे इच्छुक नागरिक जो यूपी संभव पोर्टल पर अपनी शिकायत दर्ज करने हेतु आवेदन करना चाहते है, उन्हें निम्न दिशा-निर्देशों का पालन करना आवश्यक होगा:-

  • सबसे पहले आपको यूपी संभव पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।  अब आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुल कर आ जायेगा। 
UP Sambhav Portal
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको “आवेदन करें” के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा। इसके बाद आपके स्क्रीन पर एक नया पेज प्रदर्शित हो कर आ जायेगा। 
  • अब आपको इस नए पेज पर पूछी गयी सभी आवश्यक जानकारी के विवरण दर्ज कर देने होगें। इसके बाद आपको माँगी गयी सभी महत्त्वपूर्ण दस्तावेजों को अपलोड कर देना होगा। 
  • उसके बाद आपको “सबमिट” के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा। अब आप यूपी संभव पोर्टल पर आवेदन कर सकेंगे।

साइन इन करने की प्रक्रिया

राज्य के ऐसे इच्छुक नागरिक जो यूपी संभव पोर्टल पर साइन इन करना चाहते है, उन्हें निम्न प्रक्रियाओं का पालन करना अनिवार्य होगा:-

  • सबसे पहले आपको उत्तर प्रदेश संभव पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।  अब आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुल कर आ जायेगा। 
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको “साइन इन” के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा। इसके बाद आपके स्क्रीन पर एक डायलॉग बॉक्स प्रदर्शित हो कर आ जायेगा। 
साइन इन
  • अब आपको इस डायलॉग बॉक्स में पूछी गयी सभी आवश्यक जानकारी, जैसे:- यूजर नेम, पासवर्ड तथा कैप्चा कोड के विवरण दर्ज कर देने होगें। 
  • इसके बाद आपको “सबमिट” के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा, जिसके बाद आप UP Sambhav Portal पर साइन इन कर सकेंगे।

फीडबैक दर्ज करने की प्रक्रिया

यदि आप UP Sambhav Portal पर अपनी प्रतिक्रिया देना चाहते है, तो आपको निम्न प्रक्रियाओं का पालन करना होगा:-

  • सबसे पहले आपको sambhav.up.gov.in पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।  अब आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुल कर आ जायेगा। 
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको “राइट टू अस” के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा। इसके बाद आपके स्क्रीन पर एक नया पेज प्रदर्शित हो कर आ जायेगा। 
राइट टू अस
  • अब आपको इस नए पेज में पूछी गयी सभी आवश्यक जानकारी, जैसे:- नाम, ई मेल आईडी, मैसेज, कैप्चा कोड आदि के विवरण दर्ज कर देने होगें। 
  • इसके बाद आपको “सेंड मैसेज” के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा, जिसके बाद आप उत्तर प्रदेश संभव पोर्टल पर अपना फीडबैक दर्ज कर सकते है।

संपर्क करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको उत्तर प्रदेश संभव पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। अब आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुल कर आ जायेगा। 
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको “संपर्क” के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा। इसके बाद आपके स्क्रीन पर एक नया पेज प्रदर्शित हो कर आ जायेगा। 
संपर्क
  • अब आपको इस नए पेज पर अपनी ईमेल आईडी या मोबाइल नंबर के विवरण दर्ज कर देने होगें। इसके बाद आपको “जेनरेट ओटीपी” के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा। 
  • इसके बाद आपको प्राप्त ओटीपी को ओटीपी बॉक्स में दर्ज कर देना होगा। अब आपको “प्रोसीड”  के विकल्प पर क्लिक करना होगा, जिसके बाद आप संपर्क विवरण देख सकते है। 

Leave a Comment