(Abhyudaya Yojana) मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना 2021: यूपी नि:शुल्क कोचिंग रजिस्ट्रेशन

Mukhyamantri Abhyudaya Yojana Apply Online | नि:शुल्क कोचिंग रजिस्ट्रेशन | मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना आवेदन फॉर्म | मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना 2021 | मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना 2021 फरवरी अपडेट

Mukhyamantri Abhyudaya Yojana मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों के लिए शुरू की गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने युवाओं को मुफ्त कोचिंग देने की बात की है। जैसी सरकारी नौकरी के लिए तैयारी करनी पड़ती है और छात्रों को अक्सर भारी फीस चुकानी पड़ती है। ऐसे में कई छात्र पैसे की कमी के कारण अच्छी कोचिंग में नहीं जा पाते हैं। यूपी सरकार ने राज्य के युवाओं की इस तरह की समस्याओं को रोकने के लिए Mukhyamantri Abhyudaya Yojana शुरू की है। यदि आप मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आपसे निवेदन है कि आप हमारे इस लेख को अंत तक पढ़े।

Table of Contents

UP Mukhyamantri Abhyudaya Yojana 2021

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के तहत IAS, IPS और PCS छात्र सीधे कोचिंग सेंटर में प्रवेश कर सकते हैं और वह भी इस योजना के तहत, उन सभी छात्रों को मुफ्त कोचिंग प्रदान की करेंगे जो इन परीक्षाओं की तैयारी करना चाहते हैं। इस योजना के तहत, प्रभाग स्तर पर छात्रों को पाठ्यक्रम और प्रश्न बैंक भी उपलब्ध कराए जाएंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की देखरेख में UP Mukhyamantri Abhyudaya Yojana 2021 लागू की जाएगी। इस योजना के तहत कक्षाएं बसंत पंचमी के दिन से शुरू होंगी। छात्रों को ऑनलाइन अध्ययन सामग्री के साथ ऑफ़लाइन कक्षाएं भी प्रदान की जाएंगी।

UP Mukhyamantri Abhyudaya Yojana 2021

यूपी फ्री लैपटॉप योजना 2021

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना 2021 फरवरी अपडेट

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा उत्तर प्रदेश के 71 वें स्थापना दिवस पर Mukhyamantri Abhyudaya Yojana का शुभारंभ किया गया। इस योजना के तहत, IAS, IPS, PCS आदि परीक्षाओं के लिए छात्रों को कोचिंग प्रदान की जाएगी। यह कोचिंग पूरी तरह से मुफ्त होगी। इस योजना के तहत, वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा छात्रों को मार्गदर्शन भी प्रदान किया जाएगा। मुख्यमंत्री द्वारा घोषणा की गई थी कि इस योजना के तहत कोचिंग क्लास बसंत पंचमी के दिन से शुरू होगी। यह बरेली के JIC में कोचिंग प्रदान करेगा।

  • इसके अलावा, माध्यमिक विद्यालय और प्राथमिक कोचिंग के शिक्षा विषय विशेषज्ञ भी छात्रों को कोचिंग प्रदान करेंगे।
  • इन कोचिंगों के लिए सरकार द्वारा स्मार्ट श्रेणियां बनाई गई हैं और सभी छात्रों को प्रश्न बैंक ऑनलाइन अध्ययन सामग्री आदि प्रदान किया जाएगा।
  • जिसके उपयोग से वह अपनी पढ़ाई अच्छे से कर सकता है और देश का नाम रोशन कर सकता है।

अभ्युदय योजना रजिस्ट्रेशन की अंतिम तिथि में वृद्धि

इस योजना के तहत पोर्टल पर पंजीकरण की तारीख बढ़ा दी गई है। छात्र 28 फरवरी, 2021 को रात 8:00 बजे तक पंजीकरण कर सकते हैं। इसके बाद परीक्षाएं मार्च के पहले सप्ताह में आयोजित की जाएंगी। यह परीक्षा 5 और 6 मार्च को आयोजित की जाएगी। मुख्मंत्री अभ्युदय योजना के तहत अब तक 500000 से अधिक छात्रों ने आवेदन किया है। इन सभी छात्रों के लिए कक्षाएं शुरू हो गई हैं। इन 500000 छात्रों में से, 50000 से अधिक छात्रों को स्नातक कक्षाओं के लिए चुना गया है। शेष 4.30 लाख प्रतियोगी भी परीक्षा में भाग ले सकते हैं। वे सभी छात्र जो ऑफ़लाइन श्रेणियों के लिए पंजीकृत हैं, भौतिक कक्षाओं में दाखिला लेने के लिए प्रवेश परीक्षा दे सकते हैं।

UP Mukhyamantri Abhyudaya Yojana 2021 Overviews

योजना का नाममुख्यमंत्री अभ्युदय योजना
किस ने लांच कीउत्तर प्रदेश सरकार
लाभार्थीउत्तर प्रदेश के छात्र
उद्देश्यप्रतियोगिताओं के लिए निशुल्क कोचिंग प्रदान करना।
आधिकारिक वेबसाइटजल्द लॉन्च की जाएगी
साल2021

अभ्युदय योजना एक ही दिन में 1000 सब्सक्राइबर्स

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा नि: शुल्क कोचिंग प्रदान करने के लिए अभ्युदय योजना शुरू की गई थी। इस योजना को न केवल ऑफलाइन बल्कि ऑनलाइन भी सराहना मिल रही है। एक ही दिन में JEE और NEET की कोचिंग के लिए शुरू किए गए YouTube चैनल पर 1000 से अधिक छात्रों ने सदस्यता ली है। एनडीए के छात्रों के लिए ऑनलाइन पेज की शुरुआत भी मुख्मंत्री अभ्युदय योजना के तहत की गई है। NEET और JEE परीक्षा YouTube के माध्यम से प्रदान की जा रही है। जिसमें अब तक 1500 से अधिक छात्रों ने सदस्यता ली है। 1500 में से, पहले दिन 1000 ग्राहक थे और बढ़ते ग्राहकों का रुझान अभी भी जारी है। इस सफलता के मद्देनजर, NDA कोचिंग प्राप्त करने वाले छात्रों के लिए एक अलग YouTube चैनल बनाया गया है।

प्रधान मंत्री की अन्य सरकारी योजनाएँ :-

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना आगरा की स्थिति

JIC केंद्र पर सुबह 8:30 बजे से 10:00 बजे और अपराह्न 3:30 बजे से शाम 5:00 बजे तक Mukhyamantri Abhyudaya Yojana के तहत दो शिफ्टों में कक्षाएं संचालित की जा रही हैं। इन कक्षाओं में छात्रों को गणित, भौतिकी, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान, विज्ञान आदि विषयों की शिक्षा दी जा रही है। वर्तमान में इस योजना के तहत आगरा में दो केंद्रों पर ऑफ़लाइन कक्षाएं दी जा रही हैं। जो आगरा कॉलेज और गवर्नमेंट इंटर कॉलेज हैं। UPSC और UPPSC कोचिंग आगरा कॉलेज में प्रदान की जा रही है। एनईईटी, एनडीए और सीडीएस कक्षाएं शाहजहां गंज के गवर्नमेंट इंटर कॉलेज में दी जा रही हैं। आगरा कॉलेज में 250 छात्र और गवर्नमेंट इंटर कॉलेज में 270 छात्र हैं। यदि कोई छात्र पंजीकरण करने में सक्षम नहीं है, तो वह अभी भी ऑफ़लाइन कक्षा के लिए केंद्र पर पहुंचकर कोचिंग प्राप्त कर सकता है।

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना का उद्देश्य

Mukhyamantri Abhyudaya Yojana का मुख्य उद्देश्य IAS, IPS, PCS, NDA, CDS, NEET जैसी प्रतियोगिताओं के लिए छात्रों को मुफ्त कोचिंग प्रदान करना है। इस योजना के माध्यम से, उन सभी छात्रों को मुफ्त कोचिंग प्रदान की जाएगी जो खराब वित्तीय स्थिति के कारण कोचिंग प्राप्त करने में असमर्थ हैं। Mukhyamantri Abhyudaya Yojana 2021 के तहत, छात्रों को कोचिंग लेने के लिए किसी अन्य राज्य में नहीं जाना पड़ेगा।

यूपी मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के तहत छात्रों का मार्गदर्शन

Mukhyamantri Abhyudaya Yojana 2021 के तहत, न केवल कोचिंग, बल्कि IAS, IPS और PCS की तैयारी करने वाले छात्रों को मार्गदर्शन भी प्रदान किया जाएगा। विभिन्न अवसर ऑफ़लाइन कक्षाओं में छात्रों का मार्गदर्शन करेंगे। IAS, PCS परीक्षा के छात्रों के लिए, प्रशिक्षु IAS, IPS, IFS, PCS अधिकारियों और सैनिक स्कूल के प्राचार्यों के लिए NAS और CDS छात्रों के लिए मार्गदर्शन प्रदान करेंगे। इस विषय के विशेषज्ञों को मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत मुख्य अतिथि के रूप में भी बुलाया जाएगा। संभाग स्तर पर इस योजना के तहत परीक्षा की तैयारी करने वाले छात्रों को पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न के बारे में जानकारी भी मुफ्त प्रदान की जाएगी। क्वैचन बैंक के छात्र आधिकारिक वेबसाइट पर भी विवरण पा सकेंगे। इसके अलावा, मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के तहत, छात्रों को उच्च स्तरीय कोचिंग संस्थानों की अध्ययन सामग्री भी प्रदान की जाएगी।

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के लाभ तथा विशेषताएं

  • सरकार ने उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा Mukhyamantri Abhyudaya Yojana 2021 की शुरुआत की।
  • इस योजना के तहत, आईएएस, आईपीएस, पीसीएस, एनडीएस, सीडीएस, एनईईटी आदि जैसी प्रतियोगिताओं की परीक्षाओं की तैयारी के लिए नि: शुल्क कोचिंग प्रदान की जाएगी।
  • वे सभी छात्र जो खराब आर्थिक स्थिति के कारण कोचिंग नहीं ले सकते थे, उन्हें मुख्मंत्री अभ्युदय योजना के तहत मुफ्त कोचिंग प्रदान की जाएगी।
  • मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना में Syllabus और Question Bank में उपलब्ध कराया जाएगा।
  • यह योजना मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की देखरेख में लागू की जाएगी।
  • मुख्मंत्री अभ्युदय योजना के तहत बसंत पंचमी पर कक्षाएं शुरू होंगी।
  • इस योजना के तहत, छात्रों को ऑनलाइन अध्ययन सामग्री के साथ ऑफ़लाइन कक्षाएं भी प्रदान की जाएंगी।
  • मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के तहत न केवल कोचिंग बल्कि छात्रों को मार्गदर्शन भी प्रदान किया जाएगा। यह मार्गदर्शन विभिन्न अधिकारियों द्वारा प्रदान किया जाएगा।

उत्तर प्रदेश बेरोजगारी भत्ता 2021

  • इस योजना के तहत, विषय विशेषज्ञों द्वारा अतिथि व्याख्यान की भी व्यवस्था की जाएगी।
  • परीक्षा पैटर्न के बारे में जानकारी छात्रों को मुख्मंत्री अभ्युदय योजना के तहत भी प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के तहत, छात्रों को उच्च स्तरीय कोचिंग संस्थानों की अध्ययन सामग्री भी प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के तहत, उत्तर प्रदेश प्रशासन और प्रबंधन अकादमी को अध्ययन सामग्री के प्रबंधन की जिम्मेदारी सौंपी गई है।
  • छात्रों को प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद, मुख्य परीक्षा की तैयारी का काम भी उपम को सौंपा जाता है।
  • योजना के पहले चरण में, 18 मंडल मुख्यालयों को शामिल किया गया है।
  • Mukhyamantri Abhyudaya Yojana के तहत एक ई-प्लेटफॉर्म भी विकसित किया जाएगा।
  • छात्रों को ई-प्लेटफॉर्म के माध्यम से ई-सामग्री प्रदान की जाएगी। इस ई-प्लेटफॉर्म के माध्यम से भी छात्र कोचिंग प्राप्त कर सकते हैं। छात्र ई-प्लेटफॉर्म पर भी अपने प्रश्न पूछ सकते हैं।

उत्तर प्रदेश प्रशासन और प्रबंधन अकैडमी को सौंपी गई जिम्मेदारी

UP Mukhyamantri Abhyudaya Yojana के तहत, विभिन्न परीक्षाओं के सिलेबस और परीक्षा पैटर्न को प्रभाग स्तर पर उम्मीदवारों को नि: शुल्क प्रदान किया जाएगा और इन सभी कार्यों की जिम्मेदारी सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश प्रशासन और प्रबंधन अकादमी को सौंपी गई है। इसके अलावा, प्रशिक्षण केंद्रों को प्रभाग स्तर पर चलाने और सम्मानित करने की जिम्मेदारी भी उत्तर प्रदेश प्रशासन और प्रबंधन अकादमी की होगी। स्थलीय कोचिंग संस्थानों के अध्ययन सामग्री और प्रश्न बैंक सभी लाभार्थियों को ओपन द्वारा उपलब्ध कराए जाएंगे ताकि राज्य के युवाओं को उनकी परीक्षा में एक सफल स्थान मिल सके।

UP Mukhyamantri Abhyudaya Yojana के तहत प्रदान की जाने वाली कोचिंग

  • Union Public Service Commission
  • UP Public Service Commission
  • Subordinate service selection commission
  • Examinations conducted by other recruitment board institutions
  • JEE
  • NEET
  • NDA
  • CDS
  • Paramilitary
  • Central police force
  • Banking
  • SSC
  • B.Ed.

मुख्मंत्री अभ्युदय योजना प्लेटफार्म

यूपी के लगभग 4 से 5 लाख छात्र यूपीएससी, विभिन्न राज्य पीएससी, जेईई, एनईईटी आदि परीक्षाओं में शामिल होते हैं। इनमें से ज्यादातर बच्चे आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों से आते हैं। यह योजना ऐसे सभी बच्चों के लिए बहुत फायदेमंद साबित होगी। मंडलायुक्त लखनऊ के तहत एक ई-लर्निंग सामग्री मंच विकसित किया जाएगा। जिसके तहत छात्रों को अध्ययन सामग्री उपलब्ध कराई जाएगी। इस ई-लर्निंग प्लेटफॉर्म पर, विभिन्न अधिकारी परीक्षा की तैयारी के लिए वीडियो के माध्यम से अपना अनुभव साझा करेंगे। इस मंच पर लाइव सत्र और सेमिनार भी आयोजित किए जाएंगे। इस प्लेटफॉर्म पर छात्र प्रश्न भी पूछे जा सकते हैं। Mukhyamantri Abhyudaya Yojana के तहत, छात्र घर से कोचिंग प्राप्त करने के साथ-साथ कोचिंग सेंटरों पर भी उपलब्ध हो सकेंगे।

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना कार्यान्वयन प्रक्रिया

  • यूपी के छात्रों को प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए कोचिंग प्रदान करने के लिए, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना शुरू की गई है।
  • इस योजना के माध्यम से, राज्य में छात्रों को राज्य में प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए ऑफ़लाइन और ऑनलाइन कोचिंग प्रदान की जाएगी। ताकि उन्हें कोचिंग लेने के लिए दूसरे शहर या राज्य में न जाना पड़े।
  • अब, उन लोगों को भी कोचिंग प्रदान की जाएगी जो बिगड़ती हुई आर्थिक स्थिति के कारण कोचिंग नहीं ले सकते थे। क्योंकि यह कोचिंग सरकार द्वारा निशुल्क दी जाएगी।
  • इस योजना के तहत, राज्य और देश में सर्वश्रेष्ठ संकाय कोचिंग प्रदान करने के लिए राज्य के छात्रों को उपलब्ध कराया जाएगा।
  • युवाओं का मार्गदर्शन करने के लिए हर संभागीय मुख्यालय पर कोचिंग संस्थान चलाए जाएंगे।
  • इसके साथ ही उन्हें वर्चुअल माध्यम से भी जोड़ा जाएगा। ताकि उन छात्रों को भी जो संभागीय मुख्यालयों तक नहीं पहुंच सके, उन्हें कोचिंग प्रदान की जा सके।
  • मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के तहत शुरू किए गए कोचिंग संस्थान तकनीकी सुविधाओं से संपन्न होंगे और इनमें सर्वश्रेष्ठ संकाय भी होंगे।
  • कोचिंग संस्थानों में कोचिंग राज्य के योग्य अधिकारियों, आईएएस, आईपीएस, आईएफएस, पीसीएस आदि द्वारा प्रदान की जाएगी।
  • इसके साथ ही कोचिंग प्रदान करने में विषय विशेषज्ञ भी शामिल होंगे।
  • मेडिकल और इंजीनियरिंग क्षेत्र से जुड़े शिक्षक छात्रों को मेडिकल और इंजीनियरिंग कोचिंग प्रदान करेंगे।
  • अब UP Mukhyamantri Abhyudaya Yojana 2021 के माध्यम से, राज्य का प्रत्येक छात्र कोचिंग प्राप्त कर सकेगा। ताकि वह अपना उज्जवल भविष्य बना सके।
  • अब राज्य के छात्र भी इस योजना के माध्यम से आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ेंगे।

Mukhyamantri Abhyudaya Yojana के पात्रता मानदंड

इस योजना का लाभ उठाने के लिए, आपको निम्नलिखित पात्रता नियमों को पूरा करना होगा जैसा कि नीचे दिया गया है-

  • जो छात्र इस योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं, उन्हें उत्तर प्रदेश का मूल निवासी होना आवश्यक है।
  • मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना 2021 के तहत आवेदन करने के लिए आवेदक के पास सभी आवश्यक दस्तावेज उपलब्ध होना अनिवार्य है।
  • उत्तर प्रदेश के अलावा यदि किसी अन्य राज्य का छात्र आवेदन करता है, तो उसे योग्य नहीं माना जाएगा।

यूपी मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुल जायेगा, वेबसाइट के होमपेज पर आपको पंजीकरण करे के बटन पर क्लिक कर देना है।
Mukhyamantri Abhyudaya Yojana
  • आपके द्वारा क्लिक किये जाने के बाद एक नया पेज खुल जायेगा, इस पेज पर आपको पाठ्यक्रम का चयन करने के बाद दिए गए पंजीकरण करे के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
Mukhyamantri Abhyudaya Yojana Form
  • आपका द्वारा क्लिक किए जाने के बाद एक इनरोलमेंट फॉर्म खुल जायेगा। आपको इस इनरोलमेंट फॉर्म में सभी आवश्यक जानकारी जैसे: – नाम, ईमेल आईडी, फ़ोन नंबर, मंडल और परीक्षा की जानकारी को दर्ज कर देना है।
  • सभी जानकारयो को भरने के बाद फॉर्म को सबमिट कर दे, आगे आपको अपने द्वारा दर्ज जानकारियों को वेरीफाई करना होगा।
  • आपके द्वारा दर्ज जानकारी के वेरीफाई होने की स्थिति में UP Mukhyamantri Abhyudaya Yojana के लिए आवेदन पूरा हो जायेगा।

सक्षम कक्षाओं में चयन के लिए ऑनलाइन परीक्षा आवेदन प्रक्रिया

  • सबसे पहले, आपको मुख्मंत्री अभ्युदय योजना की official website पर जाना होगा।
  • इसके बाद, आपके सामने वेबसाइट का Homepage आ जाएगा, वेबसाइट के होमपेज पर, आपको सक्षम कक्षाओं का चयन करने के लिए ऑनलाइन परीक्षा के लिंक पर क्लिक करना होगा।
Mukhyamantri Abhyudaya Yojana
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा, इस पेज पर आपको अपना ईमेल आईडी और 10 अंकों का मोबाइल नंबर डालना होगा और वेबसाइट पर लॉगिन करना होगा।
  • आवेदन फॉर्म आपके सामने खुल जाएगा, यहां इस आवेदन पत्र में आपको अपना नाम, मोबाइल नंबर, पता प्रमाण आदि भरना होगा।
  • इसके बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा। फॉर्म जमा करने के बाद, आप सक्षम कक्षाओं के चयन के लिए आवेदन कर सकेंगे।

उपयोगकर्ता लॉगिन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले, आपको मुख्मंत्री अभ्युदय योजना की Official website पर जाना होगा।
  • वेबसाइट के Homepage पर, आपको मेनू में उपयोगकर्ता लॉगिन बटन पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आपके सामने एक पॉप-अप विंडो खुलेगI
UP Mukhyamantri Abhyudaya Yojana 2021
  • अब आपको दिए गए स्थान में ईमेल आईडी दर्ज करके चेकबॉक्स को भरकर लॉगिन बटन पर क्लिक कर देना है।
  • आपके द्वारा लॉगिन बटन पर क्लिक किये जाने के बाद आप वेबसाइट में लॉगिन कर सकेंगे।

Contact Information

  • UP प्रशासन और प्रबंधन अकैडमी
  • सेक्टर डी – अलीगंज लखनऊ – 226024
  • फोन नंबर: + 91-522-2335158-59
  • फैक्स नंबर: + 91-522-2320327
  • ईमेल: ati-up@nic.in

Abhyudaya Free Coaching Yojana 2021 FAQ’s

अभ्युदय योजना के ऑनलाइन पंजीकरण की शुरुआत कौन सी तारीख से है?

अभी साकार द्वारा यह नहीं बताया गया है की एप्लीकेशन फॉर्म  प्रोसेसर क्या होगा। हालांकि, ऑनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया 16 फरवरी 2021 से शुरू हो सकती है|

यूपी मुफ्त कोचिंग योजना 2021 का मुख्य उद्देश्य क्या है?

यूपी मुफ्त कोचिंग योजना का मुख्य उद्देश्य छात्रों को राज्य की प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में मदद करना है।

यूपी राज्य के अभ्युदय योजना के तहत हम विभिन्न कोचिंगों की क्या उम्मीद कर सकते हैं?

अभ्युदय योजना NEET, IIT JEE, NDA, CDS, UPSC या अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे विभिन्न पाठ्यक्रम प्रदान करती है।

क्या यूपी मुफ्त कोचिंग योजना के लिए कोई चयन प्रक्रिया है?

हां, छात्रों को यूपी मुफ्त कोचिंग योजना के लिए पात्र होने के लिए चयन प्रक्रिया से गुजरना चाहिए।

Leave a Comment