(Vivah Panjikaran) विवाह पंजीकरण 2021: शादी प्रमाण पत्र ऑनलाइन आवेदन, स्टेटस चेक

मैरिज रजिस्ट्रेशन फॉर्म डाउनलोड | Vivah Panjikaran Form | विवाह पंजीकरण प्रमाण पत्र उत्तर प्रदेश | शादी प्रमाण पत्र ऑनलाइन आवेदन

हमारे देश में विवाह प्रमाणपत्र एक आवश्यक दस्तावेज है और अब इसे भारत सरकार ने अनिवार्य कर दिया है। केंद्र सरकार की ओर से जारी नई गाइडलाइंस के मुताबिक भारत के हर नागरिक को शादी के बाद मैरिज सर्टिफिकेट बनवाना अनिवार्य कर दिया है। आप विवाह पंजीकरण के माध्यम से अपना विवाह प्रमाण पत्र प्राप्त कर सकते हैं, और Vivah Panjikaran के कई लाभ हैं और सरकार ने प्रत्येक राज्य के नागरिकों के लिए विवाह पंजिकरण की एक आधिकारिक वेबसाइट भी लॉन्च की है। तो दोस्तों यदि आप सरकार द्वारा शुरू किए गए मैरिज रजिस्ट्रेशन के तहत पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आपको हमारे इस आर्टिकल को पूरा पढ़ना होगा क्योकि हमने अपने इस आर्टिकल में विवाह पंजीकरण 2021 से संबंधित सभी जानकारी प्रदान की है। [यह भी पढ़ें- एलआईसी आम आदमी बीमा योजना 2021 | ऑनलाइन आवेदन, क्लेम फॉर्म पीडीएफ]

Vivah Panjikaran 2021

इस योजना के तहत सभी शादीशुदा जोड़ों को शादी के बाद Vivah Panjikaran करवाना होता है। शादी का रजिस्ट्रेशन करने के बाद सरकार एक मैरिज सर्टिफिकेट भी देती है जो आपकी शादी का प्रूफ होता है। यह विवाह प्रमाणपत्र महिलाओं के अधिकारों की रक्षा करता है, चाहे आप भारत के किसी भी राज्य से ताल्लुक रखते हों या किसी भी धर्म का पालन करते हों, आपको शादी के बाद अपनी विवाह पंजीकरण करवाना होगा। इस मैरिज रजिस्ट्रेशन की मदद से आप महिलाओं की घरेलू हिंसा, बाल विवाह, धोखाधड़ी, तलाक आदि जैसी समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं। विवाह प्रमाण पत्र कई और दस्तावेज बनाने में एक आवश्यक दस्तावेज की भूमिका निभाता है। इसलिए अगर आपने हाल ही में शादी की है या शादी करने जा रहे हैं तो आपको अपना मैरिज सर्टिफिकेट जरूर बनवाना चाहिए, तो दोस्तों यदि आप विवाह पंजीकरण 2021 के तहत और अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आपको इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। [यह भी पढ़ें- CBSE E Pariksha Portal: Login/Registration ePariksha Portal-cbse.nic.in]

विवाह पंजीकरण

Highlights of Vivah Panjikaran 2021

नामविवाह पंजीकरण, शादी प्रमाण पत्र ऑनलाइन आवेदन
आरम्भ की गईभारत सरकार के द्वारा
वर्ष2021
लाभार्थीनव विवाहित दंपत्ति
पंजीकरण की प्रक्रियाऑनलाइन
उद्देश्यविवाह पंजीकरण की ऑनलाइन व्यवस्था
श्रेणीकेंद्र सरकारी योजनाएं

विवाह पंजीकरण 2021 का उद्देश्य

भारत में शादी के बाद महिलाओं को कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है, जिनमें प्रमुख समस्याएं हैं घरेलू हिंसा, बाल विवाह, पति की मृत्यु के बाद घर से बाहर निकाल दिया जाना आदि। यही कारण है कि भारत सरकार ने विवाह पंजीकरण की सुविधा को कराया है, ताकि महिलाओं के साथ हो रहे अन्याय को रोका जा सके। भारत सरकार ने इस विवाह पंजीकरण को हर धर्म, जाति और क्षेत्र के लोगों के लिए अनिवार्य कर दिया है। अब आप अपने घर बैठे विवाह पंजीकरण कर सकते हैं, इसके लिए आपको आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन जमा करना होगा। Vivah Panjikaran न केवल महिलाओं को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने में सहायक होगा बल्कि महिलाओं को सशक्त बनाने में भी मदद करेगा। [यह भी पढ़ें- स्वामित्व योजना 2021: PM Swamitva Yojana ऑनलाइन पंजीकरण, लाभ, पात्रता]

शादी प्रमाण पत्र आवेदन के लाभ एवं विशेषताएं

मैरिज रजिस्ट्रेशन के कुछ मुख्य लाभ तथा विशेषताएं इस प्रकार हैं।

  • केंद्र सरकार के माध्यम से भारत में सभी विवाहित जोड़ों के लिए Vivah Panjikaran 2021 को अनिवार्य कर दिया है, और विवाह प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिए विवाह पंजीकरण किया जाता है।
  • विवाह प्रमाण पत्र महिलाओं के अधिकारों की रक्षा करने में भी काफी मददगार साबित होगा, और भारत के हर धर्म के नागरिकों को शादी के बाद अपना विवाह प्रमाण पत्र बनवाना होता है।
  • कई अन्य सरकारी दस्तावेज बनाने के लिए भी विवाह प्रमाण पत्र की आवश्यकता होती है, और आप अपने राज्य की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपना विवाह प्रमाण पत्र बनवाने के लिए ऑनलाइन आवेदन भी कर सकते हैं।
  • यदि आप ऑनलाइन प्रक्रिया से विवाह प्रमाण पत्र नहीं बना पा रहे हैं तो आप ऑफलाइन आवेदन के माध्यम से भी विवाह प्रमाण पत्र बना सकते हैं।
  • विवाह पंजीकरण कराने के लिए आपको एक निर्धारित शुल्क का भुगतान करना होगा, और अगर आप समय पर विवाह पंजीकरण नहीं करवाते हैं, तो आपको जुर्माना भी देना होगा।
  • पति की मृत्यु के मामले में, यदि पत्नी के पास विवाह प्रमाण पत्र है, तो उसे अपने सभी अधिकार प्राप्त हो सकते हैं।
  • आप शादी का पंजीकरण कराकर भी नागरिकता प्राप्त कर सकते हैं, और विवाह पंजिकरण भी बाल विवाह को रोकने में अहम भूमिका निभाएगा।

Vivah Panjikaran 2021 के तहत पात्रता मानदंड

  • विवाह पंजीकरण के लिए आवेदन करने में पुरुष की आयु 21 वर्ष एवं महिला की आयु 18 वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए। भारत में विवाह के लिए न्यूनतम निश्चित आयु भी यही है यदि इस आयु से पहले कोई व्यक्ति विवाह करता है तो ऐसी स्थिति में उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जा सकती है।
  • पंजीकरण करवाने के लिए आवेदक का पति या पत्नी भारत के स्थाई निवासी होने चाहिए केवल तभी से भारत में अपना विवाह पंजीकरण करवा सकते हैं।
  • शादी के 1 महीने के अंदर Vivah Panjikaran करवाना अनिवार्य है।
  • विवाह पंजीकरण 2021 के लिए आवेदन करने के समय यदि वह यहां वधू में से कोई व्यक्ति पहले तलाकशुदा है तो उन्हें अपने तलाक का प्रमाण पत्र भी जमा कराना होगा।

आवश्यक दस्तावेज

आपको अपने Vivah Panjikaran के लिए आवेदन करने के समय निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता होगी।

  • आवासीय प्रमाण पत्र
  • वर एवं वधू का आधार कार्ड
  • वर वधु का आयु प्रमाण पत्र
  • वर वधु के पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • विदेश में शादी की स्थिति में एंबेसी द्वारा नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट।
  • शादी का निमंत्रण कार्ड
  • शादी के समय की तस्वीर
  • शादी के समय दो गवाह के बारे में पूरी जानकारी एवं उनका प्रमाण पत्र।

ऑनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से विवाह पंजीकरण

आप नीचे दी गई चरण दर चरण प्रक्रिया का पालन करके ऑनलाइन माध्यम से अपना Vivah Panjikaran करवा सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको अपने राज्य की मैरिज रजिस्ट्रेशन की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको “अप्लाई नाउ” के विकल्प पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
  • इस पेज पर आप पंजीकरण फॉर्म देख सकते हैं। इस फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी ध्यान पूर्वक भरी जैसे आपका नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी आदि।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आवश्यक दस्तावेजों को अपलोड करें एवं सब्मिट का बटन दबाकर अपना आवेदन जमा करा दें।
  • इस प्रकार आपके विवाह पंजीकरण की ऑनलाइन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

ऑफलाइन प्रक्रिया के माध्यम से विवाह पंजीकरण

भारत सरकार ने विवाह पंजीकरण के लिए ऑनलाइन पोर्टल तो शुरू कर दिया है। परंतु अभी भी सरकार ने इसके आवेदन की ऑफलाइन प्रक्रिया को बंद नहीं किया है। तो यदि आप अपने Vivah Panjikaran के लिए ऑफलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो इसकी प्रक्रिया नीचे दी गई है।

  • सबसे पहले आपको अपने जिले के संबंधित सब रजिस्ट्रार के ऑफिस में जाना होगा।
  • सब रजिस्ट्रार के ऑफिस में जाकर आप वहां से मैरिज रजिस्ट्रेशन का फॉर्म प्राप्त कर सकते हैं।
  • अब इस विवाह पंजीकरण के फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी ध्यान पूर्वक एवं साफ साफ शब्दों में भरे जैसे आपका नाम, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर आदि।
  • फॉर्म में सभी जानकारी भरने के बाद एक बार दोबारा इसकी जांच कर ले एवं इसके साथ सभी आवश्यक दस्तावेजों को अटैच कर ले।
  • अब इस फॉर्म को सब रजिस्ट्रार के ऑफिस में जाकर संबंधित अधिकारी को जमा करा दें।
  • फॉर्म को जमा कराने के बाद आपको एक रेफरेंस नंबर प्रदान किया जाएगा जिसके माध्यम से आप अपने पंजीकरण की स्थिति देख सकते हैं।

विवाह पंजीकरण के लिए राज्यवार अधिकारिक वेबसाइट

आपकी सुविधा के लिए दीजिए हमने सभी राज्यों की Vivah Panjikaran के लिए आधिकारिक वेबसाइट के लिंक प्रदान कर दिए हैं।

आंध्र प्रदेश यहां क्लिक करें
 अरुणाचल प्रदेश यहां क्लिक करें
आसाम यहां क्लिक करें
 बिहार यहां क्लिक करें
 छत्तीसगढ़ यहां क्लिक करें
 गोवा यहां क्लिक करें
 गुजरात यहां क्लिक करें
 हरियाणा यहां क्लिक करें
 हिमाचल प्रदेश यहां क्लिक करें
 झारखंड यहां क्लिक करें
 कर्नाटका यहां क्लिक करें
 केरला यहां क्लिक करें
 मध्य प्रदेश यहां क्लिक करें
 महाराष्ट्र यहां क्लिक करें
 मणिपुर यहां क्लिक करें
 मेघालय यहां क्लिक करें
 मिजोरम यहां क्लिक करें
 नागालैंड यहां क्लिक करें
 ओड़िशा यहां क्लिक करें
 पंजाब यहां क्लिक करें
 राजस्थान यहां क्लिक करें
 सिक्किम यहां क्लिक करें
 तमिल नाडु यहां क्लिक करें
 तेलंगाना यहां क्लिक करें
 त्रिपुरा यहां क्लिक करें
 उत्तराखंड यहां क्लिक करें
 उत्तर प्रदेश यहां क्लिक करें
 वेस्ट बंगाल यहां क्लिक करें
 पुडुचेरी यहां क्लिक करें
 लक्षदीप यहां क्लिक करें
 लद्दाख यहां क्लिक करें
 जम्मू एंड कश्मीर यहां क्लिक करें
 दिल्ली यहां क्लिक करें
 दादर एंड नगर हवेली दमन एंड दिउ यहां क्लिक करें
 चंडीगढ़ यहां क्लिक करें
 अंडमान निकोबार आईलैंड यहां क्लिक करें

Leave a Comment