यूपी मुख्यमंत्री महिला सामर्थ्य योजना 2022: Mahila Samarthya UP रजिस्ट्रेशन | एप्लीकेशन फॉर्म

Samarthya Yojana Online RegUP Mahila Samarthya Yojana Apply Online | उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ्य योजना ऑनलाइन आवेदन | UP Mahila Samarthya Yojana Application Form | महिला सामर्थ्य योजना उत्तर प्रदेश 2022

महिलाओं के कल्याण और सशक्तीकरण के लिए, 23 फरवरी 2021 को बजट पेश करते हुए सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ्‍य योजना शुरू की गई है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य कुपोषण की समस्या का समाधान प्रदान करना है। तो दोस्तों, आज हम आपको इस लेख के माध्यम से उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ्‍य योजना से संबंधित पूरी जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं जैसे कि इस योजना का उद्देश्य क्या है, इसके लाभ क्या हैं, आवेदन करने की योग्यता और आवेदन की प्रक्रिया क्या है। UP Mahila Samarthya Yojana 2022 से संबंधित पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए, आपसे अनुरोध है कि इस लेख को विस्तार से पढ़ें। [यह भी पढ़े- उत्तर प्रदेश जाति प्रमाण पत्र आवेदन फॉर्म: UP Caste SC/ST OBC Certificate Apply]

UP Mahila Samarthya Yojana 2022

महिलाओं के उत्थान के लिए विभिन्न योजनाएं उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई हैं। इसी प्रकार, 23 फरवरी 2021 को बजट पेश करते हुए राज्य सरकार के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना द्वारा यूपी महिला सामर्थ्य योजनानामक एक नई योजना शुरू की गई है। इस योजना का मुख्य लक्ष्य महिलाओं में कुपोषण की समस्या का समाधान प्रदान करना है। उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ्य योजना के माध्यम से महिलाओं को रोजगार के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा और स्थानीय संस्थानों पर आधारित घरेलू और कुटीर उद्योगों के माध्यम से जीवन स्तर को ऊपर उठाया जाएगा। इसके साथ ही सरकार द्वारा महिलाओं को अपनी उपज बेचने के लिए विभिन्न प्रकार के बाजार भी उपलब्ध कराए जाएंगे, जिससे उनमें रोजगार के लिए प्रोत्साहन पैदा होगा। [यह भी पढ़े- UP Voter List 2021: यूपी मतदाता सूची, Search Panchayat Voter New List]

मुख्यमंत्री महिला सामर्थ्य योजना 2021

पीएम मोदी योजनाएं

यूपी महिला समर्थ योजना की आवश्यकता

यूपी सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश की महिलाओं के उत्थान के लिए यूपी महिला समृद्धि योजना को संचालित किया गया है। इस योजना के माध्यम से उन सभी महिलाओं का उत्थान किया जाएगा। जिन महिलाओ  के माध्यम से सूक्ष्म इकाई पर रोजगार चलाए जा रहे हैं, यह सभी रोजगार होम एंड कॉटेज उद्योगों के अंतर्गत आते हैं। उतर प्रदेश में लगभग 9000000 सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग उत्तर प्रदेश की महिलाओं के द्वारा संचालित किए जा रहे हैं। महिलाओं के समर्थन के लिए सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से सुविधा केंद्र खोले जाएंगे। सभी सुविधा केंद्र में महिलाओं को पैकेजिंग, लेबलिंग, बारकोडिंग जैसी सुविधाओं का प्रशिक्षण दिया जायेगा। जिसका लाभ लेकर महिलाएं अपने रोजगार को बढ़ावा मिलेगा। [यह भी पढ़ें- UP गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण 2021: ई-क्रय प्रणाली, eproc.up.gov.in]

Highlights of UP Samarthya Yojana

योजना का नामयूपी महिला सामर्थ्य योजना
वर्ष2022
किसके द्वारा शुरू की गईउत्तर प्रदेश सरकार द्वारा
किसके द्वारा घोषणा की गईवित्त मंत्री श्री सुरेश खन्ना जी के द्वारा
योजना का उद्देश्यमहिलाओं में सशक्तिकरण एवं कल्याण लाना
कुल बजट200 करोड़ रुपये
योजना का लाभमहिलाओं को रोजगार के लिए प्रोत्साहित करना
योजना के लाभार्थीउत्तर प्रदेश की महिलाएं
आवेदन का प्रकारअभी घोषित नहीं किया गया
आधिकारिक वेबसाइट ————

UP Mahila Samarthya Yojana का उद्देश्य

यूपी मुख्यमंत्री महिला सामर्थ्य योजना का मुख्य उद्देश्य महिलाओं के बीच भलाई और सशक्तिकरण की भावना पैदा करना और घर और कुटीर उद्योगों के माध्यम से उनके जीवन स्तर को बढ़ावा देना है। इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा महिलाओं को विभिन्न प्रकार के बाजार उपलब्ध कराए जाएंगे, जिनके उपयोग से महिलाएं आसानी से बैठ सकेंगी। इस योजना का मुख्य उद्देश्य घरेलू और कुटीर उद्योगों को बढ़ावा देना है और साथ ही महिलाओं और बच्चों के कुपोषण का समाधान प्रदान करना है। इसके साथ ही यूपी महिला सामर्थ्य योजना का मुख्य उद्देश्य महिलाओं को आत्मनिर्भर और सशक्त बनाना है ताकि उन्हें अपना जीवन जीने में किसी भी कठिनाई का सामना न करना पड़े। [यह भी पढ़े- उत्तर प्रदेश विवाह/शादी अनुदान योजना 2021: UP Shadi Anudan Yojana, ऑनलाइन आवेदन]

यूपी महिला समृद्धि योजना का कार्यान्वयन 

राज्य सरकार के माध्यम से जिला स्तर तथा राज्य स्तर पर दो कमेटी बनाई जाएंगी, जिसमें जिला स्तरीय समिति को जिला मजिस्ट्रेट की अध्यक्षता में बनाया जाएगा, जिसके माध्यम से राज्य में अलग-अलग जिलों में इस योजना का सुचारू रूप से संचालन किया जाएगा। इस योजना में बनाई गई कमेटी महिलाओं को रोजगार हेतु जागरूक कर उनको प्रोत्साहित करने का कार्य  करेगी। इस योजना में उत्तर प्रदेश की महिलाओं को रोजगार के प्रति बढ़ावा देने के लिए जागरूकता, परामर्श, कार्यक्रम, सेमिनार, कार्यशाला और प्रशिक्षण आयोजित किए जाएंगे। उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा महिलाओं की सभी सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए यूपी महिला सामर्थ्य योजना 2022 के अंतर्गत बहुत से सुविधा केंद्र विकसित किए जाएंगे। इन सभी सुविधा केंद्र में अलग-अलग जैसे- सामान्य उत्पादन और प्रसस्करण, तकनीकी अनुसंधान और विकास, बारकोडिंग, लेवलिंग, पैकेजिंग प्रशिक्षण आदि जैसी सुविधाएं दी जाएंगी। इस योजना के माध्यम से 90% प्रतिशत राज्य सरकार द्वारा खर्च किया जाएगा। [यह भी पढ़ें- UP Scholarship 2021: यूपी छात्रवृत्ति आवेदन, scholarship.up.gov.in स्टेटस व लॉगिन]

महिला शक्ति केंद्र के लाभ

उत्तर प्रदेश में महिला समृद्धि योजना के माध्यम से प्रशिक्षण हेतु अलग-अलग विकास खंडों में प्रशिक्षण केंद्र की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। यूपी में लगभग 9000000 सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग उत्तर प्रदेश की ग्रहणी के द्वारा संचालित किए जा रहे हैं। महिलाओं के रोज़गार को समर्थन देने के लिए राज्य सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से सुविधा केंद्र खोले जाएंगे। सभी सुविधा केंद्र में अलग-अलग जैसे -सामान्य उत्पादन और प्रसस्करण, तकनीकी अनुसंधान और विकास, बारकोडिंग, लेवलिंग, पैकेजिंग प्रशिक्षण आदि जैसी सुविधाएं दी जाएंगी। [यह भी पढ़ें- उत्तर प्रदेश बेरोजगारी भत्ता 2021: UP Berojgari Bhatta Online Form]

यूपी महिला सामर्थ्य योजना के लाभ एवं विशेषताएं

  • उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 22 फरवरी 2021 को बजट के दौरान UP Mahila Samarthya Yojana शुरू की गई है।
  • इस योजना के तहत सरकार द्वारा 200 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।
  • महिला समृद्धि योजना के माध्यम से महिलाओं के कल्याण और सशक्तिकरण का निर्माण किया जाएगा
  • जो महिलाओं को आत्मनिर्भर और सशक्त बनाएगा
  • इसके साथ ही घर और कुटीर उद्योग में भी सुधार होगा।
  • इस योजना के माध्यम से महिलाओं के लिए रोजगार अधिकारियों को बढ़ावा दिया जाएगा।
  • ताकि महिलाएं अपना घर आसानी से चला सकें
  • UP Mahila Samarthya Yojana के पहले चरण में, 200 विकास खंडों में सामान्य सुविधा केंद्र विकसित किए जाएंगे।
  • इन केंद्रों में विभिन्न प्रकार के कार्यों पर अधिक ध्यान दिया जाएगा जैसे कि अग्रसेन आदि।
  • इन केंद्रों का पूरा खर्च राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।
  • Samarthya Yojana का मुख्य लाभ महिलाओं और बच्चों को कुपोषण की समस्या का समाधान प्रदान करना है।
उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ्‍य योजना

प्रधान मंत्री की अन्य सरकारी योजनाएँ :-

होम एवं कॉटेज उद्योगों में सुधार होगा

होम एवं कॉटेज उद्योगों की समस्या को स्वीकार करते हुए, उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ्‍य योजना क्लस्टर अनुमोदन के आधार पर राज्य के 800 ब्लॉकों में काम करेगी। पहले चरण में, 200 विकास खंडों में सामान्य महिला सुविधा केंद्र विकसित किए जाएंगे। इन केंद्रों को प्रशिक्षण, सामान्य उत्पादन प्रसंस्करण, तकनीकी उपकरण विकास और पैकेजिंग के लिए विकसित किया जाएगा, जो राज्य सरकार द्वारा किया जाएगा। इस योजना के माध्यम से गृह और कुटीर उद्योगों में सुधार किया जाएगा। इसके साथ ही महिलाओं को रोजगार के विभिन्न अवसर भी प्रदान किए जाएंगे, जिससे न केवल महिलाओं को सशक्त बनाना होगा, बल्कि घर और कुटीर उद्योगों में भी विकास होगा। [यह भी पढ़े- उत्तर प्रदेश विवाह/शादी अनुदान योजना 2021: UP Shadi Anudan Yojana, ऑनलाइन आवेदन]

महिला सामर्थ्य योजना के लिए पात्रता एवं दस्तावेज

  • आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है
  • उम्मीदवार महिला होनी चाहिए
  • आधार कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर

उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ्य योजना के तहत आवेदन की प्रक्रिया

वह सभी इच्छुक आवेदक जो UP Mahila Samarthya Yojana के तहत आवेदन करना चाहते हैं, उन्हें थोड़ा इंतजार करना होगा क्योंकि इस योजना की घोषणा सरकार ने बजट के दौरान की है। इस योजना के तहत आवेदन की प्रक्रिया अभी तक शुरू नहीं की गई है, जैसे ही आपको इस योजना के तहत आवेदन की प्रक्रिया के बारे में कोई जानकारी मिलती है, हम आपको इस प्रक्रिया के बारे में पूरी जानकारी हमारे लेख के माध्यम से प्रदान करेंगे। अगर आपको इस योजना से संबंधित कोई कठिनाई या कोई प्रश्न है, तो आप हमें नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं। हमारी टीम आपकी जल्द से जल्द सहायता करने की पूरी कोशिश करेगी।[यह भी पढ़े- यूपी प्रवासी राहत मित्र ऐप : Pravasi Rahat Mitra App Download (rahatup.in)]

Leave a Comment