डिजिटल स्वास्थ्य प्रोत्साहन योजना (DHIS) 2024 की हुई शुरुआत, पूरी जानकारी, उद्देश्य व कार्यान्वयन

Digital Swasthya Protsahan Yojana (DHIS) Apply Online, Eligibility | डिजिटल स्वास्थ्य प्रोत्साहन योजना (DHIS) क्या है, इसके उद्देश्य व कार्यान्वयन प्रक्रिया – राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य प्राधिकरण द्वारा डिजिटल स्वास्थ्य प्रोत्साहन योजना (DHIS) को आरंभ करने की घोषणा की गई है। इस योजना के माध्यम से देश में डिजिटल स्‍वास्‍थ्‍य आदान-प्रदान को आयुष्‍मान भारत-डिजिटल मिशन के द्वारा बढ़ावा दिया जाएगा। इस योजना का लाभ अस्‍पतालों, जांच प्रयोगशालाओं और‍ डिजिटल स्‍वास्‍थ्‍य समाधान उपलब्‍ध कराने वाले नागरिको को भी प्रदान किया जाएगा। इस योजना के माध्यम से सभी पात्र संस्थाओ को 4 करोड़ रुपए तक की आर्थिक प्रोत्साहन राशि राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य प्राधिकरण द्वारा प्रदान की जाएगी। आज के इस आर्टिकल में हम आपको Digital Swasthya Protsahan Yojana (DHIS) 2023 से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने जा रहे है, जैसे इस योजना को किस उद्देश्य से आरंभ किया गया है, तथा इसके लाभ और पात्रता क्या है। (यह भी पढ़ें- Go Gas Dealership | एलपीजी गो गैस एजेंसी डीलरशिप ऑनलाइन आवेदन)

Digital Swasthya Protsahan Yojana (DHIS) 2023

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन (एबीडीएम) के तहत देश में डिजिटल स्वास्थ्य लेनदेन को बढ़ावा देने हेतु राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण Digital Swasthya Protsahan Yojana (DHIS) 2023 को आरंभ करने की घोषणा की गई है। अस्पतालों, नैदानिक ​​प्रयोगशालाओं और अस्पताल/स्वास्थ्य प्रबंधन सूचना प्रणाली, प्रयोगशाला प्रबंधन सूचना प्रणाली जैसे डिजिटल स्वास्थ्य समाधान प्रदाताओं को इस योजना के माध्यम से प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी। (यह भी पढ़ें- सीखो और कमाओ स्कीम 2023: ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, एप्लीकेशन फॉर्म व कोर्स लिस्ट)

इसके अतिरिक्त एनएचए द्वारा एक बयान में कहा गया है कि सभी पात्र संस्थाओ को डीएचआईएस के अंतर्गत 4 करोड़ रुपये तक का आर्थिक प्रोत्साहन प्रदान किया जाएगा। डिजिटल स्वास्थ्य प्रोत्साहन योजना (DHIS) के माध्यम से सभी पात्र स्वास्थ्य सुविधाओं और डिजिटल समाधान कंपनियों द्वारा बनाए गए आयुष्मान भारत स्वास्थ्य खाते से लिंक डिजिटल स्वास्थ्य रिकॉर्ड की संख्या के आधार पर प्रोत्साहन प्रदान किया जाएगा। इसके अतिरिक्त इस योजना का लाभ ऐसे नागरिक जिनके द्वारा  योजना के तहत निर्दिष्ट पात्रता मानदंड को पूर्ण किया जाता है तथा एबीडीएम की स्वास्थ्य सुविधा रजिस्ट्री के साथ पंजीकृत नागरिको को प्रदान किया जाएगा। (यह भी पढ़ें- UAN Activate Kaise Kare: EPFO Portal से UAN रजिस्ट्रेशन और यूएएन एक्टिवेट)

Digital Swasthya Protsahan Yojana (DHIS)

पीएम मोदी योजना

Overview of Digital Swasthya Promotion Yojana (DHIS)

योजना का नामडिजिटल स्वास्थ्य प्रोत्साहन योजना (DHIS)
आरम्भ की गईराष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण द्वारा 
वर्ष2023
लाभार्थीस्वास्थ्य समाधान प्रदाता  
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन 
उद्देश्यडिजिटल स्वास्थ्य को अपनाने हेतु प्रोत्साहित करना 
लाभडिजिटल स्वास्थ्य को अपनाने हेतु प्रोत्साहित किया जाएगा 
श्रेणीकेंद्रीय सरकारी योजनाएं 
आधिकारिक वेबसाइट—–

डिजिटल स्वास्थ्य प्रोत्साहन योजना (DHIS) का उद्देश्य 

डिजिटल स्वास्थ्य प्रोत्साहन योजना (DHIS) का मुख्य उद्देश्य डिजिटल स्वास्थ्य को अपनाने हेतु प्रोत्साहन प्रदान करना है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण द्वारा आरंभ इस योजना के माध्यम से सभी पात्र संस्थाओ को 4 करोड़ रूपये तक की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी। इसके अतिरिक्त इस योजना के तहत समाधान प्रदाताओं को भी शामिल किया जाएगा, जिससे सभी हितग्राही प्रदाताओ द्वारा बोर्ड पर आने हेतु अन्य स्वास्थ्य सुविधाओं को संभाला जा सके। इसके साथ ही पारिस्थितिकी तंत्र को मजबूत करने की सुविधा भी सभी नागरिको को प्रदान की जा सके। इसके अलावा Digital Swasthya Protsahan Yojana (DHIS) के माध्यम से ऐसी डिजिटल समाधान कंपनियों को प्रोत्साहन प्रदान किया जाएगा, जिनके द्वारा स्वास्थ्य सुविधाओं, प्रयोगशाला/रेडियोलॉजी डायग्नोस्टिक्स केंद्रों, एबीडीएम-सक्षम डिजिटल समाधान प्रदान किया जाता है। (यह भी पढ़ें- Booster Dose Certificate Download at cowin.gov.in By Mobile Number, Aadhar)

चार करोड़ तक का वित्तीय प्रोत्साहन प्रदान किया जाएगा

राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के द्वारा Digital Swasthya Protsahan Yojana (DHIS) का आरंभ डिजिटल स्वास्थ्य को अपनाने हेतु किया गया है। इस योजना के माध्यम से सभी पात्र संस्थाओ के द्वारा चार करोड़ रुपये तक की आर्थिक प्रोत्साहन राशि प्राप्त की जा सकती है। इसके अतिरिक्त इस योजना का लाभ स्वास्थ्य सुविधाएं और डिजिटल कंपनियो द्वारा अपनी तरफ से बनाए गए, आयुष्मान भारत स्वास्थ्य खाते से ‘लिंक’ किए गए डिजिटल स्वास्थ्य रिकॉर्ड की संख्या के अनुसार प्राप्त किया जा सकता है, इससे नागरिको द्वारा अन्य स्वास्थ्य सुविधाओं को बोर्ड पर आने हेतु संभाला जा सकता है, तथा इसके माध्यम से  पारिस्थितिकी तंत्र को मजबूत करने की सुविधा भी प्रदान की जा सकती है। (यह भी पढ़ें- UDAY Yojana 2023-23 | उज्जवल डिस्कॉम एश्योरेंस योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व लॉगिन)

क्या है आयुष्मान योजना?

यह एक स्वास्थ्य योजना है जिसके माध्यम से देश के नागरिको की स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को दूर करने हेतु आर्थिक रूप से एक स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जाता है। इसके अतिरिक्त आयुष्मान योजना के द्वारा व्यापक डिजिटल स्वास्थ्य इकोसिस्टम के निर्माण में लगातार प्रगति की जा रही है इस योजना के द्वारा नागरिको के आयुष्मान भारत स्वास्थ्य खातों (एबीएचए) से जुड़े 4 करोड़ से अधिक डिजिटल स्वास्थ्य रिकॉर्ड के साथ  एक महत्वपूर्ण उपलब्धि प्राप्त कर ली गई है। इसके अंतर्गत अब तक करीब 29 करोड़ से अधिक नागरिकों के द्वारा अपने विशिष्ट आयुष्मान भारत स्वास्थ्य खाते को जनरेट किया जा चुका है। जिसके माध्यम से नागरिक अपनी सुविधा के अनुसार इन रिकॉर्डों तक डिजिटल रूप से उनके एबीएचए खातों से जुड़े उनके स्वास्थ्य रिकॉर्ड के साथ पहुंच और प्रबंधन करने हेतु सक्षम होंगे। (यह भी पढ़ें- खुद कमाओ घर चलाओ योजना: ऑनलाइन आवेदन | Khud Kamao Ghar Chalao Apply)  

कंपनियों को आगे बढ़ने हेतु प्रोत्साहित किया जाएगा 

राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के सीईओ आर. एस. शर्मा जी के द्वारा एक बयान में कहा गया है कि Digital Swasthya Protsahan Yojana (DHIS) 2023 के माध्यम से आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन में शामिल होने के लिए तथा ज़्यादा से ज्यादा स्वास्थ्य सुविधाओं और डिजिटल सॉफ्टवेयर कंपनियों को मरीज-केंद्रित स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने हेतु आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।  इसके अतिरिक्त डिजिटल स्वास्थ्य प्रोत्साहन योजना (DHIS) के माध्यम से सभी पात्र संस्थाओ द्वारा 4 करोड़ तक की आर्थिक प्रोत्साहन राशि भी प्राप्त की जा सकती है। (यह भी पढ़ें- PM Kisan Beneficiary Status 2023: Check pmkisan.gov.in Beneficiary Installment Status)

डिजिटल स्वास्थ्य प्रोत्साहन योजना (DHIS) के लाभ

  • डिजिटल स्वास्थ्य को अपनाने हेतु प्रोत्साहित करने के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण द्वारा Digital Swasthya Protsahan Yojana (DHIS) को आरंभ किया गया है। 
  • इस योजना के माध्यम से अस्‍पतालों, जांच प्रयोगशालाओं और‍ डिजिटल स्‍वास्‍थ्‍य समाधान उपलब्‍ध कराने वाले प्रदाताओ को भी लाभ  प्रदान किया जाएगा। 
  • लाभांवित होने वाले प्रदाताओ में अस्‍पताल, स्‍वास्‍थ्‍य प्रबन्‍धन, सूचना, व्‍यवस्‍था और लेबोरेट्री प्रबन्‍धन सूचना तंत्र  आदि को भी शामिल किया गया है। 
  • इसके अतिरिक्त डिजिटल स्वास्थ्य प्रोत्साहन योजना (DHIS) 2023 के अंतर्गत सभी आयुष्मान भारत स्वास्थ्य खाते से ‘लिंक’ किए गए डिजिटल स्वास्थ्य रिकॉर्ड की संख्या के आधार पर पात्र स्वास्थ्य सुविधाओ और डिजिटल कंपनियो द्वारा चार करोड़ रुपये तक की आर्थिक प्रोत्साहन राशि प्राप्त की जा सकती है। 
  • इसके माध्यम से बोर्ड पर आने हेतु अन्य स्वास्थ्य सुविधाओं को संभाला जा सकेगा तथा पारिस्थितिकी तंत्र को मजबूत करने की सुविधा भी इस योजना के माध्यम से प्रदान की जा सकेगी। 

डिजिटल स्वास्थ्य प्रोत्साहन योजना (DHIS) के तहत आवेदन कैसे करे 

राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण द्वारा Digital Swasthya Protsahan Yojana (DHIS) 2023 को आरंभ करने की अभी केवल घोषणा की गई है, इसके अंतर्गत आवेदन करने से सम्बंधित किसी भी प्रकार की जानकारी को सार्वजनिक नहीं किया  गया है। इसके अतिरिक्त इस योजना के माध्यम से सभी पात्र संस्थाओ के द्वारा 4 करोड़ तक की आर्थिक प्रोत्साहन राशि प्राप्त की जा सकती है, इसके साथ ही इस योजना का लक्ष्य डिजिटल स्वास्थ्य को अपनाने हेतु नागरिको को प्रोत्साहित करना है। देश के वह सभी नागरिक जो इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते है तो उन्हें कुछ प्रतीक्षा करनी होगी, जैसे ही राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण द्वारा डिजिटल स्वास्थ्य प्रोत्साहन योजना (DHIS) के अंतर्गत आवेदन करने से जुड़ी किसी भी प्रकार की जानकारी को सार्वजिनक किया जाएगा तो हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से सूचना प्रदान कर देंगे। (यह भी पढ़ें- agnipathvayu.cdac.in | Agniveer Vayu 2023 Online Registration, Eligibility & Login)

Leave a Comment