(रजिस्ट्रेशन) आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना 2021 | Pradhanmantri Aatmnirbhar Bharat Rozgar Yojana Registration | आत्मनिर्भर रोजगार योजना लाभ

हमारे देश के नागरिको के लिए वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण जी के द्वारा 12 नवम्बर 2020 को रोजगार प्रदान करने के लिए Atmanirbhar Bharat Rozgar Yojana को आरम्भ किया है। लेकिन सरकार के द्वारा इस योजना को 01 अक्टूबर 2020 मान लिया था। हमारे देश के नरेंद मोदी सरकार द्वारा आत्मनिर्भर भारत रोज़गार योजना को इसलिए आरम्भ किया गया है कियोकि हमारे देश के वह सब नागरिक जिनकी covid-19 के कारण 01 मार्च से 30 सितम्बर 2020 के बीच, जो जॉब छूट गयी थी। इस योजना के द्वारा उन सभी नागरिको को रोजगार दिया जाएंगा। तो दोस्तों आज हम आपको इस योजना से जुड़ी पूरी जानकारी देंगे। जैसे की इस योजना का मुख्य उद्देश्य क्या है, तथा इसके लाभ क्या है| आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया हम आपको अपने इस लेख के द्वारा सभी बताएंगे |[यह भी पढ़ें- (PMJAY) आयुष्मान भारत योजना 2021: Ayushman Bharat Yojana ऑनलाइन आवेदन]

Table of Contents

Aatmnirbhar Bharat Rozgar Yojana

Pradhanmantri Atmanirbhar Bharat Rojgar Yojana के अंतगर्त सरकार द्वारा देश के पात्र नागरिको को संगठित क्षेत्रों में रोजगार दिया जायगा | आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना द्वारा वे सभी नागरिक जो नई संस्थाओं में रजिस्टर्ड  होते है तथा उनकी एक साल की आय 15 हजार रूपये से कम है,और कर्मचारी भविष्य निधि संगठन आर्थात ईपीएफओ में पहले कभी रजिस्ट्रेशन नहीं हुआ है इस स्थिति में उन सब नागरिको को सरकार की ओर से प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का लाभ दिया जायग। आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना 2021 के द्वारा संस्थाओं  को भी प्रोत्साहित किया जायगा |[यह भी पढ़ें- (रजिस्ट्रेशन) प्रधानमंत्री किसान ट्रैक्टर योजना 2021: Kisan Tractor Yojana ऑनलाइन आवेदन]

Aatm Nirbhar Bharat Rojgar Yojana

आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना 2021

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के मुख्य तथ्य (Highlight)

योजना का नामप्रधानमंत्री आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना 2021
आराम्भित योजनावित्तमंत्री निर्मला सीतारमण जी के द्वारा
आवेदन का प्रकारअभी घोषित नहीं किया गया
लाभार्थीदेश के नागरिक
योजना का उद्देश्यरोजगार प्रदान करना
आरम्भित तिथि12 नवम्बर 2020
आवेदन की तिथिअभी घोषित नहीं किया गया
योजना का लाभआर्थिक स्थिति में सुधार
आवेदन की अंतिम तिथिजून 30 2021
योजना की श्रेणीकेंद्र सरकार योजना

मार्च 2022 तक बढ़ाया जा सकता है योजना का दायरा

देश में अभी भी Covid 19 वायरस महामारी का संकट बना हुआ है। जिससे करीब 2.53 करोड़ नागरिकों की नौकरी चली गई है। अकेले मई महीने में ही 1.5 करोड़ से ज्यादा लोगों की नौकरी चली गई है। इसी संकट को देखते हुए सरकार ने पिछले साल आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना की शुरु की गई थी। इस योजना के माध्यम से कर्मचारी और नियोक्ता के भविष्य निधि योगदान को सरकार द्वारा 2 साल के लिए जमा किया जाएगा। जिसमें सरकार द्वारा मूल वेतन और महंगाई भत्ता और नियोक्ता अंशदान और कर्मचारी अंशदान का 12% जमा किया जाएगा। सरकार का लक्ष्य इस योजना के माध्यम से 58.5 लाख नौकरियां पैदा करना है। 1 अक्टूबर 2020 से आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का संचालन किया जा रहा है। इस योजना की समय सीमा 30 जून 2021 को समाप्त हो रही है। सरकार, इस समय सीमा को मार्च 2022 तक बढ़ा सकती है।[यह भी पढ़ें- (Live) pmkisan.gov.in Status 2021: PM Kisan 9वी किस्त List, Payment Status]

21 लाख कर्मचारियों को मिली नई नौकरी

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के तहत अब तक 22810 करोड़ रुपये खर्च किए जा चुके हैं। जिससे 21 लाख नए कर्मचारियों की नियुक्ति हुई है। केवल वही कर्मचारी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं जिनकी मासिक आय ₹15000 से कम है और वे 1 अक्टूबर 2020 से पहले किसी ईपीएफओ में पंजीकृत संस्थान में काम नहीं कर रहे थे। इसके अलावा, यह भी अनिवार्य है की कर्मचारियों के पास यूएएन नंबर हो। यदि किसी कर्मचारी का वेतन ₹15000 से कम है और वह EPFO का सदस्य है तो उसे इस योजना का लाभ तभी प्रदान किया जाएगा जब उसने 1 मई 2020 से 30 सितंबर 2020 के बीच अपनी नौकरी खो दी हो। इस अवधि के दौरान कर्मचारी किसी भी कंपनी से संबद्ध नहीं होना चाहिए जो ईपीएफओ के साथ पंजीकृत है।[यह भी पढ़ें- PM Modi Yojana 2021: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी स्कीम्स लिस्ट | पीएम मोदी सरकारी योजना सूची]

Aatmnirbhar Bharat Rozgar Yojana New Update

हम सभी जानते हैं कि कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन की वजह से सभी क्षेत्रों में लगभग हर तरह का काम बंद हो गया है और इस वजह से देश के कई नागरिको ने अपनी नौकरी खो दी है, इस दौरान देश में काफी भारी बेरोजगारी की समस्या हो गई है और इसी के कारण आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना विपक्षी दलों और बेरोजगारों के लिए बहुत ही फायदेमंद और मुंहतोड़ जवाब साबित हो रही है। इसके अलावा भारत सरकार की कैबिनेट ने देश में डिजिटल क्रांति को बढ़ावा देने के लिए काफी प्रयास किए हैं और इसके लिए सरकार ने पीएम पब्लिक वाईफाई नेटवर्क इंटरफेस को मंजूरी देने का अहम फैसला भी लिया है। इस योजना के तहत भारत में लगभग सभी जगहों पर पब्लिक डाटा ऑफिस खोले जाएंगे, और पब्लिक डाटा ऑफिस खोलने के लिए लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन या किसी और की जरूरत नहीं होगी और इसे आसानी से खोला जा सकता है।[यह भी पढ़ें- (List) प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लिस्ट 2021: PMAY-G संशोधित लिस्ट]

कोविड-19 के चपेट में आने वाले कर्मचारी

केंद्र सरकार के माध्यम से देश के उन सभी लोगों को भी इस Aatmnirbhar Bharat Rozgar Yojana का लाभ दिया जाएगा, जिनके पास यूएएन खाता है, लेकिन जिनकी सैलरी 15 हजार रुपए से कम है। इसके अलावा 1 मार्च से 30 सितंबर तक कोविड के कारण नौकरी गंवाने वालों को भी केंद्र सरकार के माध्यम से इस Aatmnirbhar Bharat Rozgar Yojana का लाभ दिया जाएगा। भारत सरकार ने कहा है कि 1000 लोगों को रोजगार देने वाली कंपनियों के पुर्जों का खर्च सरकार खुद वहन करेगी, और 1000 से अधिक लोगों को लगातार 2 साल तक नया रोजगार प्रदान करने वाली कंपनियों के प्रत्येक कर्मचारी को 12% योगदान की लागत भारत सरकार वहन करेगी।[यह भी पढ़ें- प्रधानमंत्री आवास योजना लिस्ट 2021-22: PMAY List (pmaymis.gov.in) पीएमएवाई शहरी सूची]

16.5 लाख लाभार्थियों को मिला योजना का लाभ

कोरोना संक्रमण के दौरान रोजगार के नुकसान की भरपाई के लिए आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना शुरू की गई है। इस योजना के तहत, नई नियुक्ति में 2 साल के लिए कर्मचारी भविष्य निधि द्वारा योगदान दिया जाएगा। यह योगदान 12% -12% वेतन का होगा। इस योजना के माध्यम से नियोक्ताओं को रोजगार सृजन के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। इस योजना के तहत अब तक लगभग 16.5 लाख नागरिक लाभान्वित हुए हैं। श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने 17 मार्च 2021 को राज्यसभा में यह जानकारी दी। आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के माध्यम से लागू किया जाएगा।[यह भी पढ़ें- (Vivah Panjikaran) विवाह पंजीकरण 2021: शादी प्रमाण पत्र ऑनलाइन आवेदन, स्टेटस चेक]

प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का सर्वे

हम सभी जानते हैं सरकार द्वारा विभिन्न योजनाएं आरम्भ करने के लिए पूर्ण डाटा की जरूरत होती है तथा इस डेटा प्रयोग करके ही विभिन्न प्रकार की योजनाएं आरम्भ की जाती हैं। श्रम मंत्री संतोष गंगवार जी के द्वारा 18 फरवरी 2021 को भारतीय सर्वेक्षण के लिए सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन लॉन्च करने का निर्णय लिया गया है इसके द्वारा पांच सर्वेक्षण किए जाएंगे जैसे सर्वे ऑन माय ग्रेट वर्कर्स,, ऑल इंडिया सर्वे ऑन एंप्लॉयमेंट जेनरेटेड बाय प्रोफेशन,ऑल इंडिया सर्वे ऑन माय ग्रेट वर्कर्स, तथा ऑल इंडिया पोर्टल इस्टैब्लिशमेंट बेस एंप्लॉयमेंट सर्वे, ऑल इंडिया सर्वे ऑन एंप्लॉयमेंट जेनरेटेड इन ट्रांसपोर्ट सेक्टर। इन सभी सर्वे का प्रयोग करके Pradhanmantri Atmanirbhar Bharat Rojgar Yojana की समीक्षा भी की जाएगी इसके द्वारा पता लग सकता है कि यह योजना ठीक से कार्य करने में सक्षम है या नहीं।[यह भी पढ़ें- पीएम मोदी ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन क्या है | Transparent Taxation Platform लाभ व कार्य प्रणाली]

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को केंद्रीय मंत्रिमंडल से मिली मंजूरी

कंपनियों को नियुक्तियां करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना शुरू की गई थी। इस योजना के तहत 2 साल के लिए कंपनियों और अन्य इकाइयों द्वारा की गई नई भर्तियों के लिए सरकार द्वारा कर्मचारी और नियुक्त व्यक्ति दोनों का ईपीएफ में योगदान किया जाएगा। आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के तहत केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा चालू वित्त वर्ष के लिए 1585 करोड़ रुपये की राशि स्वीकृत की गई है, इसके अलावा योजना की पूरी अवधि के लिए 22,810 करोड़ रुपये की राशि स्वीकृत की गई है, जो कि 2020 से 2023 तक 58.5 लाख कर्मचारी आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना से लाभान्वित होंगे।[यह भी पढ़ें- एलआईसी आम आदमी बीमा योजना 2021 | ऑनलाइन आवेदन, क्लेम फॉर्म पीडीएफ]

प्रधान मंत्री की अन्य सरकारी योजनाएँ :-

प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना दिसंबर अपडेट

Pradhanmantri Atmanirbhar Bharat Rojgar Yojana के द्वारा श्रम मंत्री संतोष गंगवार द्वारा 9 दिसम्बर को वर्तमान वित्तीय साल के लिए 1584 करोड रुपए धनराशि का बजट बनाया गया है। श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने कहा कि इस योजना के द्वारा सरकार 2 वर्ष साल तक  नियोक्ताओं और कर्मचारियो को व्यवसाओं और संस्थाओं द्वारा नए किराए के लिए सेवा निधि में आर्थिक सहायता देगी। आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के अंतगर्त 2023 तक 22,810 करोड़ के 1 आउटलेट में प्रवेश करेगी और इसके द्वारा लगभग 58.5 लाख कर्मचारियों को लाभ प्रदान किया जाएग।[यह भी पढ़ें- पीएम मोदी ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन क्या है | Transparent Taxation Platform लाभ व कार्य प्रणाली]

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का बजट

Pradhanmantri Atmanirbhar Bharat Rojgar Yojana अंतगर्त  केंद्र सरकार ने 6000 करोड़ रुपए धनराशि का बजट बनाया गया है।क सरकार का इस बजट को खर्च करने का मुख्य लक्ष्य है की आगे के दो साल में 10 लाख से ज्यादा जॉब के दी जाएं जिससे हमारे देश की  बेरोजगारी को कम किया जा सके। इस योजना के अंतगर्त कम से कम 5 लाख प्रतिष्ठानों को ईपीएफओ के साथ पंजीकृत किया जायगा। और  जिससे अधिक से अधिक जॉब के अवसर पैदा हो तथा 10 लाख के आंकड़ा बहुत आसानी से हो सके।[यह भी पढ़ें- (Vivah Panjikaran) विवाह पंजीकरण 2021: शादी प्रमाण पत्र ऑनलाइन आवेदन, स्टेटस चेक]

Objectives Of Atmanirbhar Bharat Rojgar Yojana

Atmanirbhar Bharat Rojgar Yojana को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य हमारे देश के नागरिको को  रोजगार प्रदान करना है, आत्मनिर्भर  भारत रोजगार योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य देश के अधिकतर नागरिको को कर्मचारी जीवन निधि संगठन से जोड़ना, जिसके द्वारा हमारे देश में नए रोजगार शुरू हो सके | हम सब जानते है की बहुत टाइम से देश में लॉकडाउन चल रहा है तथा ये फेस अनलॉकिंग का फेस हो रहा है इसलिए सरकार ने आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को शुरू किया गया है इस योजना के द्वारा नागरिको को नए रोजगार मिल सके, ईपीएफओ के द्वारा संस्थाओं तथा कर्मचारी दोनों को ही योजना का लाभ दिया जायगा |[यह भी पढ़ें- (List) प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लिस्ट 2021: PMAY-G संशोधित लिस्ट]

प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण जी के द्वारा आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को इसलिए शुरू किया गया है जिससे की उन सब नागरिको को रोजगार दिया जा सके। जिन नागरिको की कोरोनावायरस होने के कारण लॉकडाउन लगने की वजह से जॉब छूट गयी थी। इस योजना के द्वारा  देश के उन सभी नागरिको को Atmanirbhar Bharat Rojgar Yojana का लाभ दिया जायग।  जिनकी नागरिको 01 मार्च से 30 सितम्बर 2020 के बीच जॉब छूट गयी थी ओर 01 अक्टूबर के बाद उनकी फिर से जॉब लग गयी, तथा वे नागरिक कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) में रजिस्टर्ड है |[यह भी पढ़ें- प्रधानमंत्री आवास योजना लिस्ट 2021-22: PMAY List (pmaymis.gov.in) पीएमएवाई शहरी सूची]

आत्मनिर्भर भारत रोजगार के अंतर्गत खास पांच बातें

  • ईपीएफओ पंजीकृत नियोक्ता अगर सितंबर 2020 की तुलना में कर्मचारियों के संदर्भ आधार की तुलना में नए कर्मचारियों को जोड़ते हैं तो उन्हें Atmanirbhar Bharat Rojgar योजनाके अंतगर्त कवर किया जाएगा।
  • अगर जरूरी संख्या के नए कर्मचारियों को 1 अक्टूबर 2020 से 3 जून 2021 तक भर्ती किया जाये तो आगे के दो साल के लिए प्रतिष्ठानों को कवर किया जाएगा
  • न्यूनतम 15000 से कम मासिक वेतन के साथ रोजगार में शामिल होने वाले कर्मचारि Atmanirbhar Bharat Rojgar योजना मे कवर होंगे
  • यूनिवर्सल अकाउंट नंबर रखने वाले किसी भी ईपीएफ नागरिक को 15000 से कम या मासिक वेतन मिलता है जिन्होंने 1 मार्च से 30 सितंबर तक कोरोनावायरस बीमारी के कारण रोजगार से निकाल दिया है और 30 सितंबर तक किसी भी इपीएस कवर स्थापना में रोजगार में शामिल नहीं हुए हैं वह सभी नागरिक लाभ लेने के पात्र होंगे।
  • Atmanirbhar Bharat Rojgar Yojana के द्वारा केंद्र सरकार नए पात्र कर्मचारियों के संबंध में दो वर्ष के लिए ईपीएफ आर्थिक सहायता के रूप में सब्सिडी देंगे। 1000 कर्मचारियों को रोजगार देने वाले प्रतिष्ठानों के लिए नियोक्ता का योगदान और कर्मचारी का योगदान कुल वेतन का 24 परसेंट होगा जो सरकार द्वारा दिया जाएगा। हजार से ज्यादा कर्मचारियों को नियुक्त करने वाले प्रतिष्ठान केवल कर्मचारियों का पीएफ योगदान केंद्र सरकार द्वारा दिया जाएगा।[यह भी पढ़ें- PM Modi Yojana 2021: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी स्कीम्स लिस्ट | पीएम मोदी सरकारी योजना सूची]

पीएम आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के लाभ

  • आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का लाभ केंद्र सरकार द्वारा आगामी दो साल दिया जायगा |
  • देश के नागरिको को रोजगार मिल सकेगा |
  • जो नागरिक उन संस्थाओं में काम करते है जिनमे कम से कम एक हजार कर्मचारी है,
  • उन्हें इस योजना का 24 प्रतिशत लाभ केंद्र सरकार की ओर से कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के द्वारा आर्थिक सहायता के रूप में दिया जायगा |
  • ओर जो नागरिक उस संस्था से जुड़े है और जिनमे एक हजार ज्यादा कर्मचारी कार्यरत है,
  • तो इस स्थिति में केवल 12 प्रतिशत ही केंद्र सरकार की ओर दिया जायगा[यह भी पढ़ें- (Live) pmkisan.gov.in Status 2021: PM Kisan 9वी किस्त List, Payment Status]

प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर रोजगार योजना की विशेषताएं

  • इस योजना के माध्यम से जिन लोगों को कोरोना महामारी के चलते हैं अपनी नौकरी गंवानी पड़ी है उन्हें आर्थिक मदद दी जाएगी।
  • करोना महामारी के चलते नौकरी देने वाली कंपनी (Organisation) को भी प्रोत्साहन दिया जाएगा।
  • 15000 से कम सैलरी वाले कर्मचारी को इस योजना का लाभ मिलेगा।
  • प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर रोजगार योजना के अंतगर्त लघु उद्योगों को बिना गारंटी के और बिना किसी चीज को गिरवी रखे लोन दिया जाएगा।
  • कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) में रजिस्टर्ड आर्गेनाईजेशन सब्सिडी दिया जायगा।
  • 1 मार्च से 30 सितंबर के बीच जॉब छूटने वाले नागरिक प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर रोजगार योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • Healthcare के साथ कामत कमेटी द्वारा 26 संकटग्रस्त सेक्टर को प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर रोजगार योजना का लाभ दिया जायगा।
  • आत्मनिर्भर मैन्युफैक्चरिंग प्रोडक्शन लिंक इंसेंटिव के अंतगर्त 10 बस्तर प्रदर्शन करने वाले क्षेत्रों को,
  • 1.46 लाख करोड़ का प्रोत्साहन दिया जाएगा।[यह भी पढ़ें- (रजिस्ट्रेशन) प्रधानमंत्री किसान ट्रैक्टर योजना 2021: Kisan Tractor Yojana ऑनलाइन आवेदन]

Eligibility Criteria Atmanirbhar Bharat Rojgar Yojana

  • कर्मचारी भविष्य निधि संगठन यानी ईपीएफओ के साथ पंजीकृत नहीं होने चाहिए और मासिक आय 15 हजार से कम होनी चाहिए।
  • या जिनकी नौकरी 01 मार्च से 30 सितंबर 2020 के बीच लॉकडाउन में चली गई और जिन्हें अक्टूबर में फिर से नौकरी मिली, वे भी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं, भले ही उन सभी को ईपीएफओ में पंजीकृत नहीं किया गया हो।[यह भी पढ़ें- (PMJAY) आयुष्मान भारत योजना 2021: Ayushman Bharat Yojana ऑनलाइन आवेदन]

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करे?

इस योजना के तहत लाभ लेने के इच्छुक कर्मचारी, संस्थान और लाभार्थियों को भविष्य निधि ईपीएफओ के तहत खुद को पंजीकृत करना होगा। पंजीकरण की प्रक्रिया इस प्रकार है।

Employers के लिए

Aatmnirbhar Bharat Rozgar Yojana
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।
  • मुख पेज पर, आपको सेवा अनुभाग में देखना होगा।
  • यहां आपको For Employers के विकल्प पर क्लिक करना है
आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा।
  • इस पृष्ठ पर आपको सेवा अनुभाग में देखना होगा।
  • यहां आपको ऑनलाइन पंजीकरण के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा।
  • इस पेज पर आपको साइन अप बटन पर क्लिक करना है।
आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना
  • क्लिक करने के बाद आपके द्वारा पूछी गई सभी जानकारी जैसे नाम, ईमेल, मोबाइल नंबर और कैप्चा कोड डालना होगा।
  • एंटर करने के बाद आपको साइन अप बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस तरह से आपका आवेदन हो जाएगा।

लोगिन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको ईपीएफओ की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल कर आ जाएगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको Services के सेक्शन में जाना है। इसके बाद आपको For Employers के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आ जाएगा, अब आपको Online Registration Of Establishment के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • जैसे ही आप क्लिक करेंगे तो आपके सामने लॉगइन पेज खुल कर आ जाएगा, अब आपको पूछी गई सभी जानकारी जैसे User ID, Password तथा Verification Code को दर्ज कर देना है।
  • आपके द्वारा सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको Login के बटन पर क्लिक कर देना है, इसके बाद आप लॉगिन हो जाएगे।

Employee के लिए

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।
  • इस होम पेज पर आपको सर्विसेज सेक्शन में देखना होगा।
  • यहां आपको For Employees के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा।
  • इस पेज पर आपको रजिस्टर करने के विकल्प पर क्लिक करना है
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जाएगा।
  • इस फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे नाम, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा
  • इस तरह आप पंजीकृत हो जाएंगे।

कांटेक्ट डिटेल देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको ईपीएफओ की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके आपके सामने होम पेज खुल कर आ जाएगा।
  • होम पेज पर आपको डायरेक्टरी के विकल्प पर क्लिक कर देना है, इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आ जाएगा।
कांटेक्ट डिटेल
  • इस पेज पर आपको कांटेक्ट डिटेल देख देखने को मिल जाएगी।

Leave a Comment