(रजिस्ट्रेशन) ई-श्रम पोर्टल 2021: eshram.gov.in, श्रमिक कार्ड ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व लॉगिन

ई-श्रम पोर्टल पंजीकरण | E-Shram Online Registration Uttar Pradesh | e-SHRAM Card Apply Online | ई-श्रम पोर्टल ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म | E Shram Portal Apply Online

हम सभी नागरिक जानते है की हमारे देश में किसान व श्रमिकों को लाभ प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार कई अन्य तरह की योजनए आरम्भ करती है, इसी तरह केंद्र सरकार ने असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का डेटाबेस तैयार करने के लिए ई-श्रम पोर्टल की शुरुआत की है। इस पोर्टल के द्वारा देश श्रमिकों को योजनाओ का लाभ प्रदान किया जाएगा। केंद्र सरकार द्वारा E Shram Portal को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य यह है की देश के गरीब श्रमिकों को सहायता प्रदान की जा सके, तो दोस्तों यदि आप E-Shram Portal के तहत लाभ प्राप्त करना चाहते है तो आप सभी को इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर आवेदन करना होगा उसके बाद ही आपको ई-श्रम पोर्टल का लाभ प्रदान किया जाएगा। यदि आप E Shram Portal से संबंधित सभी जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आपको हमारे इस आर्टिकल को पूरा पढ़ना होगा। [यह भी पढ़ें- (रजिस्ट्रेशन) Pradhan Mantri Solar Panel Yojana 2021: फ्री सोलर पैनल योजना आवेदन]

Table of Contents

E-Shram Portal

केंद्र सरकार द्वारा असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को कई अन्य तरह की योजनाओ का लाभ प्रदान करने के लिए ई-श्रम पोर्टल की शुरुआत की गयी है। इस योजना के तहत देश के मजदूरों को और अन्य तरह की योजना लाभ सीधे मिल सकेगा। केंद्र सरकार द्वारा बताया गया है की श्रमिकों को योजनाओ का लाभ देने के लिए E Shram Portal को 26 अगस्त 2021 को आरम्भ किया गया है। इस पोर्टल के द्वारा असंगठित क्षेत्र के 38 करोड़ श्रमिकों को पंजीकृत किया जायेगा। E-Shram Portal पर निर्माण मजदूरों के अलावा प्रवासी श्रमिक, रेहड़ी-पटरी वाले और घरेलू काम करने वालो का भी पंजीयन किया जायेगा। इस पोर्टल पर देश के असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का ई-श्रम पोर्टल ऑनलाइन पंजीयन के द्वारा, श्रमिकों का ऑनलाइन डेटाबेस तैयार किया जायेगा, तो दोस्तों यदि आप E-Shram Portal के तहत आवेदन करना चाहते है तो आपको E Shram Portal पर जाना होगा और आवेदन करना होगा और अधिक जानकारी के लिए आपको हमारे इस आर्टिकल को पढ़ना चाहिए। [यह भी पढ़ें- (Vivah Panjikaran) विवाह पंजीकरण 2021: शादी प्रमाण पत्र ऑनलाइन आवेदन, स्टेटस चेक]

ई-श्रम पोर्टल

3.9 करोड़ श्रमिकों के खाते अभी तक नहीं है आधार से लिंक

हम सभी नागरिक जानते है की केंद्र सरकार ने असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का डेटाबेस तैयार करने के लिए ई-श्रम पोर्टल को शुरू किया है, इसके साथ ही इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए देश के नागरिको ने 29 अक्टूबर 2021 तक असंगठित क्षेत्र के 5.29 करोड़ पंजीकरण हो चुका है। केंद्र सरकार द्वारा इन सभी पंजीकृत श्रमिकों के माध्यम से दी गई जानकारी के अनुसार, यह पता चला है की 74.78% या 3.9 करोड़ श्रमिकों के बैंक खाते आधार से जुड़े नहीं हैं। ई-श्रम पोर्टल के द्वारा इन सभी श्रमिकों के पास आधार कार्ड उपलब्ध है। केंद्र सरकार द्वारा यह कहा गया है की किसी भी सरकारी योजना के तहत लाभ या सब्सिडी के तहत लाभ लेने के लिए नागरिक को के खाते को आधार से लिंक करना अनिवार्य है उसके ही बाद उन सभी को लाभ प्रदान के जाएगे। इसके आलावा नागरिको का बैंक खाता आधार से लिंक नहीं है, तो उन सभी के खाते में सब्सिडी नहीं दी जाती है। [यह भी पढ़ें- (आवेदन) फ्री सिलाई मशीन योजना 2021: रजिस्ट्रेशन फॉर्म, PM Free Silai Machine]

  • ई-श्रम पोर्टल के माध्यम से देश के गरीब नागरिको को सहायता व लाभ प्रदान किया जाएगा और अब व्यक्तिगत बैंकों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश देना आरम्भ करा गया है उन सभी के बैंक खाते को आधार से जोड़ा गया है।
  • मीडिया के अनुसार यह भी जानकारी मिल रही है की देश के सभी श्रमिको का आधार लिंक हो जाएगा तो उसके बाद पंजीकरण की प्रक्रिया बहुत ही तेज़ी से की जाएगी।
  • केंद्र सरकार द्वारा ई-श्रम पोर्टल के तहत 38 करोड़ से अधिक अनौपचारिक क्षेत्र के श्रमिकों को मार्च 2022 तक पंजीकृत किया जाएगा और इस पोर्टल के तहत श्रमिको के जीवन में भी सुधार आएगा।
  • इस योजना के तहत सभी पंजीकृत श्रमिकों का डेटाबेस सरकार के लिए तैयार किया जाएगा, जिसके माध्यम से सरकार द्वारा शुरू की गई सभी योजनाओ का लाभ प्रदान किया जाएगा, तो दोस्तों यदि आप इस पोर्टल के तहत लाभ लेना चाहते है तो आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा और आवेदन करना होगा उसके बाद ही आपको इसका लाभ दिया जाएगा।

रजिस्ट्रेशन के समय दिक्कत आने पर करें टोल फ्री नंबर पर कॉल

हम सब जानते है की देश के असंगठित क्षेत्र के कामगार ई श्रम पोर्टल पर आसानी से अपना पंजीकरण करा सकते हैं, और विभिन्न सरकारी योजनाओं और सुविधाओं का लाभ आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। केंद्र सरकार द्वारा बताया गया है की इस योजना के माध्यम से नागरिको को काफी सहायता मिलेगी और वह सभी अपने जीवन को अच्छे से यापन कर सकेंगे। दोस्तों यदि आप इस योजना के तहत पंजीकरण करना चाहते है, लेकिन आपको ई-श्रम पोर्टल के तहत पंजीकरण करते समय में कोई समस्या आ रही है, तो उसके लिए आप सरकार द्वारा शुरू किए गए एक टोल फ्री नंबर पर सम्पर्क कर सकते है। श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने अपने ट्विटर के जरिए यह जानकारी दी है की यदि आवेदक किसी तरह की समस्या का सामना कर रह है तो हमारे इस हेल्पडेस्क नंबर 14434 पर संपर्क कर सकता है और अपनी समस्या का समाधान कर सकते है। [यह भी पढ़ें- सुमन योजना 2021: प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान का लाभ कैसे ले पूरी जानकारी]

27 लाख से अधिक श्रमिकों ने किया ई-श्रम पोर्टल के तहत आवेदन

हम सभी नागरिक जानते हैं की देश के संगठित एवं असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए सरकार ने पिछले महीने ई श्रम पोर्टल को आरम्भ किया था और इस पोर्टल को सुरु करने के मुख्य उदेश्य यह था की देश के संगठित एवं असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों सहायता प्रदान करके उनके जीवन में सुधार लाया जा सके। केंद्र सरकार ने इस योजना के तहत यह बताया है की देश संगठित एवं असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों  ने लाभ प्राप्त करने के लिए अब तक 27 लाख से अधिक पंजीकरण के लिए आवेदन किया गया है और श्रम एवं रोजगार मंत्रालय असंगठित क्षेत्र के कामगारों का पंजीकरण करवाने के लिए विभिन्न शिविरों का भी आयोजन कर रही है। [यह भी पढ़ें- (NDHM Health ID) नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन योजना | ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, पात्रता व लॉगिन]

  • ऐसे ही एक शिविर का आयोजन 9 सितंबर 2021 को नई दिल्ली के श्रम शक्ति भवन में शुरू किया गया है।
  • इसके आलावा इस शिविर के माध्यम से कई अन्य तरह के मंत्रालयों में कार्यरत असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का पंजीकरण किया गया जिसके तहत करीब 80 श्रमिकों का पंजीकरण शिविर में हुआ है।
  • इस शिविर का उद्घाटन श्रम एवं रोजगार राज्यमंत्री एवं पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस राज्य मंत्री रामेश्वर तेली के माध्यम से हुआ है उन सभी को श्रमिकों से इस पोर्टल पर पंजीकरण करवाने का आग्रह हुआ है तो दोस्तों यदि आप इस योजना के तहत लाभ उठाना चाहते है तो आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होगा उसके बाद ही आपको इसका लाभ दिया जाएगा।

ई-श्रम पोर्टल के तहत नई अपडेट

हम सभी लोग जानते है की हमरे देश में श्रम एवं रोजगार मंत्रालय भारत सरकार के सबसे पुराने मंत्रालयों में से एक है, और केंद्र सरकार द्वारा इस मंत्रालय को शुरू काने का मुख्य उद्देश्य यह है की देश श्रमिकों एवं समाज के गरीब वंचित वर्गों के हित की सामान्य रूप से रक्षा प्रदान की जा सके। इसके आलावा यह मंत्रालय उच्च उत्पादन और उत्पादकता के लिए एक स्वस्थ कार्य वातावरण भी बनाता है। इसके साथ ही मंत्रालय के माध्यम से कौशल प्रशिक्षण भी दिया जाता है ताकि देश के श्रमिकों को रोजगार के अवसर प्रदान किए जा सके। श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के माध्यम से संगठित एवं असंगठित क्षेत्र कल्याण को बढ़ावा भी प्रदान किया जाएगा, और साथ ही श्रम बल को सामाजिक सुरक्षा भी दी जाएगी। यदि दोस्तों आप ई-श्रम पोर्टल के तहत रोज़गार प्राप्त करना चाहते है या आप आवेदन करना चाहते है तो आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जा कर आवेदन करना होगा उसके बाद ही आप सभी को इस योजना का लाभ दिया जाएगा। [यह भी पढ़ें- प्रधानमंत्री कर्म योगी मानधन योजना 2021 – PM Karam Yogi Mandhan Yojana]

Overview of E Shram Portal

योजना का नामई-श्रम पोर्टल
आरम्भ की गईकेंद्र सरकार द्वारा
लाभार्थीदेश के नागरिक
उद्देश्यसभी श्रमिकों का डाटा एकत्रित करना
श्रेणीकेंद्र सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइटhttps://eshram.gov.in/

ई-श्रम पोर्टल नई अपडेट

असंगठित क्षेत्र के कर्मचारियों को ई श्रम पोर्टल के तहत जागरूकता फैलाने के लिए केंद्रीय मंत्री द्वारा समर्थन तैयार किया गया है। इस पोर्टल पर अभी तक एक करोड़ से अधिक श्रमिकों ने आवेदन किया है। आवेदन प्राप्त होने के बाद विभिन्न योजनाओं जैसे कोविड-19 राहत योजना, अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना आदि का लाभ इन श्रमिकों को ई-श्रम कार्ड के माध्यम से वितरित किया गया है। केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय का कहना है कि ई-श्रम पोर्टल पर करीब 38 करोड़ मजदूरों का आवेदन किया जाएगा। पंजीकरण के बाद उन्हें ई श्रम कार्ड जारी किया जाएगा जिसे पूरे देश में मान्य माना जाएगा। केंद्र सरकार द्वारा ई श्रम कार्ड के माध्यम से असंगठित कामगारों को एक नई पहचान मिलेगी और भविष्य में इन सभी कर्मचारियों को सामाजिक सुरक्षा का फायदा भी दिया जाएगा। [यह भी पढ़ें- नेशनल करियर सर्विस पोर्टल: National Career Service Portal रजिस्ट्रेशन व लॉगिन]

ई श्रम पोर्टल के तहत पंजीकृत श्रमिकों को दिया जाएगा बीमा कवर

E Shram Portal पर लाभ प्राप्त करने के लिए देश के 27 लाख से अधिक नागरिको ने किया आवेदन जिसके तहत अब हम आपको श्रम एवं रोजगार मंत्री द्वारा पंजीकरण से होने वाले लाभों के बारे में भी जानकारी देंगे। ई-श्रम पोर्टल असंगठित श्रमिकों का राष्ट्रीय डेटाबेस तैयार करने के लिए आरम्भ किया गया है ताकि सरकार देश के श्रमिकों को कई अन्य तरह की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ प्रदान कर सके, इसके आलावा केंद्र सरकार सभी राज्य सरकारों एवं अन्य हितग्राहियों के साथ पोर्टल पर श्रमिकों का पंजीकरण करने में सक्रिय रुप से सहयोग कर रही है। इस पोर्टल पर रजिस्टर्ड श्रमिक कि यदि किसी दुर्घटना में मृत्यु हो जाती है तो उसके परिवार को सहयता के रूप में ₹200000 का बीमा प्रदान किया जाएगा और दुर्घटनावश स्थाई विकलांगता होने पर ₹200000 एवं आंशिक विकलांगता होने पर ₹100000 का बिमा दिया जाएगा, तो दोस्तों आप भी E-Shram Portal पर पंजीकरण करके लाभ प्राप्त कर सकते है। [यह भी पढ़ें- (आवेदन) फ्री सिलाई मशीन योजना 2021: रजिस्ट्रेशन फॉर्म, PM Free Silai Machine]

श्रम एवं रोजगार मंत्रालय

इस श्रम एवं रोजगार मंत्रालय द्वारा श्रमिकों को विभिन्न प्रकार की योजनाओं का लाभ भी प्रदान किया जाता है। श्रम एवं रोजगार मंत्रालय की मुख्य जिम्मेदारी श्रमिकों एवं समाज के गरीब वंचित वर्गों के हित की सामान्य रूप से रक्षा करना है। इस मंत्रालय के द्वारा गरीब वंचित वर्गों को कौशल प्रशिक्षण भी प्रदान किया जाता है। जिस का लाभ प्राप्त कर श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध हो सके। श्रम एवं रोजगार मंत्रालय द्वारा संगठित एवं असंगठित छेत्रो के गरीब वर्गों में कल्याण को बढ़ावा दिया जाता है। इसके अतिरिक्त श्रम बल को सामाजिक सुरक्षा भी दी  जाती है। इस  मंत्रालय दुवारा विभिन्न प्रकार के श्रम कानूनों के अधिनियम के माध्यम से विभिन्न प्रकार की स्कीम्स का कार्यान्वयन किया जाता  है। जिस के दुवारा बेरोज़गार श्रमिकों को रोजगार प्रदान किया जा सके। [यह भी पढ़ें- प्रधानमंत्री मुद्रा योजना 2021: ऑनलाइन फॉर्म | Mudra Loan Yojana Registration]

पंजीकरण के पश्चात श्रमिक प्राप्त कर सकेंगे विभिन्न योजनाओं के लाभ

वह सभी लाभार्थी श्रमिक जिनको इस पोर्टल के माध्यम से लाभ मिलेगा। वे सभी श्रमिक भविष्य में भारत सरकार की अन्य सामाजिक सुरक्षा योजना का भी लाभ प्राप्त कर सकते है।इसके अतिरिक्त प्रधानमंत्री श्रम मानधन योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना आदि का लाभ भी इस पोर्टल के माध्यम से दिया जायेगा।यदि इच्छुक आवेदक दी गई सभी योजनाओं का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं। तब वह सभी 3000 रुपए की प्राप्ति इस पोर्टल पर अपना पंजीकरण करवा सकते हैं। [यह भी पढ़ें- (रजिस्ट्रेशन) ई-श्रम पोर्टल 2021: eshram.gov.in, श्रमिक कार्ड ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व लॉगिन]

श्रम एवं रोजगार मंत्री द्वारा की गई अपील

श्रम एवं रोजगार के राज्य मंत्री श्री रामेश्वर तेली द्वारा सभी असंगठित क्षेत्र के कामगारों को ई-श्रमपोर्टल पर आवेदन करने के लिए अपील की गई है। इसके अलावा श्रमिकों के द्वारा जागरूकता फैलाने के लिए समर्थन देने का भी आग्रह किया गया है। इस पोर्टल के माध्यम से अब तक 1 करोड़ से अधिक श्रमिक पंजीकरण करा चुके है। वह सभी श्रमिक जो इस पोर्टल पर पंजीकृत हैं। उनको श्रम कार्ड अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना एवं बीड़ी, ई- श्रमिक कार्ड, कोविड-19 राहत योजना कार्ड दिए जाएंगे जो कि पूरे देश में मान्य होंगे। यह कार्ड श्रमिकों की पहचान कार्ड के रूप में भी कार्य करेगा। इन सभी कार्ड पर 12 अंकों का यूनिवर्सल नंबर होगा जो कि इन कार्ड की पहचान होगा। [यह भी पढ़ें- (Registration) PMEGP योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म]

ई-श्रम पोर्टल का उद्देश्य

केंद्र सरकार द्वारा शुरू किए गए E-Shram Portal का मुख्य उद्देश्य यह है की प्रवासी श्रमिक गिग और प्लेटफार्म श्रमिक, स्ट्रीट वेंडर, घरेलू श्रमिक, कृषि श्रमिक, निर्माण श्रमिक आदि सहित सभी असंगठित क्षेत्र के मजदूरों का केंद्रीकृत डेटाबेस का निर्माण किया जा सके। केंद्र सरकार द्वारा बताया गया है की ई-श्रम पोर्टल के माध्यम से सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के कार्यान्वयन में सुधार लाया जाएगा, और इस पोर्टल के द्वारा सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का एकीकरण भी होगा। E-Shram Portal के द्वारा देश के श्रमिकों को उन सभी के कौशल के अनुसार रोजगार दिए जाएगे और इसके साथ ही E Shram Portal भविष्य में कोविड-19 जैसे किसी भी राष्ट्रीयसंकट से निपटने के लिए व्यापक डाटाबेस भी देगा। तो दोस्तों यदि आप इसके तहत लाभ प्राप्त करना चाहते है तो आपको इस कार्ड को बनवाना होगा। [यह भी पढ़ें- (रजिस्ट्रेशन) आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म]

E-Shram Portal के लाभ

  • देश के असंगठित श्रमिक जो ई-श्रम पोर्टल के तहत पंजीकरण करेंगे, उन्हें एक वर्ष के लिए प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (पीएमएसबीवाई) के माध्यम से दुर्घटना बीमा मिलेगा।
  • इस योजना के तहत रजिस्टर उम्मीदवारों को आकस्मिक मृत्यु और स्थायी विकलांगता के लिए 2 लाख रुपये या आंशिक विकलांगता के लिए 1 लाख रुपये की सहायता प्रदान की जाएगी।
  • ई-श्रम पोर्टल के तहत सरकार का लक्ष्य 38 करोड़ से अधिक श्रमिकों को पंजीकृत करना है।
  • प्राकृतिक आपदाओं, महामारी के मामले में पात्र UWs को आश्रय / सहायक प्रदान करने के लिए कार्ड राज्य और केंद्र सरकार के लिए सहायक होगा।
  • यह कार्ड पूरे भारत में स्वीकार्य होगा।

ई–श्रम पोर्टल स्टेक होल्डर

यूआईडीएआई

यूआईडीएआई परियोजना का एक महत्वपूर्ण भागीदार है और सत्यापन यूआईडीएआई के द्वारा होता है। आधार आधारित पंजीकरण प्रक्रिया समय-समय पर पूरी होती है, यूआईडीएआई पोर्टल के साथ सभी महत्वपूर्ण जानकारी साझा होती है।

एनपीसीआई

एनपीसीआई के माध्यम से यूडब्ल्यू के बैंक खाते के सत्यापन और एनडीयूडब्ल्यू पोर्टल के द्वारा आधार को बैंक खाते से जोड़ने के लिए एपीआई मिलेगा।

ईएसआईसी\ईपीएफओ

ईएसआईसी और ईपीएफओ भी इस पोर्टल के हिस्सेदार होंगे और सीएससी और ईपीएफओ को यूएएन के माध्यम से पोर्टल को जोड़ा जाएगा। इन सभी के द्वारा असंगठित और संगठित क्षेत्र के मजदूरों से संबंधित जानकारी प्राप्त करने में सहायता होगी। इसके साथ ही असंगठित क्षेत्र से संगठित क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों का भी डाटा उपलब्ध किया जाएगा।

सीएससी

सीएससी 3.5 लाख से ज़ादा केंद्रों पर देश के सभी नेटवर्क के द्वारा देश भर में डिजिटल इंडिया मिशन की कई अन्य तरह की सेवाएं दे रहे हैं। सीएससी के द्वारा आप कई तरह की योजनाओं के तहत नामांकन कर सकते हैं। यह एक नामांकन एजेंसी के रूप में काम करता है।

डाकघर के माध्यम से डाक विभाग

डाक विभाग के तहत करीब 1.55 लाख डाकघर आरम्भ किय गए है और ये डाकघर पूरे भारत में आधार आधारित सेवाएं देता हैं। डाकघर सीएससी एसपीवी की तर्ज पर नाम की एजेंसी के रूप में कार्य करेंगे।

निजी क्षेत्र के भागीदार

निजी क्षेत्र की भागीदारी जैसे असंगठित श्रमिकों के नियोक्ता, गिग और प्लेटफॉर्म एग्रीगेटर, दूध संघ, सहकारी समितियों के साथ काम करने वाले असंगठित श्रमिकों का पंजीकरण मंत्रालय के माध्यम से किया जाएगा। इसके साथ ही, निजी क्षेत्रों के व्यापक उपयोग के लिए ओपन एपीआई भी प्रकाशित होगा।

इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय

सचिव की अध्यक्षता में परियोजना संचालन समिति नाम की एक अधिकार प्राप्त समिति का गठन किया जायेगा और परियोजना समन्वय के लिए कौन जिम्मेदार होगा। यह समिति विभिन्न मुद्दों के समाधान पर विचार करने में भी मदद करेगी। और NDUW के कार्यान्वयन की निगरानी करना।

राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र

एनआईसी एमडीयूडब्ल्यू परियोजना के तहत परियोजना निष्पादन एजेंसी है, और एनआईसी परियोजना को लागू करने के लिए डिजाइन और विकास में भी सहायता होगी। इस परियोजना के तहत एनआईसी के माध्यम से एक समग्र आईसीटी समाधान भी होगा।

राज्य / केंद्र शासित प्रदेश सरकार

राज्य और केंद्र शासित प्रदेश सरकारें NDUW प्लेटफॉर्म की प्राथमिक फीडर और उपयोगकर्ता करेगी। इसके आलावा राज्य और केंद्र शासित प्रदेश सरकारें अपने-अपने राज्यों में कार्यान्वयन की जिम्मेदारी उठेगी। सभी लाभार्थियों को सरकार के माध्यम से पंजीकृत किया जाएगा और नागरिकों को लाभ से संबंधित जागरूकता होगी।

केंद्र सरकार के लाइन मंत्रालय/विभाग

असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों की निगरानी के लिए केंद्र सरकार के मंत्रालय और विभाग भी उनके हितधारक होंगे। सरकार और उनके विभागों के तहत काम करने वाले सभी असंगठित क्षेत्र के कामगारों का डाटा पोर्टल पर उपलब्ध कराया जाएगा।

असंगठित श्रमिक और उनके परिवार

एनडीयूडब्ल्यू असंगठित श्रमिकों के लिए भविष्य में सामाजिक सुरक्षा कोड के अनुसार सामाजिक सुरक्षा योजनाओं और लाभों का लाभ उठाने के तहत एक राष्ट्रीय मंच भी पेश किया जाएगा।

श्रम पोर्टल के तहत एक्ट्स और रूल्स`

एक्यूपेशनल सेफ्टी, हेल्थ एंड वर्किंग कंडीशन कोड, 2020

इस कोड के द्वारा कार्यरत श्रमिकों की व्यवसाइक सुरक्षा और स्वास्थ्य एवं काम करने की स्थिति को विनियमित होता है। यह कोड 13 पुराने केंद्रीय श्रम कानूनों की जगह शुरू होता है।

इंडस्ट्रियल रिलेशन कोड 2020

इस कोड के द्वारा रोजगार की शर्तें, औद्योगिक विवादों की जांच और निपटान से संबंधित कानूनों को समेकित और संशोधित करा जाता है। इस कोड को दूसरे राष्ट्रीय श्रम आयोग की रिपोर्ट और सिफारिशों के अनुसार आरम्भ करा गया है।

सामाजिक सुरक्षा पर कोड 2020

सामाजिक सुरक्षा अधिनियम का उद्देश्य यह है की संगठित या असंगठित या अन्य क्षेत्र के सभी कर्मचारियों और मजदूरों को सामाजिक सुरक्षा दी जा सके, और इसके आलावा इस संहिता के द्वारा सामाजिक सुरक्षा से संबंधित कानून को संशोधित और समेकित हुआ है।

वेजेज 2019 पर कोड

इस कोड के द्वारा सभी रोजगारों में मजदूरी और बोनस भुगतान को विनियमित करने में काम करता है जहां पर कोई उद्योग, व्यापार, व्यवसाय या निर्माण होता है  और यह कोड सभी कर्मचारियों पर लागु होता है। केंद्रीय क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों के लिए, केंद्र सरकार के माध्यम से निर्धारित मजदूरी दी जाती है और राज्य सरकार के क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों के लिए, राज्य सरकार के माध्यम से निर्धारित मजदूरी होती है।

असंगठित श्रमिक सामाजिक सुरक्षा अधिनियम 2008

केंद्र सरकार द्वारा बताया गया है की करीब 88% श्रमिक असंगठित क्षेत्र में काम करते हैं, लेकिन उन सभी को सामाजिक सुरक्षा लाभ नहीं प्रदान किया जाता है। केंद्र सरकार के माध्यम से असंगठित श्रमिकों के विशिष्ट समूहों जैसे बीड़ी श्रमिकों, भवन और निर्माण श्रमिकों आदि के लिए कल्याणकारी योजनाएं चलाई जाती हैं। इन सभी श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा देने के लिए इन योजनाओं को शुरू किया जाता है, ताकि संगठित कार्यकर्ता सामाजिक सुरक्षा अधिनियम भी लागू हो सके।

अंतर्राज्यीय प्रवासी कामगार अधिनियम 1979

इस अधिनियम के माध्यम से कार्य परिस्थितियों में व्यावसायिक सुरक्षा दी  ६+जाती है। यह अधिनियम पिछले 12 महीनों के किसी भी दिन के दौरान पांच या अधिक अंतरराष्ट्रीय श्रमिकों को नियोजित करने वाले प्रतिष्ठानों और ठेकेदारों पर लागू होता है। इस अधिनियम के तहत ठेकेदार के लिए स्थापना और लाइसेंस के पंजीकरण का भी इंतेज़ाम है।

बंधुआ मजदूरी प्रणाली अधिनियम 1976

अपने ऋणों को पूरा करने के लिए, देनदार या उसके वंशज या आश्रितों को अपने ऋणों को पूरा करने के लिए बंधुआ मजदूरी करने के लिए मजबूर किया गया था। इस अधिनियम के तहत ऐसे बंधुआ मजदूरी को अपराध माना गया है। बंधुआ मजदूरी की प्रथा को समाप्त कर दिया गया है जिसके लिए राष्ट्रपति द्वारा एक अध्यादेश भी जारी किया गया था।

संविदा श्रम अधिनियम 1970

संविदा कर्मचारी वह व्यक्ति होता है जिसे एक विशिष्ट कार्य और अवधि के लिए एक ठेकेदार के माध्यम से एक कंपनी में काम करने के लिए काम पर रखा जाता है। ठेकेदारों को काम पर रखने वाली कंपनियों द्वारा काम पर रखा जाता है। ठेका श्रम अधिनियम 1970 को प्रतिष्ठान के श्रमिकों के दुरुपयोग को रोकने और उनके लिए एक स्वस्थ कार्य वातावरण सुनिश्चित करने के लिए अधिनियमित किया गया है।

न्यूनतम मजदूरी अधिनियम 1948

यह अधिनियम वेतन मानकों में सुधार के लिए आरम्भ किया गया है, और इस अधिनियम के द्वारा न्यूनतम मजदूरी तय की गई है ताकि श्रमिकों को कम मजदूरी से बचा सके।

ई-श्रम पोर्टल के तहत अन्य तरह की योजनाएं

एंप्लॉयमेंट योजना

  • दीनदयाल उपाध्याय अंत्योदय योजना- इस योजना के द्वारा देश के गरीब श्रमिकों को कौशल प्रशिक्षण एवं व्यवसाय आरंभ करने के लिए आर्थिक सहायता दी जाती है।
  • पीएम स्वनिधि- इस योजना के द्वारा देश के रेहड़ी पटरी वालों को ₹10000 की आर्थिक सहायता लोन के तौर पर मुहैया कराई जाती है।
  • मनरेगा- केंद्र सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से श्रमिकों को 100 दिन का गारंटी रोजगार दिया जाता है।
  • दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना- इस योजना के तहत ग्रामीण युवाओं को कौशल प्रशिक्षण देने के उद्देश्य से विकसित की गई है। इस योजना के द्वारा कौशल प्रशिक्षण के बाद युवाओं को नौकरी भी मिलती है।
  • प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना- केंद्र सरकार के माध्यम से इस योजना के द्वारा देश के युवाओं को कौशल प्रशिक्षण दिया जाता है ताकि उन सभी को रोजगार मिल सके।

सोशल सिक्योरिटी वेलफेयर स्कीम

  • नेशनल पेंशन स्कीम फॉर शॉपकीपर, ट्रेडर्स एंड सेल्फ एंप्लॉयड पर्सन- इस योजना के तहत नागरिक को ₹3000 की पेंशन 60 वर्ष की आयु के बाद सहायता के रूप में दी जाती है। केंद्र सरकार द्वारा इस योजना के तहत लाभ लेने के लिए नागरिक को ₹55 से लेकर ₹200 के प्रीमियम का भुगतान देना होता है, और प्रीमियम की राशि का 50% हिस्सा लाभार्थी द्वारा जमा किया जाता है एवं 50% हिस्सा केंद्र सरकार के माध्यम से वहन किया जाता है।
  • प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना- केंद्र सरकार द्वारा इस योजना के तहत यदि नागरिक की किसी एक्सीडेंट के कारण मृत्यु हो जाती है या लाभार्थी पूरी तरह से विकलांग हो जाता है तो ₹200000 की राशि दी जाती है। यदि नागरिक पूरी तरह विकलांग नहीं होता है तो ₹100000 की आर्थिक सहायता मिलती है।
  • अटल पेंशन योजना- इस योजना के तहत नागरिक को ₹1000 से लेकर ₹5000 तक की पेंशन मिलती है, और नागरिक के पति या पत्नी को लाभार्थी की मृत्यु के बाद इस योजना का लाभ एकमुश्त राशि में दिया जाता है।
  • PDS- इस योजना के द्वारा नागरिको को 35 किलो चावल या गेहूं हर महीना दिए जाते है। गरीबी रेखा से ऊपर जीवन यापन करने वाले परिवार को 15 किलो खाद्य पदार्थ दिए जाते हैं।
  • प्रधानमंत्री आवास योजना -ग्रामीण- इस योजना के द्वारा घर के निर्माण के लिए प्लेन एरिया में 1.2 लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी जाती है और हिली एरिया में 1.3 लाख रुपया की आर्थिक सहायता दी जाती है।
  • प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना – केंद्र सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से देश के 60 वर्ष की आयु पूर्ण होने वाले लाभार्थी को ₹3000 की राशि पेंशन के रूप में दी जाती है, अगर नागरिक की मृत्यु हो जाती है तो सरकार द्वारा इस योजना का लाभ उसके पति या पत्नी को 50% प्रदान किया जाता है। इस योजना के तहत लाभ लेने के लिए नागरिक को हर महीना प्रीमियम का भुगतान करना होगा जो कि ₹55 से ₹200 के बीच है।
  • प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना- इस योजना को डिपार्टमेंट ऑफ फाइनेंशियल सर्विस के माध्यम से कार्यान्वित किया जाता है। इस योजना के तहत लाभ बैंक द्वारा दिया जाता है। लाभार्थी की किसी भी कारणवश मृत्यु होने पर ₹200000 लाभार्थी के नॉमिनी को इस योजना के तहत किए जाते हैं।
  • नेशनल सफाई करमचारी फाइनेंस एंड डेवलपमेंट कॉरपोरेशन- इस योजना के द्वारा सफाई कर्मचारियों को सरकार के द्वारा आर्थिक सहायता दी जाती है।
  • सेल्फ एंप्लॉयमेंट स्कीम फॉर रिहैबिलिटेशन आफ मैन्युअल स्कैवेंजर्स- इस योजना के द्वारा मैनुअल स्कैवेंजर और उनके आश्रित नागरिको को मुफ्त में कौशल प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके साथ ही सरकार के माध्यम से ₹3000 का स्टाइपेंड भी दिया जाएगा।
  • आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना- इस योजना के द्वारा केंद्र सरकार के माध्यम से ₹500000 तक का स्वास्थ्य बीमा हर एक परिवार को बिना किसी प्रीमियम का भुगतान के दिया जाता है।
  • हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम फॉर वीवर्स- इस योजना के द्वारा वीवर को स्वास्थ्य बीमा दिया जाता है।

ई-श्रम पोर्टल की विशेषताएं

  • ई श्रम पोर्टल 27 अगस्त 2021 को रोजगार मंत्री भूपेंद्र यादव द्वारा लॉन्च किया गया था।
  • ई श्रम कार्ड को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य यह है की देश के असंगठित और संगठित क्षेत्र के कर्मचारियों को कई अन्य तरह की सुविधाएं प्रदान की जा सके।
  • केंद्र सरकार द्वारा 38 करोड़ असंगठित क्षेत्र के कर्मचारियों को इस योजना के तहत जोड़ने का निर्णय लिया गया है।
  • ई श्रम कार्ड के माध्यम से देश के श्रमिक आत्मनिर्भर और सशक्त होंगे और उन्हें रोजगार के विभिन्न अवसर प्राप्त होंगे।
  • इसके माध्यम से एक राष्ट्रीय डेटाबेस तैयार किया जाएगा जिसे आधार से जोड़ा जाएगा, और मजदूरों और रेहड़ी-पटरी वालों और घरेलू कामगारों को जोड़ा जाएगा।
  • इस पोर्टल पर सभी को एक साथ जोड़ने का मुख्य उद्देश्य यह है कि इन सभी श्रमिकों को विभिन्न प्रकार की सुविधाओं का लाभ प्रदान किया जा सके।
  • इन श्रमिकों को 12 अंकों का ई-कार्ड प्रदान किया जाएगा जो पूरे देश में मान्य होगा।
  • ई श्रम कार्ड के उपयोग से देश के श्रमिक विभिन्न प्रकार की योजनाओं का लाभ उठा सकेंगे और साथ ही देश के श्रमिक कार्ड के माध्यम से रोजगार प्राप्त कर सकेंगे।
  • यह पोर्टल देश में चल रही विभिन्न सामाजिक सुरक्षा योजनाओं और रोजगार योजनाओं के बेहतर संचालन के लिए शुरू किया गया है।
  • इस पोर्टल के माध्यम से भविष्य में कोविड-19 जैसे राष्ट्रीय संकट से निपटने में सहायता प्रदान की जाएगी और इसके लिए एक डेटाबेस तैयार किया जाएगा।
  • इस कार्ड का उपयोग करके वह देश में कहीं भी विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ उठा सकेंगे।
  • आधार कार्ड के नाम पर सरकार द्वारा श्रमिकों को ई-श्रम कार्ड वितरित किए जाएंगे साथ ही उन्हें रोजगार के अवसर भी प्रदान किए जाएंगे।
  • यह पोर्टल श्रम और रोजगार मंत्रालय द्वारा संचालित किया जाएगा।
  • जो कोई भी इस पोर्टल का लाभ लेना चाहता है, उसे जल्द से जल्द इस पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आप आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर सकते हैं, और आवेदन करने के बाद पंजीकृत लाभार्थियों को 2 लाख रुपये तक का दुर्घटना बीमा भी प्रदान किया जाएगा।

E Shram Portal की पात्रता

योजना का प्रकारयोजना का नामपात्रता
 PDSइस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने वला आवेदक भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।आवेदक गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहा होना चाहिए। वह परिवार इस योजना का लाभ प्राप्त करने के योग्य है जिसमें किसी भी सदस्य की आयु 15 से 59 वर्ष के बीच नहीं है।वह परिवार जिसमें कोई दिव्यांग व्यक्ति है वह भी इस योजना का लाभ प्राप्त करने के योग्य है।वह नागरिक जिसके पास कोई भी स्थाई नौकरी नहीं है वह भी इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकता है।
 नेशनल पेंशन स्कीम फॉर शॉपकीपर, ट्रेडर एंड सेल्फ एंप्लॉयड पर्सनआवेदक भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।आवेदक की आयु 18 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए।इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक का एनुअल टर्नओवर 1.5 करोड़ से ज्यादा नहीं होना चाहिए।वह लोग जो ई पी एफ ओ, ई एस आई सी, पीएमएसवाईएम के अंतर्गत कवर्ड नहीं है वह इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए पात्र हैं।वह लोग जिनकी छोटी दुकानें, रेस्टुरेंट, होटल आदि है वह भी इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।
 प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजनाइस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने वला आवेदक भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।आवेदक की आयु 18 से 50 वर्ष के बीच होनी चाहिए।इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक के पास जनधन या फिर सेविंग बैंक अकाउंट होना अनिवार्य है।
 प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजनाआवेदक भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।आवेदक की आयु 18 से 70 वर्ष के बीच होनी चाहिए।इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक के पास जनधन या फिर सेविंग बैंक अकाउंट होना अनिवार्य है।
 अटल पेंशन योजनाआवेदक भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।आवेदक की आयु 18 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
सोशल सिक्योरिटी वेलफेयर स्कीमप्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजनाइस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने वला आवेदक भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए। आवेदक असंगठित क्षेत्र से होना चाहिए। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक की आयु 18 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए। आवेदक की मासिक आय ₹15000 से कम होनी चाहिए।आवेदक ईपीएफओ, ईएसआईसी, एनपीएस का मेंबर नहीं होना चाहिए।
 प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीणआवेदक भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।वह नागरिक इस योजना का लाभ उठा सकता है जिसके पास कोई भी स्थाई नौकरी नहीं है।वह परिवार इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकता है जिसमें कोई दिव्यांग नागरिक है।वह परिवार भी इस योजना का लाभ प्राप्त करने के योग्य है जिस परिवार में कोई भी 15 से 59 वर्ष का सदस्य नहीं है।
 नेशनल सोशल एसिस्टेंस प्रोग्रामआवेदक भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।वह व्यक्ति इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकता है जिसके पास आय का साधन बहुत कम है या फिर नहीं है।
 आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजनावह परिवार जो कच्चे घर में रह रहे हैं वह इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।यदि परिवार में 16 से 59 वर्ष के बीच कोई भी सदस्य नहीं है तो वह परिवार इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकता है।यदि परिवार में कोई भी व्यक्ति सेहतमंद नहीं है एवं एक व्यक्ति दिव्यांग है तो वह परिवार भी इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकता है।मैन्युअल स्कैवेंजर्स फैमिली।वह परिवार जिनके पास कोई भी जमीन नहीं है एवं परिवार की मुख्य आय का साधन मैनुअल लेबर है।वह परिवार इस योजना का लाभ प्राप्त करने के पात्र हैं जिस परिवार में कोई भी आय अर्जित करने वाला नागरिक जिसकी आयु 16 से 59 वर्ष के बीच है उपस्थित नहीं है।
 हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम फॉर वीवर्सआवेदक भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।विवर द्वारा कम से कम 50% इनकम हैंडलूम वीविंग से प्राप्त होनी चाहिए। 
 नेशनल सफाई करमचारी फाइनेंस एंड डेवलपमेंट कॉरपोरेशनआवेदक भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।आवेदक सफाई कर्मचारी या फिर मैन्युअल स्कैवेंजर होना चाहिए।
 सेल्फ एंप्लॉयमेंट स्कीम फॉर रिहैबिलिटेशन आफ मैन्युअल स्कैवेंजर्सआवेदक भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।आवेदक आईडेंटिफाइड मानो स्कैवेंजर होना चाहिए।इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए केवल परिवार का एक ही सदस्य आवेदन कर सकता है। 
एंप्लॉयमेंट स्कीममनरेगाआवेदक भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।आवेदक की आयु 18 वर्ष या फिर उससे ज्यादा होनी चाहिए एवं वह ग्रामीण क्षेत्र का निवासी होना चाहिए।
 दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजनाआवेदक भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक की आयु 15 से 35 वर्ष के बीच होनी चाहिए।महिलाओं एवं वल्नरेबल ग्रुप के लिए अधिकतम आयु 45 वर्ष निर्धारित की गई है।
 दीनदयाल उपाध्याय अंत्योदय योजनाइस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदन भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।
 पीएम स्वनीधिइस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने वला  आवेदक भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए6आवेदक सर्वे में आईडेंटिफाई होना चाहिए।आवेदक के पास सर्टिफिकेट ऑफ वेंडिंग या फिर आईडेंटिटी कार्ड होना चाहिए जो कि अर्बन लोकल बॉडी द्वारा दिया गया हो।
 प्रधानमंत्री कौशल विकास योजनाआवेदक भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए दसवीं कक्षा उत्तीर्ण होनी चाहिए।आवेदक की आयु 18 से 45 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
 प्रधानमंत्री एंप्लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्रामइस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने वला आवेदक भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक की आयु 18 वर्ष या फिर उससे ज्यादा होनी चाहिए।आवेदक द्वारा कम से कम आठवीं कक्षा उत्तीर्ण की होनी चाहिए।

E-Shram Portal के स्टेक होल्डर

  • यूआईडीएआई
  • एनपीसीआई
  • ईएसआईसी
  • ईपीएफओ
  • सीएससी – एसपीवी
  • डिपार्टमेंट ऑफ पोस्ट थ्रू पोस्ट ऑफिस
  • प्राइवेट सेक्टर पार्टनर
  • मिनिस्ट्री ऑफ लेबर एंड एंप्लॉयमेंट
  • मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी
  • नेशनल इनफॉर्मेटिक्स सेंटर
  • स्टेट/यूटी गवर्नमेंट
  • लाइन मिनिस्ट्रीज/डिपार्टमेंट ऑफ सेंट्रल गवर्नमेंट
  • वर्कर्स फैसिलिटेशन सेंटर एंड फील्ड ऑपरेटर
  • अनोर्गनाइज्ड वर्कर्स एंड देयर फैमिली

आवश्यक दस्तावेज

  • राशन कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आयु का प्रमाण
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर
  • आधार नंबर
  • आधार नंबर से लिंक मोबाइल नंबर
  • सेविंग बैंक अकाउंट नंबर
  • आईएफएससी कोड

ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको E Shram Portal की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आ जाएगा।
ई-श्रम पोर्टल
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको रजिस्टर ऑन ई श्रम के विकल्प पर क्लिक कर देना है, अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
ई-श्रम पोर्टल
  • अब इस पर आपको अपना आधार लिंक मोबाइल नंबर, कैप्चा कोड, ईपीएफओ एवं ईएसआईसी मेंबर स्टेटस दर्ज कर देना है।
  • इसके बाद आपको सेंड ओटीपी के विकल्प पर क्लिक करना होगा, अब आपको प्राप्त हुआ ओटीपी ओटीपी बॉक्स में दर्ज कर देना है।
  • अब आपको रजिस्टर के विकल्प पर क्लिक कर देना है, इस तरह आप E Shram Portal पर रजिस्टर कर सकते है।

ई श्रम कार्ड कैसे बनवाए?

फर्स्ट स्टेप

  • सबसे पहले आपको ई श्रम पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आ जाएगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको रजिस्टर ऑन ई श्रम के विकल्प पर क्लिक कर देना है, इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आ जाएगा, इस पेज में आपको अपना आधार लिंक मोबाइल नंबर तथा कैप्चा कोड को दर्ज कर देना है।
  • अब आपको ईपीएफओ एवं ईएसआईसी मेंबर स्टेटस दर्ज कर देना है, इसके बाद आपको सेंड ओटीपी के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • इसके बाद आपके मोबाइल फोन पर एक ओटीपी आएगा, अब आपको इस ओटीपी को बॉक्स में दर्ज कर देना है। 
  • अब आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक कर देना है, इसके बाद आपको अपना आधार नंबर दर्ज कर देना है।
  • इसके बाद आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक कर देना है और अब आपके मोबाइल फोन पर एक और ओटीपी भेजा जाएगा।
  • अब आपको ओटीपी बॉक्स में दर्ज करके वैलिडेट के विकल्प पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने आपके आधार कार्ड का डेटाबेस और आप की फोटोग्राफ एवं अन्य जानकारी आपके समाने खुल कर आ जाएगी।

सेकंड चरण

  • अब आपको कंफर्म टू एंटर अदर डिटेल्स के विकल्प पर क्लिक कर देना है, इसके बाद आपको निम्नलिखित जानकारी को दर्ज कर देना है :-
    • पर्सनल इंफॉर्मेशन
    • एजुकेशन क्वालीफिकेशन
    • ऑक्यूपेशन एंड स्किल
    • बैंक डिटेल
  • इसके बाद आपको सभी दस्तावेजों को अपलोड कर देना है, अब आपको प्रीव्यू सेल्फ डिक्लेरेशन के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • अब आपके द्वारा दर्ज की गई सभी जानकारी आपके सामने खुलकर आ जाएगी, आपको इस जानकारी को चेक कर लेना है।
  • आपको डिक्लेरेशन पर टिक करके सबमिट के विकल्प पर क्लिक कर देना है और आपके मोबाइल फोन पर एक ओटीपी आ जाएगा।
  • इसके बाद आपको ओटीपी बॉक्स में दर्ज करके वेरीफाई के विकल्प पर क्लिक कर देना है और आपको कंफर्म के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • अब आपके सामने आपका ई श्रम कार्ड खुलकर आ जाएगा, इसके बाद आपको डाउनलोड यूएएन कार्ड के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • आपके द्वारा विकल्प पर क्लिक कर देना है और आपका ई श्रम कार्ड डाउनलोड हो जाएगा।

सीएससी लोकेट कैसे करे

  • सबसे पहले आपको E-Shram Portal की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसक बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको सीएससी लोकेटर के विकल्प पर क्लिक कर देना है। अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
सीएससी लोकेट
  • इसके बाद आपको इस पेज पर अपने राज्य एवं जिले का चयन कर देना है, और सीएससी से संबंधित जानकारी आपके सामने खुल जाएगी।

एडमिन लॉगइन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको E-Shram Portal की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसक बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको एडमिन लॉगइन के विकल्प पर क्लिक कर देना है, इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
एडमिन लॉगइन
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको अपनी ईमेल आईडी, पासवर्ड तथा क्या कैप्चा कोड दर्ज कर देना है, और अब आपको साइन इन के विकल्प पर क्लिक कर देना है।

शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको E-Shram Portal की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसक बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको कांटेक्ट अस के विकल्प पर क्लिक कर देना है। अब आपको ग्रीवेंस के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
शिकायत दर्ज
  • इसके बाद आपके सामने ग्रीवेंस फॉर्म खुल कर आएगा, अब आपको इस फॉर्म में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी दर्ज कर देनी है।
  • इसके बाद आपको लॉज ग्रीवेंस के विकल्प पर क्लिक कर देना है, और इस तरह आप शिकायत दर्ज कर सकते है।

शिकायत स्टेटस चेक करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको ई-श्रम पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको कांटेक्ट अस के विकल्प पर क्लिक कर देना है, इसके बाद आपको ग्रीवेंस के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • अब आपको व्यू थे स्टेटस आफ योर ग्रीवेंस के विकल्प पर क्लिक कर देना है, इसके बाद आपको रेफरेंस नंबर दर्ज कर देना है।
  • अब आपको व्यू स्टेटस के विकल्प पर क्लिक कर देना है, और शिकायत स्टेटस आपके सामने खुल कर आ जाएगा।

स्कीम से संबंधित जानकारी प्राप्त करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको ई श्रम पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको स्कीम्स के विकल्प पर क्लिक कर देना है, इसके बाद आपके सामने निम्नलिखित ऑप्शन खुल कर आएंगे।
    • सोशल सिक्योरिटी वेलफेयर स्कीम
    • एंप्लॉयमेंट स्कीम
  • अब आपको अपनी आवश्यकता के अनुसार विकल्प पर क्लिक कर देना है, और संबंधित जानकारी आपके सामने खुल कर आ जाएगी।

यूजर गाइड डाउनलोड कैसे करे?

  • सबसे पहले आपको ई श्रम पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल कर आ जाएगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको सर्विसेस के विकल्प पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपको यूजर गाइड के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आ जाएगा, इसके बाद आपको इस पेज पर डाउनलोड के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • आपके द्वारा क्लिक करने के बाद यूजर गाइड आपके डिवाइस में डाउनलोड हो जाएगी।

कांटेक्ट डिटेल देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको ई श्रम पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको कांटेक्ट अस के विकल्प पर क्लिक कर देना है, इसके बाद आपको दोबारा कॉन्टैक्ट अस के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
कांटेक्ट डिटेल
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा, और इस पेज पर आप कांटेक्ट डिटेल देख सकते हैं।

Contact Us

इस लेख के द्वारा आज हमने आपको ई-श्रम पोर्टल से संबंधित सभी जानकारी दी है। यदि आप अभी भी किसी प्रकार की समस्या का सामना कर रहे हैं तो आप हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करके या फिर ईमेल लिखकर अपनी समस्या का समाधान कर सकते हैं।

Leave a Comment