नवीन रोजगार छतरी योजना: Naveen Rojgar Chatri ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म

Naveen Rojgar Chatri Yojana UP ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म | Uttar Pradesh Naveen Rojgar Chatri Apply, पात्रता मानदंड व लाभ – अपने राज्य के लोगो के विकास के लिए सरकार आए दिन नई-नई योजनाए लागु करती रहती है, जिसका लाभ आम नागरिको को होता है। महामारी के समय में प्रदेश के लोगो को आर्थिक संकट और तंगियों का सामना करना पड़ा था। ऐसे में कोरोना संकट के समय में बेरोजगार हुए लोगो को रोजगार के नए माध्यम बनाने के लिए राज्य सरकार आर्थिक मदद प्रदान करने का मन बना रही है। इसी क्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा नवीन रोजगार छतरी योजना का शुभारम्भ किया गया है। इस योजना की घोष्णा के समय में मुख्यमंत्री जी के द्वारा पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्वरोजगार योजना के 3,484 लाभार्थियों के खातों में 17 करोड़ 42 लाख रुपये भी ट्रांसफर किये गए।

यहां इस लेख में हम आपको Uttar Pradesh Naveen Rojgar Chatri Yojana के सम्बन्ध में सभी आवश्यक जानकारी साझा करेंगे। इस योजना के अंतर्गत लाभ लेने के लिए आवेदन की प्रक्रिया, पात्रता मानदंड और आवश्यक दस्तावेजों की जानकारी इस लेख में साझा की गई है, अगर आप इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो लेख को अंत तक पूरा पढ़े। [यह भी पढ़ें- (prernaup.in) प्रेरणा पोर्टल यूपी | Mission Prerna Portal Login, Registration]

Naveen Rojgar Chatri Yojana 2024

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी के द्वारा 18 जुलाई को कालिदास मार्ग पर आयोजित कार्यकर्म में वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से नवीन रोजगार छतरी योजना का शुभारम्भ किया गया है। अनुसूचित जाति के गरीब व्यक्तियों के विकास के लिए इस योजना के शुभारम्भ किया गया है, जिसके अंतर्गत सरकार आर्थिक मदद प्रदान करके लाभार्थियों को रोजगार के अवसर प्रदान किये जाने का कार्य करेगी। राज्य सरकार ने इस Naveen Rojgar Chatri Yojana के जरिए पात्र आवेदकों को 7.50 लाख की सहायता राशि प्रदान करने का लक्ष्य रखा है, इस योजना के माध्यम से अनुसूचित जाति के पात्र आवेदकों को स्वरोजगार के नए अवसर मिलेंगे एवं इस राशि से आवेदक अपना खुद का रोजगार जैसे: – परचून की दुकान, जनरेटर सेट, लॉन्ड्री तथा ड्राइक्लीनिंग, साइबर कैफे, टेलरिंग, बैंकिंग कारेसपाण्डेन्ट, टेन्ट हाउस, गौ-पालन भी चला पाएगे। इस योजना के सम्बन्ध में आधिकारिक वेबसाइट पर अधिसूचना जारी की जा चुकी है जिसके आधार पर आवेदन प्रक्रिया में भाग लिया जा सकता है। [यह भी पढ़ें- bor.up.nic.in | BOR UP Certificate Verification (प्रमाणपत्र सत्यापन, खसरा / खतौनी)]

नवीन रोज़गार छतरी योजना के अंतर्गत किस तरह मिलेगा रोज़गार 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा शुरू की गई इस योजना के अंतर्गत मिलने वाली राशि से, अनुमान लगाया जा रहा है कि ज़्यादातर लोग परचून की दुकान, जनरेटर सेट, लांड्री, ड्राई क्लीनिंग, साइबर कैफे, टेलरिंग, बैंकिंग करेस्पांडेट, टंट हॉउस और गोपालन आदि प्रकार के व्यवसायों का आरंभ करेंगे। क्यूकि इन सभी कार्यो को करने के लिए किसी भी प्रकार के हुनर की आवश्यकता नहीं होती है। बहुत ही कम समय की ट्रेनिंग के पश्चात आप इन कार्यो को शुरू करके अपने और अपने परिवार का भली-भाती पालन पोषण करने में सफल हो सकते है। अनुसूचित जाति के बहुत से नागरिको द्वारा इस बात की पुष्टि नवीन रोज़गार छतरी योजना के आरम्भ होने के अवसर पर मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के समक्ष कि गई है।

इस बात पर उन्होंने उनकी हौसला आफज़ाई कि और प्रसन्नता भी जाहिर की है, कि नागरिक स्वंय रोजगार करने के लिए काफी उत्सुकता जाहिर कर रहे है। इसके अतिरिक्त सरकार द्वारा ये बहुत विशिष्ट निर्णय लिया गया है, जिसकी वजह से बहुत से बेरोजगारों को रोजगार प्राप्त हो सकेगा। फलस्वरूप जरूरतमंद नागरिक कार्य करने से सम्बंधित अपनी इच्छा का इजहार कर रहे है। [यह भी पढ़ें- (prernaup.in) प्रेरणा पोर्टल यूपी | Mission Prerna Portal Login, Registration]

नवीन रोजगार छतरी योजना

 PM Modi Scheme

Overview of Uttar Pradesh Naveen Rojgar Chatri Yojana 

योजना का नामनवीन रोजगार छतरी योजना
आरम्भ की गईमुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी के द्वारा
वर्ष2024
लाभार्थीविस्‍थापित व बेरोजगार श्रमिक 
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन/ऑफलाइन 
उद्देश्यदलित श्रमिकों की मदद कर उन्हे रोजगार प्रदान करना
लाभ7.50 लाख की सहायता राशि
श्रेणीउत्तर प्रदेश सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइटअभी शुरू नहीं की गयी

उत्तर प्रदेश नवीन रोजगार छतरी योजना का उद्देश्य

महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण के समय में देश की अर्थव्यवस्था दयनीय स्थिति में थी, जिससे लोगो को बहुत ही दिक्क्तों का सामना करना पड़ा था एवं माहमारी के संक्रमण के चलते मजदूरो को रोजगार के अवसर उपलब्ध नहीं होते थे। इस परेशानी को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने उत्तर प्रदेश नवीन रोजगार छतरी योजना की शुरुआत की है। इस योजना के तहत अनुसूचित जाति के गरीब, दलितों, मजदूरों, श्रमिकों को धनराशि प्रदान करके आर्थिक सहायता प्रदान करके स्वरोजगार के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा लागु इस Uttar Pradesh Naveen Rojgar Chatri के शुभारम्भ से उनका एक मात्र उदेश्य अपने राज्य के लोगो का आर्थिक विकास करना है एवं नागरिको को रोजगार के नए अवसर प्रदान करना है। इस सहायता राशि की मदद से नागरिक अपना खुद का रोजगार भी शुरू कर सकेंगे।  [यह भी पढ़ें- यूपी मुख्यमंत्री महिला सामर्थ्य योजना: Mahila Samarthya UP रजिस्ट्रेशन | एप्लीकेशन फॉर्म]

सरकार द्वारा बैंक शाखाओं को दिया गया लक्ष्य

योगी सरकार द्वारा प्रारंभ की गई Naveen Rojgar Chatri Yojana के अंतर्गत राज्य के विस्‍थापित एवं बेरोजगार दलित श्रमिकों को रोजगार के अवसर प्रदान किये जाते है, जिससे वह आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर एवं सशक्त बन सकें। इसी दिशा में राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में उपस्थित 18 हजार बैंक शाखाओं को राज्य मुख्यमंत्री माननीय योगी आदित्य नाथ जी द्वारा एक लक्ष्य दिया गया है। निर्देशानुसार राज्य के प्रत्येक बैंक शाखा को Uttar Pradesh Naveen Rojgar Chatri के तहत न्यूनतम दो अनुसूचित जाति जनजाति एवं महिला नागरिकों को अनिवार्य रूप से ऋण उपलब्ध करवाना होगा। ऐसा करने से बड़ी ही सरलता से न्यूनतम 36 हजार लोगों को राज्य सरकार की योजना के अंतर्गत मिलने वाले लाभों से लाभान्वित किया जा सकेगा। इसके साथ ही इस योजना के तहत अनुसूचित जाति के लाभार्थियों को स्वरोजगार हेतु ऋण के साथ ही अनुदान की राशि भी प्रदान की जाती है, जिसका वहन राज्य सरकार द्वारा किया जाता है। [यह भी पढ़ें- UP Bhulekh : यूपी भूलेख ऑनलाइन खसरा खतौनी नकल@upbhulekh.gov.in]

नागरिकों को रोजगार हेतु अपने गाँव, घर छोड़ने की आवश्यकता नहीं होगी 

राज्य के कई नागरिकों को कोरोना महामारी के दौरान अपने दीर्घस्थायी रोजगारों को छोड़ कर अपने गाँव-घर वापस लौट आना पड़ा था, जिससे सबसे अधिक गरीब, दलित एवं आर्थिक रूप से कमजोर नागरिकों को छति पहुँची थी। अब उत्तर प्रदेश सरकार ऐसे ही असमर्थ नागरिकों को लाभान्वित करने हेतु नवीन रोजगार छतरी योजना उत्तर प्रदेश नामक एक नयी योजना ले कर आयी है। इस योजना के माध्यम से पात्र नागरिकों को उनके ही स्थान पर स्वरोजगार आरंभ करने हेतु वित्तीय सहायता प्रदान करेगी, जिससे नागरिकों को रोजगार हेतु पुनः अपने गाँव अथवा घर को पीछे छोड़कर किसी अन्य स्थान पर जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। राज्य सरकार की इस योजना के तहत मिलने वाले लाभों के सहायता से लाभार्थी नागरिक आर्थिक रूप से सशक्त एवं मजबूत बनेगें एवं साथ ही बाहर रहने पर होने वाले अन्य खर्चों में भी कटौती होगी, जिससे वें भविष्य के सन्दर्भ हेतु कुछ बचत भी कर सकेंगे। इसके साथ ही आवश्यकता पड़ने पर वह अपने परिवार एवं समाज के लिए उपस्थित भी रह सकेंगे। [यह भी पढ़ें- fcs.up.gov.in | यूपी राशन कार्ड ऑनलाइन आवेदन, UP FCS आधिकारिक वेबसाइट, नई सूची]

लाभार्थी मजदूर एवं श्रमिकों के जीवन में आएगा परिवर्तन 

नवीन रोजगार छतरी योजना का शुभारंभ उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा किया गया है, जिसके अंतर्गत राज्य के अनुसूचित जाति के श्रमिकों एवं मजदूरों को रोजगार स्थापित करने हेतु वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है। इस योजना के आरंभ होने से श्रमिकों के जीवन पर व्यापक असर पड़ेगा। कोरोना संक्रमण के दौरान राज्य में ऐसे लाखों प्रवासी श्रमिकों की घर वापसी हुई है, जो अन्य राज्यों में रोजगार करके अपना एवं अपने परिवार का भरण पोषण करते थे, परंतु लाकडाउन के कारण उन्हें अपने रोजगार को छोड़ कर घर बैठना पड़ गया था। राज्य सरकार ने ऐसे नागरिकों के सहयोग हेतु विभिन्न सरकारी योजनाओं के माध्यम से उनके राशन का प्रबंध किया एवं साथ ही उनकी दैनिक जरूरतों हेतु उन्हें बैंक खातों में वित्तीय सहायता के तौर पर कुछ धनराशि भी प्रदान की है। अब इस योजना के शुरू होने से श्रमिकों के जीवन में बड़ा परिवर्तन आएगा, जिससे वें अपने परिवार के भरण पोषण करने हेतु पुनः सक्षम बन सकेंगे। [यह भी पढ़ें- UP Scholarship Status: यूपी छात्रवृत्ति रिन्यूअल, scholarship.up.gov.in भुगतान स्थिति]

स्वरोजगार के अंतर्गत अब तक 3,484 लोगो की सहायता 

पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्वरोज़गार योजना के अंतर्गत पिछले साल कि पहली तिमाही में 3,484 लोगो को आर्थिक सहायता के रूप में 17 करोड़ 42 लाख से अधिक राशि प्रदान कि गई। जो कि बहुत हर्ष-उल्लास का कार्य है। इसके आलावा पहले उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा श्रमिकों, कामगारों, ठेला, खोमचा, रेहड़ी वालो और दैनिक श्रमिकों को एक हज़ार रुपए कि पालन पोषण भत्ता राशि आर्थिक सहायता के रूप में दी जा चुकी है। स्वंय रोजगार योजना के अंतर्गत बहुत से आर्थिक रूप से कमज़ोर नागरिको को सहायता प्रदान की गई है। अब तक करीब सवा करोड़ श्रमिकों और कामगारों को इस योजना के अंतर्गत हितग्राही बनाया गया है। इसके अतिरिक्त सरकार द्वारा 3 करोड़ 56 लाख खातों में प्रधानमंत्री जनधन योजना के अंतर्गत पांच पांच सौ रुपए की राशि भेजी जा चुकी है। भले ही कुल पांच सौ रुपए की राशि से इन लोगो कि बहुत कम मदद हुई है, फिर भी इन सभी कार्यो को सरकार ने नागरिको कि आर्थिक सहायता के लिए किया है। [यह भी पढ़ें- ehrms upsdc.gov.in Registration, Login, eHRMS Manav Sampada UP]

अनुसूचित जाति के नागरिको पर तवज्जो 

नवीन रोज़गार छतरी योजना इसलिए भी विशिष्ट है, क्योंकि इसके अंतर्गत अनुसूचित जाति के श्रमिकों पर तवज्जो दी गई है।इसके अंतर्गत अनुसूचित जाति के ज़रूरतमंद नागरिको के लिए रोज़गार प्रदान करने कि दिशा में कार्य किया गया है। यह योजना अनुसूचित जाति के लोगो को रोजगार दिलाने तक सिमित है। केवल अनुसूचित जाति के लोगो को रोज़गार दिलाने के लिए इस योजना का आरम्भ किया गया है। क्योंकि सरकार द्वारा बहुत से राज्यो में अन्य वर्ग के बेरोज़गारो के लिए भिन्न-भिन्न प्रकार की योजनाओ का आरम्भ किया जा चुका है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए नवीन छतरी योजना का आरम्भ केवल अनुसूचित जाति की बेरोज़गार नागरिको के लिए किया गया है।

उत्तराखंड के मुख़्यमंत्री जी ने प्रवासी मजदूर लोग और श्रमिकों के लिए मुख्यमंत्री स्वरोज़गार योजना के अंतर्गत कई कार्य किये है। उनकी योग्यता के हिसाब से उन्हें रोजगार देने का प्रयास किया जा रहा है। जैसे कोई व्यक्ति मोटर फिटिंग के काम में योगय है तो उसे वही काम दिलाया जायेगा। जिससे व्यक्ति पूर्ण ढंग के कार्य कर सके। [यह भी पढ़ें- (रजिस्ट्रेशन) विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना: ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन स्टेटस]

नवीन रोजगार छतरी योजना के लाभ एवं विशेषताएं

  • इस योजना के तहत अनुसूचित जाति से सम्बन्ध रखने वाले गरीब, श्रमिकों, दलितों को आर्थिक लाभ मिलेंगा एवं रोजगार का अवसर भी मिलेगा।  
  • नवीन रोजगार छतरी योजना उत्तर प्रदेश के तहत प्राप्त धनराशि का उपयोग केवल परचून की दुकान, जनरेटर सेट, लॉन्ड्री व ड्राई क्लीनिंग, साइबर कैफे, टेलरिंग, बैंकिंग कॉरेस्पॉन्डेंट, टेंट हाउस, गौ-पालन आदि के लिए किया जा सकेगा।
  • राज्य सरकार इस योजना के सफल कार्यान्वयन के माध्यम से श्रमिकों को रोजगार देने और उन्हें समायोजित करने के लिए प्रतिबद्ध है।
  • 01 करोड़ 25 लाख से अधिक श्रमिकों / श्रमिकों को इस रोजगार योजना से जोड़ने का कार्य किया जा रहा है जिससे इन श्रमिकों के अपने स्वयं के रोजगार स्थापित हो सके।
  • उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के द्वारा Naveen Rojgar Chatri Uttar Pradesh के तहत अनुसूचित जाति के गरीब लोगो को आर्थिक मदद देकर उन्हें स्वावलंबी बनाने का काम किया जाएगा।
  • इस सहायता राशि के माध्यम से अनुसूचित जाति के गरीबो को स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध कराये जाएगे, जिससे उनकी आर्थिक दशा में बहुत सुधार होगा।
  • इसके साथ ही राज्य सरकार के द्वारा श्रमिकों को रोजगार और स्वरोजगार से जोड़ने के साथ ही श्रमिकों के लिए शुरू की गयी अन्य कल्याणकारी योजनाओ का भी लाभ दिया जाएगा। 
  • उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा लाभ की धनराशि का उपयोग लोग केवल परचून की दुकान, जनरेटर सेट, लॉन्ड्री व ड्राई क्लीनिंग, साइबर कैफे, टेलरिंग, बैंकिंग कॉरेस्पॉन्डेंट, टेंट हाउस, गौ-पालन आदि के लिए कर सकते है।
  • उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा अनुसूचित जाति के लाभार्थियों को प्रदान किए गए स्वरोजगार की राशि में ऋण के साथ-साथ अनुदान की राशि भी शामिल है जो राज्य सरकार द्वारा वहन की जा रही है।
  • सामाजिक स्तर पर एवं आर्थिक स्तर पर समाज में संतुलन लाने के लिए सरकार ने इस सराहनीय योजना का आरम्भ किया है। 

Uttar Pradesh Naveen Rojgar Chatri पात्रता मानदंड

  • केवल उत्तर प्रदेश के स्थायी निवासी ही इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए पात्र हैं।
  • वह व्यक्ति जो दीनदयाल उपाध्याय स्वरोजगार योजना में पंजीकृत है वह ही आवेदन कर सकता है।

आवश्यक दस्तावेज

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • आवेदक का निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक अकाउंट पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

नवीन रोजगार छतरी योजना 2024 ऑनलाइन आवेदन कैसे करे ?

वह सभी इच्छुक व्यक्ति जो Uttar Pradesh Rojgar Chatri Yojana  का लाभ लेने के लिए आवेदन करना चाहते हैं, उन्हें अभी थोड़ा और इंतज़ार करना होगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा अभी हाल ही में इस योजना की शुरुआत की गयी है। इस समय इस योजना के आवेदन के सम्बन्ध में किसी भी विभाग के द्वारा कोई जानकारी अथवा दिशा-निर्दश जारी नहीं किये गए हैं। किसी भी सरकारी विभाग के द्वारा इस योजना के सम्बन्ध में जानकारी के साझा किए जाने की स्थिति में हम आपको अपनी वेबसाइट के माध्यम से अपडेट कर देंगे। उत्तर प्रदेश नवीन रोजगार छतरी योजना के लिए संभवतः ऑनलाइन अथवा ऑफलाइन मोड में आवेदन स्वीकार किए जाएगे। किसी भी सरकारी कार्यालय अथवा विभाग के द्वारा कोई जानकारी के साझा किए जाने पर हम आपको अपडेट कर देंगे। [यह भी पढ़ें- कन्या सुमंगला योजना: Kanya Sumangala Yojana, ऑनलाइन आवेदन, न्यू लिस्ट]

Leave a Comment