(रजिस्ट्रेशन) राजीव गांधी किसान न्याय योजना: CG Nyay Yojana, ऑनलाइन आवेदन

किसान न्याय योजना आवेदन | छत्तीसगढ़ राजीव गांधी किसान न्याय योजना फॉर्म | Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana Application | राजीव गांधी किसान न्याय योजना रजिस्ट्रेशन | राजीव गांधी किसान न्याय योजना 2021

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी ने किसानों को उनकी धान की फसल पर लाभ देने के लिए एक नई योजना को निकाला है। इस योजना नाम राजीव गांधी किसान न्याय योजना 2021 है। इस योजना को शुरू करने की घोषणा वित्त मंत्री द्वारा विधानसभा में 2020-21 का बजट पेश करते हुए की गई। CG Nyay Yojana 2021 के तहत सरकार द्वारा किसानों को धान के ठीक मूल्य के अंतर की राशि दी जाएगी। तो दोस्तों आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के अंतगर्त Kisan Nyay Yojana 2021 से जुड़ी सभी जानकारी बताने जा रहे हैं जैसे इस योजना का लाभ क्या है, Kisan Nyay Yojana उद्देश्य क्या है, इसकी आवेदन के लिए पात्रता क्या है और आवेदन की प्रक्रिया क्या है। आपसे अनुरोध है कि किसान न्याय योजना से जुड़ी सभी जानकारी लेने के लिए हमारे इस आर्टिकल को विस्तार से पूरा पढ़ें। [यह भी पढ़े- (पंजीकरण) छत्तीसगढ़ पढ़ई तुंहर दुआर पोर्टल: Padhai Tuhar Dwar Registration]

Table of Contents

Kisan Nyay Yojana 2021

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी के द्वारा राजीव गांधी किसान न्याय योजना के अंतगर्त किसानों को उनकी फसल पर ठीक मूल्य की राशि देने के लिए शुरू किया गया है। सरकार द्वारा Kisan Nyay Yojana के लिए 5100 करोड़ रुपए बजट तैयार किया गया है। इस योजना को विधानसभा द्वारा मंजूरी मिलते ही शेष राशि देने के लिए प्रक्रिया को आरम्भ करा गया है। किसान न्याय योजना ऐसीका लाभ प्रदेश के प्रत्येक किसान को दिया जाएगा। अगर आप भी Kisan Nyay Yojana 2021 का लाभ लेना चाहते हैं तो आपको इस योजना के तहत पंजीकरण करवाना होगा। राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत राज्य के किसानों की आर्थिक स्थिति में बहुत सुधार आएगा। [यह भी पढ़े- [रजिस्ट्रेशन] छत्तीसगढ़ बेरोजगारी भत्ता 2021| CG Berojgari, ऑनलाइन आवेदन]

राजीव गांधी किसान न्याय

गोधन न्याय योजना छत्तीसगढ़

राजीव गांधी किसान न्याय योजना के मुख्य तथ्य

योजना का नामराजीव गांधी किसान न्याय योजना
किसके द्वारा शुरू की गईछत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी के द्वारा
आरंभ वर्षवर्ष 2020
योजना का उद्देश्यकिसानों को धान की अंतर की राशि प्रदान करना
योजना का लाभआर्थिक स्थिति में सुधार आना
कुल बजट5100 करोड़ रुपए
आवेदन के लिए पात्रताऑनलाइन/ ऑफलाइन
आधिकारिक वेबसाइटअभी आरंभ नहीं की गई

CG Kisan Nyay Yojana New Update

हम सब लोग जानते हैं कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में यह योजना 21 मई 2020 से शुरू की गई है, और इसके बाद इस योजना के तहत आवेदन की प्रक्रिया शुरू करने का प्रावधान किया जाएगा। इस योजना के तहत धान, मक्का और गन्ना (रबी) फसलों के लिए इनपुट सहायता राशि राज्य सरकार द्वारा खरीफ 2019 में पंजीकृत और अधिग्रहित क्षेत्र के आधार पर किसानों के खाते में हस्तांतरित की जाएगी। इसके अनुसार राजीव गांधी किसान न्याय योजना, छत्तीसगढ़ राज्य सरकार द्वारा राज्य के 20 लाख किसानों को सीधे बैंक में लाभ प्रदान किया जाएगा। इस योजना के तहत राज्य सरकार ने 5700 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है. छत्तीसगढ़ राज्य सरकार द्वारा किसानों के खातों में 5700 करोड़ रुपये सीधे चार किश्तों में ट्रांसफर किये जायेंगे, जिसके लिए मुख्यमंत्री जिले के सभी किसान भाइयों और कांग्रेस परिवार की ओर से आभारी हैं। [यह भी पढ़े- छत्तीसगढ़ सौर सुजला योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन, Saur Sujala रजिस्ट्रेशन फॉर्म]

छत्तीसगढ़ राजीव गाँधी न्याय योजना बजट

छत्तीसगढ़ राज्य सरकार ने बताया की राजीव गांधी किसान न्याय योजना के माध्यम से राज्य के गरीब किसानों को प्रदान की जा रही इनपुट सब्सिडी के द्वारा छत्तीसगढ़ में कृषि में काफी सुधार हो रहा है, और राज्य सरकार के माध्यम से इस योजना का दायरा भी खरीफ सीजन 2021 से बढ़ा दिया है। इसमें धान के साथ-साथ अन्य खरीफ फसलें भी शामिल हैं। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना 2021 के प्रावधानों की विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि इस योजना के तहत भूमिहीन मजदूरों को वर्ष 2021-22 के बजट में शामिल किया गया है, और जिन्हें हर साल निश्चित राशि प्रदान की जाएगी। राज्य सरकार द्वारा इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी ने कोविड संक्रमण की दूसरी लहर की रोकथाम के लिए उठाए गए कदमों, पीड़ितों के इलाज और राज्य में जरूरतमंदों की मदद के बारे में विस्तार से जानकारी ली, और राज्य सरकार ने इस योजना के तहत 17 लाख किसानों का कर्ज माफ किया है और इसके साथ ही यह भी बताया है की हम राज्य के गरीब नागरिको के लिए और किसानो को सहायता प्रदान करने के लिए इसी तरह की योजनाए आरम्भ करते रहेंगे। [यह भी पढ़े- (पंजीकरण) खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन, पात्रता जानकारी]

राजीव गांधी किसान न्याय योजना पंजीकरण की तारीख

छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा शुरू की गई राजीव गांधी किसान न्याय योजना का लाभ प्राप्त करने वाले इच्छुक लाभार्थियों को 30 नवंबर 2020 से पहले अपना पंजीकरण कराना होगा, और आपके द्वारा रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद आपको इस राजीव गांधी किसान न्याय योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए अगले साल का इंतजार करना होगा। कृषि विकास किसान कल्याण विभाग के माध्यम से राजीव गांधी किसान न्याय योजना से संबंधित सभी आवश्यक दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं। विभाग ने उन सभी से संबंधित जानकारी उपलब्ध करा दी है, जिन्हें पंजीकरण कराना है। लाभ की राशि सभी पात्र किसानों के बैंक खाते में सीधे बैंक हस्तांतरण के माध्यम से प्रदान की जाएगी। नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग द्वारा धान एवं मक्का की फसलों की खरीद के लिए पंजीयन किया जा रहा है। [यह भी पढ़े- [पंजीकरण] छत्तीसगढ़ पौनी पसारी योजना 2021: CG Pauni Pasari ऑनलाइन आवेदन]

राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत बजट की नयी घोषणाएं

राजीव गांधी किसान न्याय योजना 2021 को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा शुरू किया गया है। इस योजना 2021 के तहत सरकार ने 18000 किसानों के खातों में 1500 करोड़ रुपये का लाभ पहुचाएगी। यह 5750 करोड़ रुपये की पहली किस्त थी। इस योजना के तहत सरकार का लक्ष्य राज्य में एक रवि और 13 खरीफ सीजन की फसल उगाने वाले किसानों को न्यूनतम आय उपलब्धता सुनिश्चित करना है। इसके अलवा, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी ने राशि को बढ़ते हुए यह भी बताया है की राजीव गांधी किसान न्याय योजना के द्वारा राशि का बजट अब 5700 करोड़ रुपए से बढ़ाकर 5750 करोड़ तक होगा। छत्तीसगढ़ के मुख्य मंत्री भूपेश बघेल जी ने कहा कि, इस योजना के माध्यम से राज्य के 19 लाख किसानों को इस साल 5750 करोड़ रूपये का लाभ दिया जाएगा। [यह भी पढ़े- छत्तीसगढ़ राशन कार्ड लिस्ट 2021- CG Ration Card List | नई सूची डाउनलोड]

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana New Update    

छत्तीसगढ़ के मुख्य मंत्री जी द्वारा शुरू की गई राजीव गांधी किसान योजना के तहत राज्य सरकार के मध्यम से लगभग 5100 करोड़ रुपए के बजट की घोषणा की गई है। राज्य सरकार ने इस योजना के द्वारा सहायता राज्य के किसानों को देने की घोषणा की है। रांची के लघु एवं सीमांत किसानों को उन सभी की फसलों को बेचने के लिए उचित भाग मिले इसके लिए राज्य सरकार के माध्यम से राज्य के योग्य उम्मीदवारों को राशि लाभ उन सभी के सीधे बैंक के खाते में ट्रांसफर किया जाएगा, और राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और वित्त मंत्री के माध्यम से विधानसभा में इस Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana को शुरू कर दिया गया था अभी राज्य सरकार ने इस योजना का द्वारा लाभ राज्य के किसानों को प्रदान करना शुर कर दिया है, इसके अलवा राज्य सरकार के माध्यम से 3 मार्च 2020 को योजना की घोषण कर दी गई थी। [यह भी पढ़े- (पंजीकरण) महतारी दुलार योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन, पात्रता एवं लाभ]

राजीव गांधी किसान न्याय योजना के लिए एक जून से शुरू होगा पंजीयन

छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा राजीव गांधी किसान न्याय योजना को आरम्भ करने की घोषणा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व वित्त मंत्री के माध्यम से विधानसभा में साल 2020 -21 के बजट के दौरान हुई थी। Rajiv Gandhi Kisan Nyay Scheme के तहत छत्तीसगढ़ राज्य के किसानो को उनकी धान की फसल को लाभ देने के उदेश्य से यह योजना आरम्भ की गयी थी । इस योजना के द्वारा राज्य के किसानो को धान के समर्थन मूल्य के अंतर की राशि का फायदा प्रदान करेगी। छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा आप इस योजना लाभ सभी श्रेणी के भू-स्वामी और वन पट्टा धारी किसान लेने के लिए 1 जून से लेकर 30 सितंबर तक अपना पंजीयन करा सकते हैं, और इस योजना के तहत पंजीयन की प्रक्रिया पोर्टल के माध्यम से की जाएगी। [यह भी पढ़े- छत्तीसगढ़ शक्ति स्वरूप योजना 2021: CG Shakti Swarupa, ऑनलाइन आवेदन]

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Scheme New Update

राजीव गांधी किसान न्याय योजना का लाभ छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा जिले के उन किसानों को दिया जा रहा है जो पिछले वर्ष से राज्य सरकार के महत्वपूर्ण समर्थन मूल्य पर धान खरीद योजना के तहत धान बेचते हैं। छत्तीसगढ़ राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी ने इस साल 21 मई को राजीव गांधी किसान न्याय योजना की पहली किस्त आरटीजीएस के माध्यम से जिले भर के 1,09174 किसानों को देंगे। सरका द्वारा सहकारिता विभाग के माध्यम से ली गई जानकारी के अनुसार 109174 छत्तीसगढ़ के किसानों के खातों में पहली किश्त के रूप में 69 करोड़ 66 लाख 46 हजार रुपये दिए गए है। [यह भी पढ़े- (रजिस्ट्रेशन) राजीव गांधी किसान न्याय योजना: CG Nyay Yojana, ऑनलाइन आवेदन]

राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत उप समिति की बैठक

छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य के लोगो को देने के लिए राजीव गांधी किसान न्याय योजना 21 मई 2020 को आरम्भ की थी। इस योजना के तहत अभी तक राज्य सरकार ने किसानों को चार किश्तों की राशि का लाभ दिया है, इसके अलावा उप समिति की बैठक में राजीव गांधी किसान न्याय योजना का दायरा बढ़ाने के बारे में विस्तार से चर्चा की है। छत्तीसगढ़ की इस बैठक के चलते राज्य सरकार ने निर्णय लिया है राज्य के किसानो कि खरीफ सीजन 2021 में धान, गन्ना, मक्का, दलहन, तिलहन, कोदो-कुटकी, रागी, रामतिल आदि की खेती करने वाले किसानों और 14 फसलों के किसानों को दर पर इनपुट सहायता दी जाएगी। इस योजना के तहत ₹ 10000 प्रति एकड़ मिलेंगे। इस Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana के द्वारा राज्य की फसलों की खेती के लिए इनपुट सहायता प्रदान करने का प्रस्ताव कृषि विभाग के मध्य से तैयार किया जाएगा। [यह भी पढ़े- (आवेदन) गोधन न्याय योजना छत्तीसगढ़: CG Godhan Nyay, रजिस्ट्रेशन फॉर्म]

  • छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा इस योजना के लिए यह फैसला लिया गया है, की इस वर्ष छत्तीसगढ़ सरकार ने 20 लाख 53 हजार किसानों से 92 लाख मीट्रिक टन धान की खरीद की है। छत्तीसगढ़ सरकार के अनुसार राज्य किसानों को सरकार द्वारा ₹10000 प्रति एकड़ की इनपुट सहायता मिलेगी।
  • इस योजना के तहत मुख्यमंत्री द्वारा 7 मई 2021 को यह वर्चुअल बैठक कृषि एवं जल संसाधन मंत्री राजेश चौबे की अध्यक्षता में दोपहर 3:00 बजे से आयोजित की जाएगी। इस बैठक में सहकारिता मंत्री डॉ प्रेमसाई सिंह टेकम, उर्वरक मंत्री अमरजीत भगत, वन, आवास एवं परिवहन मंत्री मोहम्मद अकबर आदि मौजूद रहेंगे.
  • छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा इस वर्ष राजीव गांधी किसान न्याय योजना के लिए एक प्रस्ताव तैयार करने का फैसला लिया है, जिसके द्वारा संचार के लिए एक वर्चुअल बैठक आयोजित की जाएगी और बैठक में कैबिनेट उप समिति मौजूद रहेगी.

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana मेंदी जाने वाली धनराशि

छत्तीसगढ़ सरकार के माध्यम इस राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत छत्तीसगढ़ के सभी किसानों को खरीफ धान और मक्का जैसी फसलों पर राज्य सरकार के तहत 10,000 रुपये प्रति एकड़ की दर से आर्थिक सहायता मिलेगी। छत्तीसगढ़ के लगभग 19 लाख किसान इस योजना से लाभान्वित होंगे। छत्तीसगढ़ सरकार के माध्यम से CG Nyay Yojana के तहत राज्य के किसानों को 18 लाख 34 हजार धान की फसल के लिए 834 किसानों को पहली किश्त के रूप में 1500 करोड़ रुपये की राशि मिलेगी। राज्य सरकार द्वारा इस योजना के तहत छत्तीसगढ़ के लगभग 19 लाख किसानों को पेराई वर्ष 2019-20 में गन्ना फसल के लिए सहकारी कारखाने द्वारा खरीदे गए गन्ने की मात्रा के आधार पर, एफआरपी राशि 261 रुपये प्रति क्विंटल और प्रोत्साहन और सहायता राशि है 93.75 रु. प्रति क्विंटल यानी अधिकतम 355 रुपये प्रति क्विंटल सरकार की ओर से भुगतान किया जाएगा। [यह भी पढ़े- छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री ज्ञान प्रोत्साहन योजना: Mukhyamantri Gyan Protsahan Yojana Form]

धान उत्पादक किसानों को दिया जाएगा 5837 करोड रुपए का लाभ

राजीव गांधी किसान न्याय योजना को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी ने आरम्भ किया है। इस योजना के तहत राज्य के किसानो के धान की फसल में लाभ दिया जाएगा। मुख्यमंत्री जी ने इस योजना के तहत 18 मई 2021 को निवास कार्यालय से एक मंत्रिपरिषद की बैठक का आयोजन किया था। इस बैठक वर्चुअल में आयोजित की गई थी, राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत राज्य सरकार ने बैठक के दौरान इस योजना के लिए कई तरह के फेसलो की घोषणा की हैं, इसके आलावा राज्य सरकार ने बैठक में मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना को शुरू करने का भी फैसला लिया है। राज्य के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी ने यह कहा है कि इस योजना के माध्यम से किसानों को 5837.40 करोड रुपए की धनराशि 4 किस्तों में प्रदान होगी। Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana के द्वारा मिलने वाली राशि फसल के पंजीकरण किसानों और धान बीज उत्पादक किसानों को ही दी जाएगी। [यह भी पढ़े- CG Rajiv Nagar Awas Yojana 2021: छत्तीसगढ़ राजीव नगर आवास योजना ऑनलाइन]

राजीव गांधी किसान न्याय योजना दूसरी किस्त

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी ने विधानसभा के अन्य सभी कैबिनेट सदस्यों के साथ 20 अगस्त को लाभार्थियों के लिए राजीव गांधी किसान न्याय योजना की दूसरी किस्त की लिस्ट जारी की है। इस योजना तहत किस्त की राशि राज्य के 19 लाख लाभार्थियों को प्रदान की जाएगी। राज्य सरकार के द्वारा इस योजना के माध्यम से मिलने वाली क़िस्त को 1500 रुपये लाभार्थियों के सीधे बैंक खाते में ट्रांसफर की जाएगी। [यह भी पढ़े- (Rs. 5000) CG Kaushalya Maternity Scheme 2021: कौशल्या मातृत्व योजना, Apply Online]

किसान न्याय योजना तीसरी किस्त

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी ने 21वे स्थापना दिवस के शुभ अवसर पर तीसरी किस्त प्रदान करने का आदेश दिया गया है। राजीव गांधी किसान न्याय योजना के द्वारा अभी तक 18 लाख 38 हजार किसानों को लाभ प्रदान किया जा चुका है। और इस योजना के अंतगर्त तीसरी किस्त के लिए सरकार द्वारा 1500 करोड़ रुपए की राशि निर्धारित कर दी है। इस योजना के तहत अभी तक 1500 करोड़ रुपए की दो किश्तों का भुगतान करा जा चुका है। Kisan Nyay Yojana के द्वारा कुल चार किस्ते दी जाएंगी। जिससे किसानों की आर्थिक जीवन में बहुत सुधार आएगा। Kisan Nyay Yojana के तहत उपस्थित नागरिको में से 9,55,531 सीमांत कृषक है, 5,61,523 लघु कृषक है तथा 3,21,538 दीर्घ कृषक हैं। [यह भी पढ़े- (पंजीकरण) तुहर सरकार तुहर द्वार योजना: parivahan.gov.in ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन]

राजीव गांधी किसान न्याय योजना की चौथी किस्त

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री जी ने  21 मार्च 2021 को Kisan Nyay Yojana के तहत चौथी किस्त आरम्भ कर दी है। 1104 करोड़ 27 लाख रुपए की कृष्ण लगभग 18 लाख 53 हजार पात्र किसानों को शुरू की गई है। अभी तक इस योजना के द्वारा 4500 करोड़ रुपए का भुगतान किया जा चुका है। Kisan Nyay Yojana के तहत 1500 करोड़ रुपए की पहली किस्त 21 मई 2020 को दी गई थी, 1500 करोड़ रुपए की दूसरी किस्त 20 अगस्त 2020 को प्रदान की गई थी, राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत 1500 रुपए की तीसरी किस्त नवंबर 2020 में दी  गई थी और राजीव गांधी किसान न्याय योजना की आखिरी में चौथी किस्त 21 मार्च 2021 को नागरिको के बैंक अकाउंट में हस्तांतरित की गई। [यह भी पढ़े- छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन, प्रोत्साहन राशि]

किसान न्याय योजना का उद्देश्य

जैसे कि हम सभी जानते हैं कि हमारे देश के किसानों को नया मूल्य न मिलने पर बहुत कमजोर आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है और ऐसे में वह अपने परिवार का खाना पीना ठीक से नहीं कर पाते हैं। इन सभी बातो को ध्यान में रखते हुए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री जी के द्वारा इस योजना को शुरू किया गया है। इस योजना के अंतगर्त किसानों को उनकी धान पर समर्थन राशि दी जाएगी। जिससे उनके आर्थिक जीवन में बहुत सुधार आएगा। राजीव गांधी किसान निधि योजना के अंतगर्त राज्य के किसान सशक्त व आत्मनिर्भर बनेंगे तथा उन्हें आर्थिक परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा। [यह भी पढ़े- (election.cg.nic.in) छत्तीसगढ़ वोटर लिस्ट 2021: CG Voter List, मतदाता सूची]

Kisan Nyay Yojana

प्रधान मंत्री की अन्य सरकारी योजनाएँ :-

किसान न्याय योजना पंजीकरण की सीमा में बढ़ोतरी

सरकार द्वारा इस योजना के तहत पंजीकरण की सीमा को बढ़ा दिया गया है। इस योजना के तहत पहले पंजीकरण करने की अंतिम तिथि 31 जनवरी 2021 थी जिसे कृषि विकास किसान कल्याण एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा बढ़ाकर 28 फरवरी 2021 कर दिया गया है। राज्य के जो भी नागरिको ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के द्वारा अभी तक पंजीकरण नहीं करा है वह जल्दी से जल्दी राजीव गांधी किसान न्याय योजना पंजीकरण करवा सकते हैं। पंजीकरण के लिए खाद्य विभाग द्वारा पंजीकृत किसानों का डाटा की जांच की जाएगी। जांच के बाद उपार्जित मात्रा के आधार पर अनुपातिक रकबा की जानकारी देकर सहायता राशि दी जाएगी। 77 सहकारी शक्कर कारखाने की पंजीकृत रकबा की गणना की जाएगी। जिससे उन्हें अनुदान सहायता राशि दी जा सके। CG Nyay Yojana के द्वारा धान मक्का गन्ना को छोड़कर सोयाबीन तेल अरहर मूंगफली मूंग उड़द  कोदो कुटकी कुलथी रात तिल तथा रबी फसल के लिए अनुदान राशि दी जाएगी। [यह भी पढ़े- छत्तीसगढ़ भुइयां | भू अभिलेख, डिजिटल हस्ताक्षरित भू-नक्शा B1 खसरा, पी-II (CG Bhuiya)]

पंजीकरण के लिए कुछ महत्वपूर्ण दिशा निर्देश

  • राज्य के सभी पंजीकृत किसानों को इस योजना के नियम मान्य किया जाएगा और दूसरी फसलों के लिए राजस्व विभाग द्वारा एक पोर्टल भी शुरू किया जाएगा। जिसके द्वारा एरिया वाइज फ्रॉक प्राइस कवरेज की जाएगी
  •  मक्का धान तथा गन्ना के उत्पादक किसानों को छोड़कर अन्य फसलों के सारे किसानो को राशि दी जाएगी।
  • एग्रीकल्चर एक्सटेंशन अधिकारी द्वारा पंजीकरण पत्र की जांच की जाएगी जिसके बाद किसानों को अपना पंजीकरण कोऑपरेटिव सोसाइटी में करवाना होगा और वहां फॉर्म सारे दस्तावेजों के साथ जमा कराना होगा
  • राजीव गांधी किसान न्याय योजना का लाभ उन्हीं फसलों पर दिया जायेग। जिनकी जानकारी दिशानिर्देश में दी गई है।

किसान न्याय योजना के लाभ एवं विशेषताएं

  • छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री जी के द्वारा 2020 में इस योजना को शुरू किया गया
  • छत्तीसगढ़ किसान न्याय योजना के द्वारा किसानों को उनके धान पर नया मूल्य राशि दिया जायेगा।
  • इस राशि के अंतगर्त उन्हें किसी परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा।
  • इससे उनके आर्थिक जीवन में भी अच्छा सुधार आएगा
  • इस योजना के अंतगर्त किसानों की आय में वृद्धि होगी।
  • छत्तीसगढ़ किसान न्याय योजना का लाभ केवल राज्य के खेती करने वाले किसान ही ले सकते हैं
  • इस योजना के तहत अभी केवल धान गन्ना और मक्का के किसानों को ही जोड़ा गया हैं।
  • Kisan Nyay Yojana के अंतगर्त छत्तीसगढ़ के किसान सशक्त व आत्मनिर्भर बनेंगे।
  • उन्हें अपने जीवन में परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा।

Kisan Nyay Yojana के लिए जरूरी दस्तावेज एवं पात्रता

  • धारक छत्तीसगढ़ का स्थाई निवासी होना आवश्यक है
  • केवल किसानों को ही किसान निधि योजना का लाभ दिया जाएगा
  • किसानों के पास खुद का बैंक खाता होना आवश्यक है
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर

राजीव गांधी किसान न्याय योजना में आवेदन कैसे करें?

ऑनलाइन आवेदन

  • सबसे पहले, आपको राजीव गांधी किसान न्याय योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • होम पेज पर आपको छत्तीसगढ़ राजीव गांधी किसान न्याय योजना अप्लाई ऑनलाइन के विकल्प पर क्लिक करना है। इसके बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म खुल जाएगा।
  • आपको आवेदन पत्र में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे आपका नाम, फोन नंबर, पता आदि दर्ज करना होगा।
  • उसके बाद आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज अपलोड करने होंगे।
  • अब आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना है।
  • इस तरह, आप छत्तीसगढ़ राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत आवेदन कर सकेंगे।

ऑफलाइन आवेदन

  • सबसे पहले आपकों राजीव गांधी किसान न्याय योजना का आवेदन पत्र कृषि विस्तार अधिकारी से प्राप्त करना होगा, इसके बाद आपको आवेदन पत्र ध्यानपूर्वक सभी जानकारी को दर्ज कर देना है।
  • आपके द्वारा सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको आवेदन से सभी दस्तावेज जैसे की ऋण पुस्तिका, बी–1, आधार नंबर, बैंक पासबुक की छायाप्रति को अटैच कर देना है।
  • इसके बाद आपको कृषि विस्तार अधिकारी के पास इस आवेदन पत्र को जमा कर देना है।
  • आपके द्वारा आवेदन पात्र जमा करने के बाद, आपकी ऑफलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

किसान न्याय योजना के अंतर्गत सत्यापन की प्रक्रिया

  • सभी फसलों के किसानों को सहकारी समिति में आवेदन करना जरूरी होगा
  • इसके बाद आवेदन फार्म का सत्यापन रोलर एग्रीकल्चर एक्सटेंशन आधिकारिक द्वारा किया जाएगा।
  • सत्यापन के नियम गिरदावरी की जरूरत पड़ेगी जो पोर्टल पर प्रदान होगा।
  • आवेदन फॉर्म के सत्यापन के बाद किसानों को अपना पंजीकरण कोऑपरेटिव सोसाइटी में 28 फरवरी 2021 से पहले करना होगा।
  • आवेदन के टाइम किसानों के पास सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज उपस्थित होने चाहिए।
  • इस योजना के तहत केवल उन्हीं फसलों पर सहायता राशि दी जाएगी जिन्हें दिशा निर्देश में आरम्भ किया गया है।
  • इस पूरी प्रक्रिया के बाद डेटाबेस प्राप्त होगा और नोडल पहन के द्वारा सहायता राशि सीधे नागरिको के अकाउंट में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के द्वारा से ट्रांसफर की जाएगी।

किसान निधि योजना के अंतर्गत आवेदन की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको अपने जिले के कृषि विभाग में जाना होगा।
  • विभाग में जाने के बाद आपको कृषि विभाग से इस योजना के पंजीकरण फॉर्म की मांग करनी होगी।
  • आवेदन पत्र प्राप्त करने के बाद उसमें मांगी गई सारी जानकारी आपको सही-सही भरनी होगी
  • इसके बाद आपको अपने सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज अटैच करने होंगे
  • इसके बाद आपको पंजीकरण फॉर्म जमा कर देना होगा
  • इस तरह आपका पंजीकरण हो जाएगा।

Leave a Comment