प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना 2021: (PMKMY) किसान पेंशन योजना फॉर्म

पीएम किसान मानधन योजना आवेदन प्रक्रिया | Pradhanmantri Kisan Mandhan Yojana Apply | किसान पेंशन योजना | किसान मानधन स्कीम पीएम आवेदन फॉर्म | Kisan Pension Yojana | प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना 2021

हमारे देश भारत के सभी छोटे से छोटे सीमांत किसानों को बुढ़ापे में बेहतर जीवन यापन हेतु पेशन प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना 2021 के माध्यम से दी जाएगी। इस PMKMY योजना में लाभार्थी को 3000 रुपए तक की राशि प्रतिमाह पेंशन के रूप में दी जाएगी। इस लेख में हम आपको Pradhanmantri Kisan Mandhan Yojana 2021 से जुडी सम्पूर्ण जानकारी देने वाले है। यदि आप इस योजना में आवेदन करना चाहते है तब इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े। आर्टिकल में बताया जायगा कि किसान मानधन योजना 2021 का आवेदन कहा से तथा कैसे करे ?उद्देश्य क्या है ?, लाभ क्या -क्या मिलेंगे। आदि, की जानकारी दी जायगी। [यह भी पढ़ें- प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन पेंशन योजना: PMSYM Registration 2021, ऑनलाइन आवेदन]

Pradhanmantri Kisan Mandhan Yojana 2021

केंद्र सरकार की इस स्कीम में किसानों को 55 रुपये से 200 रुपये तक मासिक अंशदान करना होता है, जो किसान की उम्र पर निर्भर है अगर 18 साल की उम्र में जुड़ते हैं। तो मासिक अंशदान 55 रुपये हर महीने हो वहीं अगर 30 साल की उम्र में इस योजना से जुड़ते हैं तो 110 रुपये हर महीने अंशदान करना होगा। इसी तरह अगर आप 40 की उम्र में जुड़ते हैं तो 200 रुपये महीना योगदान करना होगा। केंद्र सरकार की इस स्कीम में किसानों को 55 रुपये से 200 रुपये तक मासिक अंशदान करना होता है, जो किसान की उम्र पर निर्भर है अगर 18 साल की उम्र में जुड़ते हैं। [यह भी पढ़ें- पीएम मोदी Health ID Card 2021: One Nation One Health Card, ऑनलाइन आवेदन]

प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना 2021

किसान सूर्योदय योजना

PM Kisan Mandhan Yojana 2021 Highlights

योजना का नामप्रधामंत्री किसान मानधन योजना
इनके द्वारा शुरू की गयीकेंद्र सरकार द्वारा
लाभार्थीछोटे और सीमांत किसान
उद्देश्यपेंशन प्रदान करना
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन
ऑफिसियल वेबसाइटhttps://maandhan.in/

प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना 2021 प्रीमियम का भुगतान

प्रधानमंत्री दुवारा चलाई गयी इस योजना का लाभ 60 की आयु पूरी होने पर उठा सकते है। इस किसान मानधन योजना का लाभ उन लाभार्थियों को भी दिया जायेगा जिसके पास 2 हेक्टेयर या इससे कम की कृषि योग्य भूमि होगी। इस योजना के तहत अगर लाभ प्राप्त करने वाले लाभार्थी की किसी कारण वश मृत्यु हो जाती है तो लाभार्थी की पत्नी को प्रतिमाह 1500 रूपये दिए जायेगे। किसान मानधन योजना 2021 के तहत लाभार्थी का बैंक अकॉउंट होना चाहिए तथा बैंक अकॉउंट आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए। इस योजना के अंतर्गत बुढ़ापे में दी जाने वाली धनराशि सीधे लाभार्थी के बैंक अकॉउंट में पंहुचा दी जाएगी। [यह भी पढ़ें- (List) Free Ration Card Apply Online: फ्री राशन कार्ड एप्लीकेशन फॉर्म]

कौन इस योजना के पात्र नहीं हो सकते?

इस के अंतर्गत निम्नलिखित भारत वासी किसानो को लाभ नहीं दिया जायेगा, जो इस प्रकार है –

  • सभी संस्थागत भूमि धारक
  • संवैधानिक पदों के पूर्व और वर्तमान धारक
  • पूर्व और वर्तमान मंत्रियों/राज्य मंत्रियों और लोकसभा/राज्यसभा/ रज्य विधानसभाओं / राज्य विधान परिषदों के पूर्व/वर्तमान सदस्य, नगर निगमों के पूर्व और वर्तमान महापौर, जिला पंचायतों के पूर्व और वर्तमान अध्यक्ष।
  • केंद्रीय/ राज्य सरकार के मंत्रालयों/ कार्यालयों/ विभागों और उनकी फील्ड इकाइयों, केंद्र या राज्य के सार्वजनिक उपक्रमों और संलग्न कार्यालयों/ सरकार के साथ-साथ स्थानीय निकायों के नियमित कर्मचारियों के सभी सेवारत या सेवानिवृत्त अधिकारी और कर्मचारी। IV / ग्रुप डी कर्मचारी)।

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन पेंशन योजना

  • सभी व्यक्ति जिन्होंने पिछले मूल्यांकन वर्ष में आयकर का भुगतान किया था।
  • पेशेवर जैसे डॉक्टर, इंजीनियर, वकील, चार्टर्ड अकाउंटेंट, और आर्किटेक्ट पेशेवर निकायों के साथ पंजीकृत थे और अभ्यास करके पेशे को पूरा करते थे।

किसान मानधन योजना 2021 के मुख्य तथ्य

  • प्रधानमंत्री दुवारा चलाई गयी इस योजना का लाभ 60 की आयु पूरी होने पर उठा सकते है।
  • इस योजना के तहत अगर लाभ प्राप्त करने वाले लाभार्थी की किसी कारण वश मृत्यु हो जाती है तो लाभार्थी की पत्नी को प्रतिमाह 1500 रूपये दिए जायेगे।
  • योजना से जुड़ने के बाद सब्सक्राइबर 10 साल से पहले ही एग्जिट करता है तो उसने योजना में जितना भी पैसा जमा कराया है, वह बचत बैंक दर पर ब्याज जोड़कर मिल जाएगा।
  • इस किसान मानधन योजना का लाभ उन लाभार्थियों को भी दिया जायेगा जिसके पास 2 हेक्टेयर या इससे कम की कृषि योग्य भूमि होगी।
  • केंद्र सरकार की इस स्कीम में किसानों को 55 रुपये से 200 रुपये तक मासिक अंशदान करना होता है, जो किसान की उम्र पर निर्भर है अगर 18 साल की उम्र में जुड़ते हैं।
  • केंद्र सरकार की इस स्कीम में किसानों को 55 रुपये से 200 रुपये तक मासिक अंशदान करना होता है, जो किसान की उम्र पर निर्भर है अगर 18 साल की उम्र में जुड़ते हैं।
  • बाहर निकलने पर उसे जमा की गई राशि के साथ अर्जित ब्याज इंटरेस्ट रेट की दर से जोड़कर धनराशि मिलेगी।

पीएम किसान मानधन योजना 2021

इस योजना के तहत अगर लाभ प्राप्त करने वाले लाभार्थी की किसी कारण वश मृत्यु हो जाती है तो लाभार्थी की पत्नी को प्रतिमाह 1500 रूपये दिए जायेगे। केंद्र सरकार की इस स्कीम में किसानों को 55 रुपये से 200 रुपये तक मासिक अंशदान करना होता है, जो किसान की उम्र पर निर्भर है अगर 18 साल की उम्र में जुड़ते हैं। सब्सक्राइबर की मृत्यु या काम करने में असक्षम होने के बाद उसके जीवनसाथी को योजना जारी रखने का अधिकार होगा। इसके अलावा अगर जीवनसाथी चाहे तो योजना से बाहर निकलने का फैसला ले सकता है। बाहर निकलने पर उसे जमा की गई राशि के साथ अर्जित ब्याज या सेविंग बैंक इंटरेस्ट रेट की दर से ब्याज जोड़कर धनराशि मिलेगी। [यह भी पढ़ें- पीएम किसान सम्मान निधि सुधार 2021: PM Kisan Correction Update]

प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना 2021 का उद्देश्य

काम करने वाले लोग इतना पैसे नहीं बचा पाते कि किसी पेंशन स्कीम या अन्य स्कीम में पैसा लगा कर अपना भविष्य बेहतर कर सकें। भविष्य बेहतर करने के लिए शुरू से ही सरकार द्वारा इस प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना के शुरू हो जाने से ये सपना पूरा हुआ। अगर योजना से जुड़ने के बाद सब्सक्राइबर 10 साल से पहले ही एग्जिट करता है तो उसने योजना में जितना भी पैसा जमा कराया है, वह बचत बैंक दर पर ब्याज जोड़कर मिल जाएगा। [यह भी पढ़ें- प्रधानमंत्री मुद्रा योजना 2021: ऑनलाइन फॉर्म | Mudra Loan Yojana Registration]

पेंशन योजना छोड़ने के लाभ

यदि योजना से जुड़ने के बाद सब्सक्राइबर 10 साल से पहले ही एग्जिट करता है तो उसने योजना में जितना भी पैसा जमा कराया है, वह बचत बैंक दर पर ब्याज जोड़कर मिल जाएगा। यदि कोई पात्र ग्राहक उसके द्वारा योजना में शामिल होने की तिथि से दस वर्ष या उससे अधिक की अवधि पूरी होने के बाद बाहर निकलता है। लेकिन उसकी साठ वर्ष की आयु से पहले, तो उसके अंशदान की राशि उसके साथ ही उसे वापस लौटाई जाएगी। [यह भी पढ़ें- नाबार्ड योजना 2021: डेयरी फार्मिंग योजना ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म]

क्योंकि उसके पास वास्तव में संचित ब्याज है। पेंशन फंड या बचत बैंक की ब्याज दर से अर्जित किया गया, जो भी अधिक हो। सब्सक्राइबर अगर 10 साल के बाद और 60 साल की उम्र पूरी होने से पहले योजना से बाहर आते हैं। तो सब्सक्राइबर ने जितना पैसा जमा किया है, बाहर निकलने पर उसे जमा की गई राशि के साथ अर्जित ब्याज इंटरेस्ट रेट की दर से जोड़कर धनराशि मिलेगी। [यह भी पढ़ें- Mera Ration App: वन नेशन वन राशन कार्ड, लाभ व विशेषताएं, डाउनलोड लिंक]

किसान पेंशन योजना 2021 के दस्तावेज़ (पात्रता)

यदि आप भी इस में आवेदन करना चाहते है, तब आपके पास नीचे लिखे हुए डाक्यूमेंट्स होने चाहिए यदि आपके पास इनमे से कोई एक डॉक्यूमेंट भी नहीं है तब आप इस योजना का लाभ नहीं उठा है।

  • राशन कार्ड 
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • पहचान पत्र  
  • मोबाइल नंबर 
  • खेत की खसरा खतौनी
  • आय प्रमाण पत्र  
  • आवेदक का आधार कार्ड
  • देश के छोटे सीमांत किसानों को इस योजना का तहत पात्र माना जायेगा।
  • किसान भाई के पास 2 हेक्टेयर या इससे कम की कृषि योग्य भूमि होनी चाहिए |
  • आवेदक को आयु 18 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

पीएम किसान मानधन योजना 2021 के लिए आवेदन कैसे करे?

राज्य के वे लोग जो ऑनलाइन पीएम किसान मानधन योजना में अपना आवेदन करना चाहते है तो बहुत आसानी से कर सकते है उसके लिए नीचे लिखे स्टेप को फॉलो करे।

  • आपको नजदीकी जन सेवा केंद्र में उपरोक्त लिखे ज़रूरी दस्तावेज़ों को ले कर जाना होगा।
  • इसके बाद आपको अपने सभी दस्तावेज़ों को VLE को देना होगा और ग्राम स्तर उद्यमी (VLE )को एक निश्चित राशि का भुगतान करना होगा |
  • फिर VLE आधार कार्ड को आपके आवेदन पत्र से जोड़ेगा और व्यक्तिगत विवरण तथा बैंक विवरण भरेगा।  फिर सब्सक्रइबर की आयु के अनुसार देय मासिक अंशदान की ऑटो गणना की जाएगी। 
  • नामांकन सह ऑटो डेबिट जनादेश प्रपत्र मुद्रित किया जायेगा और आगे ग्राहक से हस्ताक्षरित किया जायेगा। फिर VLE उसी को स्केन करके अपलोड करेगा।
  • फिर किसान पेंशन खता संख्या उत्पन्न की जाएगी और किसान कार्ड मुद्रित किया जायेगा।

Leave a Comment