सुकन्या समृद्धि योजना 2022 | PM Kanya Yojana Form, इंटरेस्ट रेट कैलकुलेटर

Sukanya Samriddhi Yojana Apply Online | प्रधानमंत्री सुकन्या समृद्धि योजना एप्लीकेशन फॉर्म | सुकन्या समृद्धि इंटरेस्ट रेट कैलकुलेटर | Sukanya Samriddhi Application Form

देश की बेटियों का भविष्य बनाने के लिए, भारत सरकार द्वारा कई योजनाएँ चलाई जा रही हैं। ऐसी ही एक योजना है, जिसका नाम सुकन्या समृद्धि योजना है। आज हम आपको इस लेख के माध्यम से Sukanya Samriddhi Yojana से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। जैसे कि सुकन्या समृद्धि योजना क्या है? इसका उद्देश्य, लाभ, सुविधाएं, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि। यदि आप सुकन्या समृद्धि योजना 2022 से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आपसे अनुरोध है कि इस लेख को अंत तक पढ़ें। [यह भी पढ़ें- (आवेदन) स्त्री स्वाभिमान योजना 2021: Stree Swabhiman Yojana Registration]

Table of Contents

Sukanya Samriddhi Yojana 2022

बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना के तहत 2 दिसंबर 2014 को सुकन्या समृद्धि खाते की घोषणा की गई थी, PM Kanya Yojana के तहत खाता लड़की के जन्म से 10 वर्ष की आयु तक खोला जा सकता है। सुकन्या समृद्धि खाता किसी भी नजदीकी डाकघर में खोला जा सकता है। जब तक लड़की 10 वर्ष से ऊपर नहीं होती है, तब तक लड़की के माता-पिता या अन्य कानूनी अभिभावक इस खाते का ध्यान रख सकते हैं, इस खाते में जमा की जाने वाली न्यूनतम राशि 250 है। सुकन्या समृद्धि योजना का मुख्य उद्देश्य यह है की लड़कियों के भविष्ये को अच्छा करना है। लड़कियां जब  पढ़ाई या शादी के लिए योग्य हो, तो उसे पैसे की कमी का सामना न करना पड़े, हम आपको बता दें कि इस योजना के अनुसार, जब लड़की 18 साल की होगी, तो वह इस खाते से पैसे निकाल सकती  है, जब आप 21 साल के हो जाते हैं, तब भी सुकन्या समृद्धि योजना लड़कियों को प्रोत्साहित करेगी और हमारे देश की लड़कियां आगे बढ़ती हैं तो हम भी आगे बढ़ेंगे और हमारा देश तरक्की करेगा। [यह भी पढ़ें- डिजिटल लॉकर अकाउंट कैसे बनाये | ऑनलाइन दस्तावेज अपलोड करे (Digilocker Login)]

Sukanya Samriddhi Yojana 2021

PM Modi Yojana

सुकन्या समृद्धि योजना में डिजिटल अकाउंट के माध्यम से किया जायेगा पैसा जमा

भारत सरकार ने बेटियों की शिक्षा तथा उनके विवाह के लिए भारतीय डाकघर द्वारा संचालित सुकन्या समृद्धि योजना आरंभ की थी। इस Sukanya Samriddhi Yojana 2022 के माध्यम से पैसों का भुगतान करने हेतु पहले पोस्ट ऑफिस जाना पड़ता है। लेकिन अब भारत सरकार ने भारतीय डाक घर के माध्यम से डिजिटल अकाउंट लांच किया है। इस डिजिटल अकाउंट के माध्यम से सुकन्या समृद्धि योजना के खाते में डिजिटल रूप से पैसे जमा किए जाएंगे। अन्य बैंकों की तरह अब पोस्ट ऑफिस में भी डिजिटल सेविंग अकाउंट सेवा शुरू की गई है। अब खाताधारकों को खाते में पैसे जमा करने हेतु पोस्ट ऑफिस जाने की आवश्यकता नहीं है। वह अपने पैसो का लेन- देन अपने मोबाइल के माध्यम से भी कर सकते हैं। [यह भी पढ़ें- (nrega.nic.in) नरेगा मिसटोल 2021-22 | NREGA Mistol ऑनलाइन कैसे देखें?]

IPPB ऐप का आरंभ

भारत डाकघर द्वारा आईपीपीबी एप का भी आरंभ किया गया है। इस IPPB ऐप के माध्यम से ग्राहकों हेतु पैसो के  लेन-देन की सुविधा प्रदान की गयी है। सुकन्या समृद्धि योजना के साथ अन्य डाकघर की योजनाओं में इस ऐप के माध्यम से ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर किए जा सकेंगे। इस ऐप के माध्यम से घर बैठे पैसे ट्रांसफर करने के साथ डिजिटल अकाउंट खोला जा सकता है। डिजिटल अकाउंट खोलने हेतु आवेदक की आयु का18 वर्ष का होना अनिवार्य है।इस ऐप्प के  माध्यम से ग्राहकों को लेन-देन की सुविधा दी जाएगी। [यह भी पढ़ें- (रजिस्ट्रेशन) Pradhan Mantri Solar Panel Yojana 2021-22: फ्री सोलर पैनल योजना आवेदन]

Sukanya Samriddhi Yojana In Overviews

योजना का नामसुकन्या समृद्धि योजना
वर्ष2022
आरम्भ की गईकेंद्र सरकार द्वारा
लाभार्थीदेश की बालिकाएं
उद्देश्यबेटियों का भविष्य उज्जवल बनाना
श्रेणीकेंद्र सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइट ——-

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत कितनी बेटियों को लाभ मिल सकता है?

सुकन्या समृद्धि योजना 2022 के तहत, एक परिवार की केवल दो बेटियों को लाभ मिल सकता है। यदि किसी परिवार में 2 से अधिक बेटियाँ हैं, तो उस परिवार की केवल दो बेटियाँ ही इस योजना का लाभ उठा सकती हैं। लेकिन अगर किसी परिवार में जुड़वां बेटियां हैं, तो उन्हें Sukanya Samriddhi Yojana का लाभ अलग से मिलेगा, यानी उस परिवार की तीन बेटियों को इसका लाभ मिलेगा। जुड़वा बेटियों की संख्या समान होगी लेकिन उनका लाभ अलग से दिया जाएगा। इस योजना के तहत, वे सभी जो अपनी बेटी का विवाह और शिक्षा के लिए खाता जमा करना चाहते हैं, वे अपनी बेटी का खाता खोल सकते हैं। आपको बता दें कि इस योजना के तहत 10 साल से कम उम्र की लड़कियों का खाता खोला जा सकता है। सरकार द्वारा बेटी बचाओ, बेटी पढाओ योजना के तहत सुकन्या समृद्धि योजना शुरू की गई है। [यह भी पढ़ें- सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम 2021: Soil Health Card, मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना की जानकारी]

सुकन्या समृद्धि योजना दिसंबर अपडेट

केंद्र सरकार द्वारा संचालित सुकन्या समृद्धि योजना आम आदमी के बीच बहुत लोकप्रिय योजना बन रही है। इस योजना के तहत, समय-समय पर कुछ बदलाव किए जाते हैं जो आम आदमी के लिए काफी महत्वपूर्ण हैं। इसी प्रकार बेटियों के लिए सरकार की लोकप्रिय योजना Sukanya Samriddhi Yojana में कुछ बदलाव किए गए हैं, और कुछ नियमों को हटा दिया गया है और नियमों को केंद्र सरकार द्वारा अधिसूचित किया गया है। आइए आपको बताते हैं कि ऐसे कुछ खास बदलाव क्यों किए गए हैं लेकिन हम आपको उन छोटे बदलावों के बारे में विस्तार से बताएंगे जो किए गए हैं। [यह भी पढ़ें- पीएम किसान सम्मान निधि योजना रिजेक्ट लिस्ट 2021: ऑनलाइन जांचे, PM Kisan Rejected List]

सुकन्या समृद्धि योजना में  किये गए बदलाव

इस योजना के अनुसार, किसी व्यक्ति को योजना में आवेदन करने के लिए हर साल 250 रुपये की राशि जमा करनी होती है। यदि यह राशि लाभार्थी द्वारा जमा नहीं की जाती है, तो इसे डिफ़ॉल्ट खाता माना जाता है। यदि खाते को पुन: सक्रिय नहीं किया जाता है, तो ब्याज दर परिपक्वता तक उपलब्ध होगी। खाताधारकों के लिए यह बहुत अच्छी खबर है। पुराने नियमों के अनुसार, ऐसे डिफ़ॉल्ट खाताधारक डाकघर के बचत खाते में लागू दर पर ब्याज प्राप्त करते थे। अब डाकघर बचत खातों पर ब्याज दर पहले के 7.6% के मुकाबले 4% कर दी गई है। [यह भी पढ़ें- बीपीएल सूची 2021: डाउनलोड NEW BPL List, बीपीएल राशन कार्ड लिस्ट में नाम देंखे]

सुकन्या समृद्धि योजना

SSY सुकन्या समृद्धि योजना परिपक्वता और आंशिक निकासी

 बालिका की आयु  21 वर्ष की होने के साथ खाता परिपक्व हो जाता है, परंतु यह  वचन गलत है। खाते की परिपक्वता से बालिका  की उम्र का कोई लेना देना नहीं है।  खाताधारक केवल तभी राशि निकाल सकता है, जब वह 18 वर्ष की आयु प्राप्त कर लेता  है।प्राप्त राशि का उपयोग उच्च अध्ययन और विवाह हेतु भी किया जा सकता  है। इस के बाद खाता बंद  कर दिया जाएगा। परंतु यदि सक्षम प्राधिकारी के माध्यम से  जारी किया गया मृत्यु प्रमाण पत्र के उत्पादन पर खाताधारक की मृत्यु की स्थिति में खाते को समय से पहले बंद करने की अनुमति दी है , इस स्थिति में फिर शेष राशि को अभिभावक को दे दी जाती है  और उसके बाद खाता बंद कर दिया जाता है। [यह भी पढ़ें- (सच या झूठ) प्रधानमंत्री फ्री स्मार्टफोन योजना 2021: Modi Free Mobile Fake or Real]

प्रधान मंत्री की अन्य सरकारी योजनाएँ :-

किस स्थिति में सुकन्या समृद्धि खाता मैच्योरिटी से पहले बंद हो सकता है?

किसी स्थिति में खाता धारक की मृत्यु हो जाती है तब  सुकन्या समृद्धि योजना के माध्यम से  खुलावाया हुआ खाता बंद करवाया जा सकता है। परंतु इस स्थिति में खाताधारक का मृत्यु प्रमाण पत्र दिखाना अनिवार्य होगा। खाते के बंद होने के बाद  खाते में जमा हुई  धनराशि बेटी के माता – पिता को ब्याज के साथ  लौटा दी जाएगी। इसके अतिरिक्त सुकन्या समृद्धि योजना में खाता खुलवाने के 5 वर्ष के बाद  किसी भी कारणवश बंद कराया जा सकता है। इस स्थिति में सेविंग बैंक अकाउंट के आधार से ब्याज दर मिलेगी।सुकन्या समृद्धि योजना खाते में से 50% धनराशि बेटी की पढ़ाई हेतु निकाली जा सकती है। यह निकासी बेटी के 18 वर्ष की आयु  होने के बाद ही की जा सकती है, इससे पहले नहीं। [यह भी पढ़ें- (सच/झूठ) मोदी फ्री लैपटॉप योजना 2021: ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, Modi Free Laptop Yojana]

प्रीमैच्योर अकाउंट क्लोज हेतु नियम में बदलाव

इस प्रीमैच्योर अकाउंट क्लोज हेतु नियम के अनुसार, योजना के अंतर्गत यदि बच्ची की मौत होने या सहानुभूति के आधार पर अकाउंट को परिपक्वता के समय से पहले बंद किया जा सकता है। यहाँ सहानुभूति का तात्पर्य उस स्थिति से है, जिसमें अकाउंट होल्डर को जानलेवा बीमारी का इलाज कराना हो या अभिभावक की मौत हो गई हो। ऐसी स्थिति में प्रीमैच्योर अकाउंट क्लोज हेतु नियम में बदलाव के बैंक अकाउंट अनुसार परिपक्वता अवधि से पहले बंद कर सकते है। [यह भी पढ़ें- (Land Record) भूमि जानकारी 2021: जिलेवार भूलेख, भू नक्शा, जमाबंदी नकल ऑनलाइन देखें]

डिफॉल्ट अकाउंट पर अधिक ब्याज दर

इस योजना के माध्यम से यदि कोई व्यक्ति सुकन्या समृद्धि अकाउंट में न्यूनतम 250 रूपये की धनराशि एक वर्ष के भीतर जमा नहीं करता है तो उसके अकाउंट को डिफॉल्ट अकाउंट माना जाता है। भारत सरकार द्वारा 12 दिसंबर, 2019 को अधिसूचित नए नियम के अनुसार, अब ऐसे डिफॉल्ट अकाउंट में जमा हुई रकम पर भी वही इंट्रेस्ट रेट दिया जायेगा, जो इस योजना के तहत प्रारंभ में तय किया गया था।इसके अतिरिक्त सुकन्या समृद्धि योजना खाते पर 8.7% तथा पोस्ट ऑफिस बचत खाते पर 4% की ब्याज दर मिलेगी। [यह भी पढ़ें- (Live) pmkisan.gov.in Status 2021-22: PM Kisan 9वी किस्त List, Payment Status]

सुकन्या समृद्धि योजना में हुए बदलाव

सरकार द्वारा सुकन्या समृद्धि योजना में पांच बदलाव किये गए है। हमने इनपांच बदलाव के बारे निम्नलिखित जानकारी दी है। इस जानकारी के माध्यम से लाभ लेकर अपने सुकन्या समृद्धि योजना के माध्यम से खुले खातों में आवश्यक्तानुसार उपयोग कर लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

प्रतिवर्ष कितने पैसे कब तक देने होंगे?

इस योजना के नियम अनुसार हरपहले माह में 1000 रुपए देने का प्रावधान था, जो कि अब कम करके 250 रुपए प्रतिमाह कर दिया गया है।सुकन्या समृद्धि योजना के माद्यम से 250 रुपए से लेकर 150000 रुपए तक निवेश किए जा सकता हैं। इस योजना के माध्यम से बैंक अकाउंट खुलवाने हेतु 14 साल तक निवेश करना अनिवार्य होगा।

अगर सुकन्या समृद्धि योजना अंतर्गत नहीं जमा हो पाए तो क्या होगा?

किसी कारण यदि योजना के माध्यम से खाताधारक तय की गई राशि नहीं जमा कर पाता है, तब खाताधारक को 50 रुपए की सालाना की पेनल्टी जमा करनी होगी। इस के साथ ही प्रत्येक वर्ष की न्यूनतम राशि का भुगतान भी करना पड़ेगा । यदि पेनल्टी नहीं चुकाई गई तब सुकन्या समृद्धि योजना के खाताधारक के खाते में सेविंग अकाउंट के बराबर ब्याज दर मिलेगा, यह ब्याज दर चार प्रतिशत होगा। [यह भी पढ़ें- विकलांग पेंशन योजना लिस्ट 2021-22: (State Wise Payment Status), पेंशन सूची में नाम देखें]

PM Kanya Yojana टैक्स के बेनिफिट

भारत के इनकम टैक्स अधिनियम (Act) 1961 के सेक्शन 80C के माध्यम से इस योजना में जमा की गई ब्याज की राशि, धनराशि तथा मेच्योरिटी अमाउंट को टैक्स फ्री किया गया है। इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा छूट प्रदान की गई है, इस छूट में प्रतिवर्ष ₹150000 तक रुपए तक सम्मिलित होंगे।

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत तीन बेटियों के लिए यह है नियम

वर्तमान में, SSY नियमों के अनुसार, बेटी के जन्म के तुरंत बाद SSY खाते में निवेश शुरू करना होगा। आप इसे परिवार की कुछ ही लड़कियों के लिए खोल सकते हैं। लेकिन अगर आपके घर पर जुड़वां बेटियां हैं तो आप तीनों बच्चों के लिए एसएसवाई खाते खोल सकते हैं। एक ही समय में, भले ही तीन बच्चे एक साथ पैदा होते हैं, आप तीनों बेटियों के लिए एक MSY खाता खोल सकते हैं। [यह भी पढ़ें- (रजिस्ट्रेशन) विधवा पेंशन योजना 2021: Vidhwa Pension ऑनलाइन आवेदन, State Wise List]

Sukanya Samriddhi Yojana 2021 का उद्देश्य

सुकन्या समृद्धि योजना का उद्देश्य लड़कियों को शिक्षा के क्षेत्र में बढ़ावा देना है और वे शादी के लिए योग्य हैं तो पैसे की कमी नहीं हो। देश के गरीब लोग अपनी बेटी की शिक्षा और शादी के खर्चों को आसानी से पूरा कर सकते हैं और उनकी बेटी का खाता बैंक में न्यूनतम 250 रुपये में खोला जा सकता है। इस SSY 2022 के साथ, देश की लड़कियों को प्रोत्साहित किया जाएगा और उन्हें आगे बढ़ने में सक्षम बनाया जाएगा। [यह भी पढ़ें- (सच या झूठ) प्रधानमंत्री कन्या आयुष योजना 2021: PM Kanya Ayush ₹2000 Yojana]

Interest Rate in SSY 2021

Financial YearInterest  rate
From April 1, 20149.1%
From April 1, 20159.2%
From April 1, 2016 -June 30, 20168.6%
From July 1, 2016-September 30, 20168.6%
From October 1, 2016-December 31, 20168.5%
From January 1, 2018 – March 31, 20188.3%
From April 1, 2018 -June 30, 20188.1%
From July 1, 2018 -September 30, 20188.1%
From October 1, 2018 – December 31, 20188.5%
From July 1, 20168.4%

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन पेंशन योजना

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत अकाउंट किस आयु तक खोला जा सकता है?

इस योजना के माध्यम से इच्छुक आवेदक 0 आयु से 10 साल की आयु तक केवल बेटी का बैंक अकाउंट खुलवाया जा सकता है। सुकन्या समृद्धि योजना के माध्यम से यदि बेटी की आयु 10 वर्ष से अधिक है तब बैंक अकाउंट नहीं खुलवाया   जा सकता है। इस कहते को बेटी के माता-पिता या फिर अभिभावक संचालित कर सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना खाता में धनराशि जमा किस प्रकार करे?

खाता धारक खाते में डिमांड ड्राफ्ट, केश जमा कर सकते है या इसके अतिरिक्त यदि किसी बैंक या पोस्ट ऑफिस में कोर बैंकिंग सिस्टम मौजूद हो उसमे इलेक्टॉनिक ट्रांसफर मोड के माध्यम से  भी जमा कर सकते है। खाता खुलवाने हेतु केवल नाम और अकॉउंट होल्डर का नाम लिखना होगा | इस प्रकार अभिभावक  अपनी बेटी के खाते में पैसे जमा कर या करवा सकते है |

दो बच्चियों से अधिक का खाता कैसे खोले?

इस योजना के माध्यम से नए नियम के अनुसार यदि कोई व्यक्तियों अपनी दो बेटियों से अधिक का अकाउंट खुलवाना चाहते है इसके लिए आपको कुछ तय किये गए दस्तावेज़ों के अतिरिक्त दस्तावेज जमा करने होंगे। अभिभावक को अपनी बालिकाओं के जन्म प्रमाण पत्र के सर्टिफिकेट जमा करने अनिवार्य होंगे।

अकाउंट संचालन

Sukanya Samridhi Yojana के माध्यम से सरकार द्वारा शुरू किए गए नियमों के अनुसार जिस बालिका के नाम अकाउंट है, वह बालिका जब तक 18 साल की नहीं होती तब तक वह बालिका स्वयं अपने खाते का संचालन नहीं कर सकती है। परंतु जब बच्ची 18 साल की हो जाएगी, तो अभिभावक को बालिका से संबंधित सभी आवश्यक दस्तावेज पोस्ट ऑफिस में जमा करने होंगे।

PM Kanya Yojana के मुख्य तथ्य

  • इस योजना के तहत, देश में कोई भी व्यक्ति अपनी बेटी का खाता 10 वर्ष से कम आयु में खोल सकता है।
  • सुकन्या समृद्धि योजना 2022 के अधिनियम 1961 की धारा 80 के तहत कर छूट प्रदान करती है। शेष राशि एसएसवाई की परिपक्वता के बाद प्राप्त होगी।
  • इस योजना के तहत किसी भी लड़की का खाता न्यूनतम 250 रुपये में खोला जा सकता है।
  • इस योजना के तहत, खाते में जमा राशि 18 साल की उम्र के बाद और 21 साल के बाद पढ़ाई के लिए कुल जमा का केवल 50% निकाल सकते हैं, बेटी की शादी के लिए पूरी राशि निकाली जा सकती है।
  • Sukanya Samriddhi Yojana परिवारों के लिए केंद्र सरकार की एक छोटी बचत योजना है।
  • इस योजना के तहत, लाभार्थी अपनी बेटी के लिए सभी बैंकों, राष्ट्रीयकृत बैंकों, डाकघरों, एसबीआई, आईसीआईसीआई, पीएनबी, एक्सिस बैंक, एचडीएफसी, आदि में खाता खोल सकते हैं।

PM Sukanya Samriddhi Yojana 2022 के लिए अधिकृत बैंक

सुकन्या समृद्धि योजना खाते खोलने के लिए भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा अधिकृत कुल 28 बैंक हैं। उपयोगकर्ता निम्नलिखित में से किसी भी बैंक में SSY खाता खोल सकते हैं और इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

  • कॉर्पोरेशन बैंक
  • सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (CBI)
  • केनरा बैंक
  • इलाहाबाद बैंक
  • भारतीय स्टेट बैंक (SBI)
  • बैंक ऑफ महाराष्ट्र (BOM)
  • बैंक ऑफ इंडिया (BOI)
  • देना बैंक
  • ऐक्सिस बैंक
  • आंध्रा बैंक
  • बैंक ऑफ बड़ौदा (BOB)
  • स्टेट बैंक ऑफ पटियाला (SBP)
  • स्टेट बैंक ऑफ मैसूर (SBM)
  • भारतीय बैंक
  • पंजाब नेशनल बैंक (PNB)
  • इंडियन ओवरसीज बैंक (IOB)
  • स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर (SBT)
  • स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद (SBH)
  • पंजाब एंड सिंध बैंक (PSB)
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया
  • यूको बैंक
  • यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया
  • विजय बैंक
  • स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर (SBBJ)
  • ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC)
  • आईडीबीआई बैंक
  • आईसीआईसीआई बैंक
  • सिंडीकेट बैंक

मार्च 2021 से पहले निवेश करने पर 7.6 प्रतिशत ब्याज दर मिलेंगा

वर्तमान में सुकन्या समृद्धि योजना की ब्याज दर 7.6 प्रतिशत है, लेकिन केंद्र सरकार हर तिमाही में ब्याज दर की समीक्षा करती है। यानी केंद्र सरकार द्वारा 31 मार्च 2021 से पहले इस योजना में निवेश करने वाले निवेशक को पूरी अवधि के दौरान 7.6 प्रतिशत ब्याज दिया जाएगा। [यह भी पढ़ें- (Land Record) भूमि जानकारी 2021: जिलेवार भूलेख, भू नक्शा, जमाबंदी नकल ऑनलाइन देखें]

एक वर्ष में न्यूनतम 250 रुपये कर जमा कर सकते हैं

खाताधारक सुकन्या समृद्धि योजना के तहत न्यूनतम 250 रुपये जमा कर सकते हैं। वहीं, इसकी अधिकतम जमा सीमा 1.5 लाख रुपये है। यदि आप अधिकतम राशि से अधिक जमा करते हैं, तो आपको इस अतिरिक्त धन पर कोई ब्याज नहीं दिया जाएगा और आप इन पैसों को कभी भी निकाल सकते हैं। [यह भी पढ़ें- किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट 2021: pmkisan.gov.in List, पीएम किसान किस्त कैसे देखें]

सुकन्या समृद्धि योजना में 1000 जमा करने पर कितना मिलेगा?

वर्ष 2018 में, यदि कोई व्यक्ति एक महीने में 1,000 रुपये के साथ सुकन्या समृद्धि खाता खोलता है, तो उसे 14 साल तक हर साल 12 हजार रुपये जमा करना होगा यानी 2031 तक। इस तरह, 14 साल में 1.50 लाख रुपये जमा किए जाएंगे। 2018 में इस योजना की ब्याज दर 8.1% है। इस दर पर, जब बच्चा 21 साल का होगा, तो उसे 5,27,036 रुपये मिलेंगे। [यह भी पढ़ें- (रजिस्ट्रेशन) किसान रेल योजना 2021: Kisan Rail Yojana, ऑनलाइन बुकिंग, ट्रैन लिस्ट]

दो बेटियों से ज्यादा खाता खोलने के नए नियम

पहले की सुकन्या समृद्धि योजना के तहत, केवल दो बेटियों के खाते खोले जा सकते थे, लेकिन किसी  के जुड़वां बेटियां होती हैं, तो उन सभी के लिए भी खाता खोला जा सकता है, लेकिन नए नियमों के अनुसार, यदि दो से अधिक बेटी का खाता खुलवाना है तो उन्हें जन्म प्रमाण पत्र के साथ एफिडेविट जमा करना होगा। [यह भी पढ़ें- (आवेदन) फ्री सिलाई मशीन योजना 2021: रजिस्ट्रेशन फॉर्म, PM Free Silai Machine]

सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट ट्रांसफर

इस योजना के तहत, खातों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर ट्रांसफर किया जा सकता है। अगर आप भी अपना अकाउंट ट्रांसफर करना चाहते हैं, तो आपको बता दें कि यह ट्रांसफर मुफ्त में किया जा सकता है, इसके लिए अकाउंट होल्डर को पोस्ट ऑफिस को एक सर्टिफिकेट देना होगा, अगर किसी वजह से आप सर्टिफिकेट देने में असमर्थ हैं तो आपको 100 रुपये का शुल्क मिलेगा। [यह भी पढ़ें- (पंजीकरण) इंदिरा गांधी पेंशन योजना 2021: Indira Gandhi Pension Yojana ऑनलाइन आवेदन]

सुकन्या समृद्धि योजना के नियम व शर्तें

सुकन्या समृद्धि खाते से पैसे निकालने हेतु नियम व शर्तें

  • निकासी करने की स्थिति में -: सुकन्या समृद्धि योजना खाते द्वारा पिछले वित्तीय वर्ष के अंतिम में उपलब्ध शेष राशि का अधिकतम 50% हिस्से तक की निकासी की जा सकती है। यह निकासी केवल बालिका की शिक्षा हेतु की जा सकती है।
  • निकासी के प्रकार -: लाभार्थी खाते से निकासी एक साथ या फिर किस्तों में भी कर सकता है।
  • खाते की निकासी हेतु आयु -: यह निकासी केवल बालिका की 18 वर्ष की आयु पूरी होने पर या फिर बालिका के दसवीं कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद (दोनों स्थिति में से जो भी पहले हो) हेतु की जा सकती है।

खाते की प्रीमेच्योर क्लोजर से संबंधित नियम व शर्ते

  • प्रीमेच्योर क्लोजर: आवेदक का सुकन्या समृद्धि खाते को समय से पहले अतः खाता खोलने के 5 साल बाद तक बंद कराया जा सकता है।
  • अभिभावक की मृत्यु: खाताधारक के अभिभावक (माता -पिता दोनों) जो खाते का संचालन करता है उन दोनों की मृत्यु हो जाए की स्थिति में भी यह धारक का खाता बंद करवाया जा सकता है।
  • खाता धारक की मृत्यु: यदि खाता धारक की मृत्यु हो जाती है तो इस अवस्था  में धारक का खाता बंद करवाया जा सकता है।
  • जानलेवा रोग की अवस्था में : यदि खाताधारक को किसी प्रकार का जानलेवा रोग हो गया है तो इस स्थिति में भी धारक का खाता बंद करवाया जा सकता है।

परिपक्वता, कर लाभ एव ब्याज दरें से संबंधित नियम व शर्तें

  • परिपक्वता आयु सीमा : खाता खुलने से 21 वर्ष के बाद या बालिका के विवाह के समय पर 18 वर्ष की आयु होने के बाद खाता परिपक्व हो जाएगा।
  • ब्याज की राशि: सुकन्या समृद्धि योजना के माध्यम से  ब्याज राशि वित्तीय वर्ष के अंत में खाते में जमा की जाएगी। सफल आवेदन के सुकन्या समृद्धि खाते को पोस्ट ऑफिस या फिर बैंक में खुलवाया जायेगा।
  • इंटरेस्ट रेट: सरकार द्वारा हर तीन माह के आधार पर इंटरेस्ट रेट की अधिसूचना दी जाएगी। जनवरी 2021 से मार्च 2021 के लिए इस योजना के माध्यम से  इंटरेस्ट रेट 7.6 प्रतिशत है।
  • कर का फायदा : सेक्शन 80C के अंतर्गत, सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत किया गया निवेश कर मुक्त होगा। इस योजना के माध्यम से  प्राप्त हुआ ब्याज तथा परिपक्वता राशि भी कर मुक्त होगी।

अधिकतम एवं न्यूनतम राशि जमा करने के नियम शर्तें

  • न्यूनतम खाता खोलने हेतु राशि: इस योजना हेतु  न्यूनतम 250 रुपए में खाता खोला जा सकता है। न्यूनतम हर वर्ष निवेश करना अनिवार्य होगा: प्रत्येक वर्ष इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी को 250 रुपए का निवेश करना अनिवार्य होगा।
  • डिफॉल्ट की स्थिति में : यदि खाताधारक द्वारा हर वर्ष न्यूनतम 250 रुपए का निवेश नहीं किया गया, तब  इस स्थिति में खाते को डिफॉल्ट कर दिया जाएगा। यदि खाता डिफॉल्ट हो गया है तो इस स्थिति में खाते में 250 रुपए की न्यूनतम राशि का भुगतान एवं 50 रुपए की पेनल्टी का भुगतान करके खाते को पुनः शुरू किया जा सकता है।
  • अधिकतम निवेश राशि: इस  योजना के अंतर्गत अधिकतम 150000 रुपए तक की राशि का निवेश किया जा सकता है।इस तय की  गई राशि से अधिक राशि को का निवेश नहीं किया जा सकता।
  • खाता खोलने हेतु  महत्वपूर्ण दस्तावेज: इस योजना के अंतर्गत खाता खोलने हेतु  अभिभावक को form-1, बेटी का जन्म प्रमाण पत्र तथा अभिभावक का पैन कार्ड और आधार नंबर जमा करना अनिवार्य होगा।
  • निवेश करने की अवधि सीमा :- इस योजना के अंतर्गत खाता खोलने की तिथि से अगले 15 साल तक निवेश किया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना नियम शर्तें

  • खाता खुलवाने की हेतु आयु:- सुकन्या समृद्धि खाता के अंतर्गत बालिका की 10 वर्ष की आयु होने से पहले अभिभावक द्वारा खोला जा सकता है।
  • खाते की संख्या:- एक बालिका हेतु केवल एक ही खाता इस योजना के माध्यम से  खोला जा सकता है। इस योजना के माध्यम से  एक बेटी हेतु  माता द्वारा अलग तथा पिता द्वारा अलग खाता नहीं संचालित किया जा सकता।
  • परिवार के खाताधारकों की संख्या-: एक परिवार में केवल दो बेटियां ही इस योजना का लाभ ले सकती हैं।जुड़वा बेटियों होने की स्थिति में एक परिवार की खाताधारक की संख्या: एक परिवार में जुड़वा या ट्रिपलेट बेटियों का जन्म होता है, तो इस  स्थिति में 2 से अधिक खाते भी खोले जा सकते हैं।
  • खाते का संचालन:- खाताधारक की 18 वर्ष की आयु होने तक खाता धारक के अभिभावक के माध्यम से संचालित किया जाता है।

खाता खुलवाने के लिए जरुरी दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • बच्चे और माता पिता की पासपोर्ट साइज फोटो
  • बालिका जन्म प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • माता या पिता में से किसी का पैन कार्ड राशन कार्ड ड्राइविंग लाइसेंस
Interest Rate in SSY

प्रधानमंत्री रोजगार योजना 2021

सुकन्या समृद्धि योजना में खाता खुलवाने की प्रक्रिया

  • इच्छुक लाभार्थी जो इस योजना के तहत बचत खाता खोलने के लिए आवेदन करना चाहते हैं, उन्हें सबसे पहले सुकन्या समृद्धि योजना खाता फॉर्म डाउनलोड करना होगा ।
  • इसके बाद, आवेदन पत्र को सभी आवश्यक जानकारी से भरना होगा। सभी जानकारी भरने के बाद, सभी आवश्यक दस्तावेजों को फॉर्म के साथ संलग्न करना होगा।
  • फिर आवेदन पत्र और दस्तावेजों को बैंक या पोस्ट ऑफिस को राशि के साथ जमा करना होगा|

SSY अकाउंट ट्रांसफर कैसे करें

  • सबसे पहले, आपको अपनी अपडेट की गई Passbook और KYC दस्तावेजों के साथ अपने पोस्ट ऑफिस जाना होगा।
  •  ट्रांसफर के दौरान लड़कियों को उपस्थित होने की आवश्यकता नहीं है।
  • अपने KYC दस्तावेजों के साथ अपना सुकन्या समृद्धि खाता पासबुक बैंक या डाकघर में जमा करें।
  • अपना खाता बंद करने के बारे में अपने बैंक या डाकघर को सूचित करें
  • तब तक बैंक का मैनेजर आपका खाता बंद कर देगा
  • उस बैंक में जाएं जहां आप अपना खाता  ट्रांसफर करना चाहते हैं और पोस्ट ऑफिस के माध्यम से अपना  ट्रांसफर अनुरोध सबमिट करें ।
  • पहचान और पते के प्रमाण के लिए अपने KYC दस्तावेज जमा करें।
  • इसके बाद आपको बैंक कर्मचारी द्वारा एक पासबुक सौंपी जाएगी जो पिछले  खाते के शेष राशि का संकेत देगी ।
  • नियत समय में बैंक अपने खाते को ट्रिगर व समक्ष करेगा आप उस खाते में अपनी लड़की के कल्याण और भविष्य में निवेश करने की प्रक्रिया को आगे बढ़ा सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि अकाउंट बैलेंस चेक करने की प्रक्रिया

सुकन्या समृद्धि योजना भारत सरकार द्वारा शुरू की गई थी। जिसके तहत निवेश पर 7.6 प्रतिशत ब्याज दिया जाता है। सुकन्या समृद्धि योजना की पासबुक को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यमों से एक्सेस किया जा सकता है। आप सुकन्या समृद्धि योजना के तहत बहुत आसानी से अपने खाते की शेष राशि की जांच कर सकते हैं। इस बार सुकन्या समृद्धि योजना के खाते 25 से अधिक बैंक प्रदान कर रहे हैं। आपको इन बैंकों में जाकर अपना खाता खोलना होगा। इसके बाद आपको बैंक द्वारा पासबुक प्रदान की जाएगी। आप पासबुक के माध्यम से सुकन्या समृद्धि योजना के तहत अपने खाते की शेष राशि की जांच कर सकते हैं। यह खाता शेष डिजिटल रूप से या खाता विवरण के माध्यम से जांचा जा सकता है। मुख्य संतुलन की जांच करने के लिए, आपको निम्नलिखित प्रक्रिया का पालन करना होगा। [यह भी पढ़ें- (रजिस्ट्रेशन) Pradhan Mantri Solar Panel Yojana 2021: फ्री सोलर पैनल योजना आवेदन]

  • सबसे पहले आपको अपने संबंधित बैंक से अनुरोध करना होगा, उसके बाद यह आपको बैंक से लॉगइन क्रैडेंशियल्स देंगे।
  • लेकिन याद रखें कि यह सेवा सभी बैंकों द्वारा प्रदान नहीं की जाती है, केवल कुछ ही बैंक अपने खाताधारकों को ऑफ़लाइन के माध्यम से सुकन्या समृद्धि खाते की शेष राशि की जांच करने की अनुमति देते हैं।
  • लॉगइन क्रैडेंशियल्स प्राप्त करने के बाद, अपने बैंक के इंटरनेट बैंकिंग पोर्टल पर लॉग ऑन करें।
  • लॉग इन करने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।
  • यहां आपको बैलेंस कन्फर्म करने के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने राशि संख्या खुल जाएगी।
  • केवल इसी माध्यम से सुकन्या समृद्धि अकाउंट बैलेंस चेक किया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना में आवेदन फॉर्म कैसे डाउनलोड करे?

वह सभी जो केंद्र सरकार की कल्याणकारी सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ लेना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना होगा।

  • सबसे पहले आपको सुकन्या समृद्धि योजना आवेदन फॉर्म को  डाउनलोड करना होगा।
  • आप सुकन्या समृद्धि योजना आवेदन फॉर्म को अपने नजदीकी बैंक शाखा से भी प्राप्त कर सकते हैं।
  • इसके बाद आपको आवेदन फॉर्म में सभी आवश्यक जानकारियों को दर्ज करके सभी दस्तावेजों को फॉर्म के साथ संलग्न कर लेना है।
  • आपको पोस्ट ऑफिस में आवेदन फॉर्म को दस्तावेज और सम्बंधित दस्तावेजों के साथ जमा करना है।

Leave a Comment