(Vatsalya Yojana) मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन, पात्रता व लाभार्थी सूची

Uttarakhand Vatsalya Yojana Apply | वात्सल्य योजना उत्तराखंड आवेदन फॉर्म | Uttarakhand Vatsalya Scheme Form PDF | उत्तराखंड वात्सल्य योजना पात्रता जानकारी

हमारे देश में कोरोना वायरस बहुत ही तेजी बढ़ रहा है जिसके तहत बहुत ही ज़्यादा मौत हो रही है, इसी को ध्यान में रखते हुए उत्तराखंड सरकार ने राज्य में कोरोना वायरस और ब्लैक फंगस तहत होने वाले मृत्यु को देखते हुए और उन अनाथ बच्चो के लिए उत्तराखंड वात्सल्य योजना को आरम्भ किया है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत जी ने कोरोना वायरस महामारी के कारण अपने माता-पिता को खो चुके उन अंत बच्चों के लिए शिक्षा और रोज़गार प्रदान करने उदेश्य से Uttarakhand Vatsalya Yojana को शुरू करा है। जो बच्चे अपने माता पिता खो चुके है उन सभी को सरकार द्वारा साहयता के रूप में 3 हजार रुपए हर महीना और उनकी शिक्षा का देखभाल सरकार द्वारा किया जाएगा, यदि आप इस योजना की पूरी जानकारी जानना चाहते है तो इस लेख को अंत तक पढ़े। [यह भी पढ़े – उत्तराखंड श्रमिक पंजीकरण 2021 | ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, एप्लीकेशन स्टेटस]

Table of Contents

Uttarakhand Vatsalya Yojana 2022

उत्तराखंड वात्सल्य योजना 2022 को मुख्यमंत्री जी ने कोरोना वायरस महामारी के कारण अपने माता-पिता को खो चुके अनाथ बच्चों की शिक्षा और रोज़गार को ध्यान में रखते हुए Uttarakhand Vatsalya Yojana 2022 को शुरू किया है। इन सभी महामारी की वजह से अपने माता पिता खो जाने के बाद और बेसहारा हो जाने की वजह से इस योजना के तहत सहायता दी जाएगी। Uttarakhand Vatsalya Yojana को मुख्य उदेश्य यह है की जो राज्य के बच्चे अपने माता पिता को ब्लैक फंगस या कोरोना वायरस के कारण को खो चुके है तो उन बच्चों को सहायता के लिए 21 वर्ष की आयु तक Uttarakhand Vatsalya Yojana के माध्यम से 3 हजार रुपये दिए जाएगे। [यह भी पढ़े – उत्तराखंड मुख्यमंत्री महालक्ष्मी योजना 2021: (Mahalaxmi Yojana), ऑनलाइन आवेदन, पात्रता]

उत्तराखंड वात्सल्य योजना

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी योजना

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना की शुरुआत

हम सभी लोग जानते हैं कि यह योजना उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत जी के माध्यम से कोरोनावायरस संक्रमण से प्रभावित बच्चों को लाभ प्रदान करने के लिए शुरू की गई है। इस योजना के माध्यम से कोविड-19 से प्रभावित बच्चों को विभिन्न सुविधाएं प्रदान की जाएंगी। इस योजना के तहत मिलने वाली वित्तीय सहायता सीधे लाभार्थी के बैंक खातों में डीबीटी के माध्यम से हस्तांतरित की जाएगी। यह योजना उत्तराखंड के मुख्यमंत्री द्वारा 2 अगस्त 2021 को शुरू की गई थी। अब तक 2311 ऐसे बच्चों की पहचान कर उन्हें जेल भेजा जा चुका है जो इस योजना के तहत आते हैं। मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना के तहत 640 बच्चों के सत्यापन की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है, शेष सत्यापन प्रक्रिया अभी जारी है, और जैसे ही राज्य के सभी बच्चों की सत्यापन पूरा हो जाएगा तो उन सभी को इसका लाभ दिया जाएगा। [यह भी पढ़ें- उत्तराखंड राशन कार्ड लिस्ट 2021: UK Ration Card List, ऑनलाइन नयी सूची]

Overview of Uttarakhand Vatsalya Yojana

योजना का नामउत्तराखंड मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना
वर्ष2022
आरम्भ की गईमुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत
लाभार्थीराज्य के वो बच्चे
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन
उद्देश्यसाहयता प्रदान करना
श्रेणीउत्तराखंड सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइटhttps://wecd.uk.gov.in/

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना का शासनादेश जारी

कोरोना वायरस के कारण हमारे देश में लॉकडाउन है, जिसके तहत लोगों को काफी परेशानी हो रही है और राज्य के गरीब लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, जिसके तहत राज्य सरकार यहां के लोगों की मदद कर रही है, और जिसके लिए उत्तराखंड सरकार द्वारा कई कदम उठाए जा रहे हैं। इसी तरह उत्तराखंड सरकार ने बच्चों के लिए उत्तराखंड वात्सल्य योजना शुरू की है, राज्य में कोरोना वायरस से होने वाली मौतों को देखते हुए, तो दोस्तों इस योजना के तहत, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने उत्तराखंड वात्सल्य योजना 2022 के तहत एक जनादेश जारी किया है। जिसके अंतगर्त 9 जून 2021 को विभाग के सचिव हरिचंद्र सेमवाल द्वारा कहा गया है कि यह योजना 01 मार्च, 2020 से 31 मार्च, 2022 तक लाभ प्रदान करेगी और सरकार ने बताया है कि मार्च 2020 के बाद कोरोना वायरस महामारी और राज्य के विभिन्न बीमारियों के कारण माता-पिता या अभिभावकों में से किसी एक की मृत्यु होने पर जन्म से लेकर 21 वर्ष की आयु तक के सभी बच्चों को लाभ दिया जाएगा। [यह भी पढ़ें- वीर चंद्र सिंह गढ़वाली पर्यटन स्वरोजगार योजना उत्तराखंड 2021: ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फॉर्म]

वात्सल्य योजना के तहत दायरा बढ़ाने की तैयारी

उत्तराखंड सरकार के द्वारा राज्य में कोरोना वायरस से माता या पिता में से किसी एक की मृत्यु हो जाने पर राज्य के अनाथ बच्चो को सरकार द्वारा सहायता दी जाएगी, इसके अलावा, यदि किसी एक भी मृत्यु हो जाती है, और बच्चे की ज़िम्मेदारी  उसी के ऊपर थी तो उत्तराखंड सरकार के माध्यम से इस योजना लाभ तब भी दिया जाएगा। महिला सशक्तीकरण और बाल विकास राज्यमंत्री रेखा आर्य के मुताबिक इन बच्चों के लिए इस योजना को इसलिए आरंभ किया जिससे बच्चे खुद को असुरक्षित न समझें और साथ ही उनके स्वास्थ्य, शिक्षा और सुरक्षा का इंतजाम सरकार करेगी। हम आपको बता दें कि राज्य में कोविड के कारण अनाथ हुए बच्चों के लिए मुख्यमंत्री की ओर से वात्सल्य योजना की घोषणा के बाद महिला सशक्तीकरण और बाल विकास विभाग की ओर से इसका प्रस्ताव तैयार किया गया है। [यह भी पढ़े – उत्तराखंड विकलांग पेंशन योजना 2021: ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, UK Handicap Pension]

उत्तराखंड वात्सल्य योजना में मिलेगा पांच फीसदी क्षैतिज आरक्षण

हमारे देश में कोरोना वायरस का प्रकोप बहुत ही तेजी बढ़ रहा है जिसके माध्यम से देश में बहुत ही ज़्यादा मृत्यु हो रही है, इन सभी बातो को देखते हुए, और साथ ही ब्लैक फंगस के कारण होने वाली मृत्यु को देखते हुए राज्य सरकार ने अनाथ बच्चो के लिए उत्तराखंड वात्सल्य योजना को आरम्भ किया है। इसके साथ ही, रजि सरकार द्वारा इस योजना के तहत सोमवार को एक कैबिनेट मीटिंग हुई थी जिसके तहत काफी सारे अधिकारी थे और इसके साथ ही इस मीटिंग के दौरान  उत्तराखंड वात्सल्य योजना के तहत जिले में चल रहे कार्यों की समीक्षा की है और उन्होंने कहा है की बच्चों को सरकारी नौकरियों में पांच फीसदी क्षैतिज आरक्षण दिया जाएगा। [यह भी पढ़े – उत्तराखंड फ्री लैपटॉप वितरण योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन, UK Free Laptop Scheme]

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना के तहत दिए जाने वाले अन्य लाभ

उत्तराखंड सरकार ने कोरोना वायरस के कारण हो रही मृत्यु को देखते हुए, राज्य के अनाथ बच्चो को सहायता प्रदान करने रूप से शुरू किया था। इस योजना के तहत राज्य के उन सभी अनाथ बच्चों को ₹3000 की आर्थिक सहायता दी जाएगी जिनके माता-पिता की मृत्यु Covid-19 के संक्रमण की वजह से हुई है। उत्तराखंड वात्सल्य योजना के माध्यम से राज्य के उन सभी बच्चों को शिक्षा और रोजगार की सहायता दी जाएगी, जो बच्चे इस चल रहे कोरोना वायरस महामारी के कारण अपने माता पिता को खो चुके है, और इस योजना के द्वारा सहायता सरकारी नौकरियों में 5% का की छूठ दी जाएगी, इसी के साथ उत्तराखंड सरकार ऐसे बच्चों को 21 साल की आयु तक ‘उत्तराखंड वात्सल्य योजना 2022 द्वारा हर महीना 3 हजार रुपये का भत्ता प्रदान करेगी। इस योजना के द्वारा सरकार ने उन सभी बच्चो को सहायता प्रदान करते हुए यह भी बताया है की इन बच्चो की संपत्ति को बेचने की ज़िम्मेदारी उनके 21 साल की आयु होने पर बच्चो को ही दी जाएगी, तब तक संपत्ति को कोई और नहीं बेच सकता। [यह भी पढ़े – उत्तराखंड परिवार रजिस्टर नकल: ऑनलाइन चेक करे, Parivar Nakal Form Download]

वात्सल्य योजना के लाभ से कोई भी पात्र बच्चा वंचित नहीं रहेगा

हम सभी जानते हैं कि मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना को उत्तराखंड सरकार द्वारा कोरोना वायरस के कारण अनाथ बच्चों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए शुरू किया गया है। इस योजना के तहत अनाथ बच्चों को आर्थिक सहायता के साथ-साथ शिक्षा सहायता भी प्रदान की जाती है। लेकिन घाटे में ही महिला अधिकारिता एवं बाल विकास राज्य मंत्री रेखा आर्य की ओर से निर्देश जारी किया गया है कि प्रदेश में कोई भी पात्र बच्चा इस योजना के लाभ से वंचित न रहे. मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए सरकार द्वारा गंभीर कदम उठाए जा रहे हैं। इसके आलावा राज्य सरकार ने यह भी बताया है कि कोरोना वायरस संक्रमण के कारण अपने माता-पिता को खोने वाले सभी बच्चों को अपना जीवन यापन करने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। [यह भी पढ़ें- (आवेदन) उत्तराखंड ₹1 पानी कनेक्शन योजना 2021: Tap Water Connection Scheme]

  • अधिकारी की ओर से निर्देश जारी किए गए हैं कि आपको यह योजना उपलब्ध कराने के लिए घर-घर जाकर भौतिक सत्यापन किया जाए, ताकि संबंधित बच्चों का डाटा स्वराज पोर्टल पर उपलब्ध कराया जा सके। इसके साथ ही अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि जिन लोगों ने अपने माता-पिता को खो दिया है उनका रिकॉर्ड 30 जून तक जिला परिवीक्षा अधिकारी के कार्यालय में जमा कर दें।
  • उत्तराखंड सरकार की ओर से निर्देश जारी किए गए हैं कि जुलाई के पहले सप्ताह से बच्चों को आर्थिक मदद दी जाएगी, इस बीच, अगर इन बच्चों को मदद नहीं मिलती है, तो वे दिए गए हेल्पलाइन नंबर 1098 पर कॉल करके मदद ले सकते हैं।

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना के तहत कार्यान्वयन

  • उन सभी बच्चों का चयन करने की जिम्मेदारी नोडल अधिकारी की होगी जो मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना के पात्र हैं।
  • नोडल अधिकारियों को यह सुनिश्चित करना होगा कि Uttarakhand Vatsalya Yojana 2022 का लाभ हर एक लाभार्थी बच्चे को दिया जा रहा है।
  • इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज समय पर तैयार हो जाएं, इसकी ज़िम्मेदारी नोडल अधिकारी की होगी।
  • उत्तराखंड सरकार द्वारा इस योजना के तहत सभी पात्र बच्चों की सूची का अभिलेख भी तहसील स्तर पर जमा कराया जायेगा।
  • इस योजना के तहत क्षेत्र में पंचायती राज संस्थाएं, पंचायत समिति, ग्राम पंचायत स्तर, बाल संरक्षण, आंगनबाडी कार्यकर्ता, शिक्षा गढ़ आदि अपने क्षेत्र में बच्चों के चयन में नोडल अधिकारी का सहयोग करेंगे।
  • उत्तराखंड सरकार द्वारा राज्य के सभी पात्र बच्चों की सूची तैयार की जाएगी, और सूची तैयार होने के बाद Uttarakhand Vatsalya Yojana 2022 का लाभ सभी पात्र बच्चों को नोडल अधिकारी द्वारा उपलब्ध कराया जायेगा।

उत्तराखंड वात्सल्य योजना 2022 के लाभ

  • उत्तराखंड वात्सल्य योजना 2022 का सीधा लाभ राज्य के उन सभी अनाथ बच्चों तक पहुंचेगा, जिनके माता-पिता कोरोना महामारी के कारण मर गए है। 
  • इन अनाथों की संपत्ति को और कोई नुकसान नहीं होगा और सरकार इसकी देखभाल करेगी।
  • इस योजना का तहत छोटे बच्चों से लेकर 21 साल की उम्र तक ₹3000 महीने की आर्थिक राशि दी जाएगी।
  • उत्तराखंड मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना के तहत लाभ राज्य के इन अनाथ बच्चों को इसलिए प्रदान किया जाएगा, जिससे किसी के सामने हाथ नहीं फैलाना पड़ेगा और अपना खर्च खुद वहन कर सकेंगे।
  • इस योजना के उन सभी अनाथ बच्चो की संपत्ति सुरक्षित रहेगी और सरकार उसकी सुरक्षा के लिए नियम बनाएगी, और साथ ही सरकारी कोटे में 5% नौकरियों का प्रावधान होगी।

उत्तराखंड वात्सल्य योजना का उदेश्य

उत्तराखंड सरकार ने इस योजना का उदेश्य यह बताय है की राज्य जो बच्चे अनाथ हुए है उन सभी शिक्षा को दी जाएगी और उनको सरकारी नौकरी के लिए पांच प्रतिशत की साहयता दी जाएगी और इसके आलावा उन अनाथ बच्चों की संपत्ति के लिए भी सरकार नियम तय करे गए है जो राज्य के इन बच्चों के वयस्क होने तक उनकी पैतृक संपत्ति को बेचने का अधिकार किसी को नहीं होगा, जब वह व्यस्क हो जाएगे तो उत्तराखंड मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2022 के तहत वह अपनी संपत्ति बेच सकते है। [यह भी पढ़े – उत्तराखंड प्रवासी यात्रा पंजीकरण 2021: Uttarakhand Migrant Workers Registration]

Uttarakhand Vatsalya Yojana 2022 का लाभ

  • Uttarakhand Vatsalya Yojana द्वारा उन बच्चो को लाभ मिलेगा जो महामारी के कारण अपने माता-पिता खो चुके है।
  • इस योजना में आवेदन करने वाले बच्चो को उत्तराखंड का मूल निवासी होने चाहिए।
  • Uttarakhand Vatsalya Yojana के अनुसार अनाथ और बेसहारा बच्चो साहयता दी जाएगी। 

उत्तराखंड वात्सल्य योजना 2022 के पात्रता

  • इस योजना के लिए आवेदन कर के लाभ केवल उत्तराखंड के स्थायी निवासी ही ले सकते है।
  • उत्तराखंड वात्सल्य योजना का लाभ केवल उन सभी नागरिको को दिया जाएगा जो कोरोना के कारण अपने माता पिता को खो चुके है।

उत्तराखंड प्रवासी यात्रा पंजीकरण 2021

Uttarakhand Vatsalya Yojana के लिए दस्तावेज

  • आवेदक का स्थाई निवास प्रमाण पात्र
  • मृत्यु प्रमाणपत्र
  • जन्म तिथि का प्रमाणपत्र
  • आधार कार्ड
  • बैंक खाता विवरण

उत्तराखंड मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया

आप दिए गए आसान से चरणों के द्वारा मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना के तहत आवेदन की प्रक्रिया को पूरा कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको वुमन एंपावरमेंट एंड चाइल्ड डेवलपमेंट, उत्तराखंड सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल  जाएगा।
उत्तराखंड वात्सल्य योजना
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको रिसेंट अपडेट्स का विकल्प दिखाई देगा, आपको इस विकल्प पर क्लिक कर देना है।
रिसेंट अपडेट्स
मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना
मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना हेतु आवेदन पत्र
  • अब आपके सामने स्क्रीन पर आवेदन पत्र की पीडीएफ फाइल आएगी, इस फाइल को  आपको डाउनलोड के विकल्प पर क्लिक कर  डाउनलोड करना है।
  • डाउनलोड करने के पश्चात इस फार्म का प्रिंट आउट निकाल लेना है।
  • प्रिंट आउट करने के बाद फार्म पर आप से पूछी गई सभी जानकारी जैसे – माता का नाम , जन्मतिथि, जाति, शैक्षिक योग्यता आदि  आदि जानकारी  को दर्ज कर देना है।
  • सभी विवरण देने के पश्चात आपको यह फार्म  संबंधित दस्तावेजों के साथ नजदीकी संबंधित विभाग में जमा कर देना है।
  • इस प्रकार आप ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं। ऑफलाइन आवेदन की सफलतापूर्वक जांच के बाद आपको इस योजना का लाभ दिया जाएगा।

Download Application Form

यदि आप राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई उत्तराखंड वात्सल्य योजना के तहत आवेदन करना चाहते तो आपको एप्लीकेशन फॉर्म को डाउनलोड करना होगा, और उसके हमारे द्वारा नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करे :-

  • आपको एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड करने के लिए सबसे पहले “क्लिक हेयर” पर क्लिक देना है।
  • इसके बाद आपके सामने एक पेज खुल कर आ जाएगा, अब आपको इस पेज में एक पीडीऍफ़ दिखाई देगी।
  • इस पीडीऍफ़ में आपको  उत्तराखंड वात्सल्य योजना के फॉर्म से संबंधित सभी जानकारी दिखाई देगी।
  • अब आपको इस पीडीऍफ़ को डाउनलोड करना होगा, और उसके लिए आपको डाउनलोड के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • जैसे ही आप डाउनलोड के बटन पर क्लिक करेंगे तो एप्लीकेशन फॉर्म आपके डिवाइस में डाउनलोड हो जाएगा, अब आप इसे प्रिंट कर सकते है।

Important Link

Leave a Comment