यूपी मिशन शक्ति 3.0 अभियान | UP Mission Shakti 3.0 लाभ, विशेषताएं व कार्यान्वयन

UP Mission Shakti ऑनलाइन आवेदन, उद्देश्य व कार्यान्वयन | Mission Shakti Uttar Pradesh 3.0 लाभ, विशेषताएं – उत्तर प्रदेश राज्य सरकार द्वारा UP Mission Shakti 3.0 आरंभ किये जाने की घोषणा की गयी है, जिसके अंतर्गत महिलाओं को आर्थिक एवं सामाजिक सुरक्षा प्रदान की जाएगी। इस अभियान के माध्यम से समाज में महिलाओं के प्रति अभावात्मक विचार को बदलने एवं उनके साथ होने वाले आपराधिक घटनाओं पर लगाम लगाने का प्रयत्न  किया जायेगा। इस आर्टिकल में उत्तर प्रदेश मिशन शक्ति अभियान से सम्बंधित सभी आवश्यक जानकारी को विस्तार से बताया गया है जैसे:- इसका उद्देश्य, लाभ, विशेषताएं, पात्रता मापदंड, आवश्यक दस्तावेज, आवेदन की प्रक्रिया आदि। उत्तर प्रदेश में रहने वाली जो भी महिलाऐं इस UP Mission Shakti Abhiyan का हिस्सा बनने के लिए अपना आवेदन करना चाहती है वह इस आर्टिकल को शुरू से अंत तक पूरा पढ़ें।। [यह भी पढ़ें- (prernaup.in) प्रेरणा पोर्टल यूपी | Mission Prerna Portal Login, Registration]

यूपी मिशन शक्ति 3.0

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने नवरात्री के अवसर पर UP Mission Shakti Abhiyan का शुभारंभ किये जाने की घोषणा की है, जिसके माध्यम से प्रदेश की महिलाओं के साथ घटित आपराधिक घटनाओं पर प्रतिबंध लगाने एवं महिलाओं के सशक्तिकरण से संबंधित उचित कार्य किये जायेंगे। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इस अभियान की नींव वर्ष 2020 में रखी गयी थी, जिसे दो चरणों:- मिशन शक्ति एवं ऑपरेशन शक्ति में विभाजित करते हुए राज्य के कुल 75 जिलों में लागू किया गया था। अब राज्य सरकार यूपी मिशन शक्ति 3.0 अभियान को तीसरे चरण में आरम्भ करने जा रही है, जिसके अंतर्गत प्रदेश की महिलाओं को आत्मनिर्भर एवं सुरक्षित बनाने हेतु विभिन्न प्रकार के जागरूकता एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम संचालित किये जायेंगे। [यह भी पढ़ें- YSR Asara Scheme: Apply Online, Beneficiary List & Status Check]

मिशन शक्ति योजना के माध्यम से प्रदेश की महिलाओं एवं बेटियों को उनके अधिकार के प्रति जागरूक बनाने हेतु राज्य सरकार द्वारा सार्वजनिक तौर पर ग्राम पंचायत स्तर से लेकर औद्योगिक स्तर पर विद्यालयों एवं सरकारी संस्थानों में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये जायेगें। [यह भी पढ़ें- (पंजीकरण) यूपी निःशुल्क बोरिंग योजना 2023: डाउनलोड नलकूप योजना आवेदन फॉर्म]

 मिशन शक्ति 3.0 अभियान

पीएम मोदी योजनाएं

Overview of UP Mission Shakti Abhiyan

योजना का नाम यूपी मिशन शक्ति 3.0
आरम्भ की गयीमाननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी द्वारा
वर्ष2023
लाभार्थी राज्य की महिलाएं
आवेदन की प्रक्रियाजल्द ही जारी की जाएगी 
उद्देश्यमहिलाओं को सशक्त एवं आत्मनिर्भर बनाना
लाभ  जागरूकता कार्यक्रमों एवं प्रशिक्षणों का आयोजन
श्रेणीउत्तर प्रदेश सरकारी योजनाएं  
आधिकारिक वेबसाइटhttps://up.gov.in/

मिशन शक्ति योजना का उद्देश्य 

उत्तर प्रदेश राज्य सरकार द्वारा आरम्भ की गयी UP Mission Shakti 3.0 का मुख्य उद्देश्य प्रदेश की महिलाओं एवं बालिकाओं को सशक्त एवं आत्मनिर्भर बना कर सामाजिक सुरक्षा प्रदान करना है। राज्य सरकार द्वारा इस अभियान के अंतर्गत प्रदेश की महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक बनाने हेतु विभिन्न प्रकार के जागरूकता एवं ट्रेनिंग कार्यक्रमों का आयोजन भी किया जाता है। योगी सरकार द्वारा शुरू की गयी इस अभियान की आधारशिला वर्ष 2020 में रखी गयी थी जिसे राज्य के 75 जिलों में छः माह के संचालन अवधि के साथ लागू किया गया था। अपने शुरुआती दौर में इस अभियान को दो चरणों:- मिशन शक्ति एवं ऑपरेशन शक्ति में वर्गीकृत किया गया था, जिसमें मिशन शक्ति के अंतर्गत राज्य की महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक किया जाता था एवं ऑपरेशन शक्ति के तहत ऐसे लोगों को सजा दी जाती थी जिन्होंने महिलाओं के साथ किसी प्रकार का दुर्व्यवहार अथवा अपराध किया होता था। [यह भी पढ़ें- (पंजीकरण) यूपी निःशुल्क बोरिंग योजना 2023 : डाउनलोड नलकूप योजना आवेदन फॉर्म

हाल ही में राज्य सरकार द्वारा इस अभियान के तीसरे चरण की शुरुआत किये जाने की घोषणा की गयी है, जिसके अंतर्गत पहले एवं दूसरे चरण में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 47 जिलों की 75 महिला अधिकारियों एवं कर्मचारियों को पुरुष्कृत भी किया जायेगा। इसके साथ ही इस आयोजन पर राज्य की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण भी उपस्थित होंगी। [यह भी पढ़ें- (uppcl.mpower.in) यूपी बिजली बिल माफी योजना 2023 : ऑनलाइन आवेदन, पात्रता व कार्यान्वयन]

यूपी मिशन शक्ति अभियान को किया जाएगा और सक्रिय एवं प्रभावी

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा महिलाओं को सशक्त एवं आत्मनिर्भर बनाने के द्रष्टिकोण से मिशन शक्ति योजना को आरम्भ किया गया है। इसके अंतर्गत 2 अप्रैल 2022 से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा इस अभियान को महिला सुरक्षा से जुड़ी गतिविधियों को और अधिक सक्रिय एवं प्रभावी ढंग से संचालित करने के विषय में निर्देश प्रदान किये गए है, साथ ही  मुख्यमंत्री जी के द्वारा बाजार, स्कूल-कॉलेज, भीड़भाड़ वाले स्थानों पर विशेष रूप से अभियान चलाने के लिए दिशा-निर्देश जारी किये गए है। इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री जी द्वारा घोषणा की गई है कि गृह विभाग से 100 दिन  कार्यो के तहत इसके अंतर्गत प्राथमिकताएं तय करके शीघ्रता से कार्यवाही की जाये। [यह भी पढ़ें- ई साथी यूपी: उत्तर प्रदेश ई साथी आय, निवास प्रमाण पत्र ऑनलाइन पंजीकरण और लॉगिन]

इसके अंतर्गत पुलिस विभाग को भी कम से कम 10000 पुलिसकर्मियों की भर्ती 100 दिन में करने के निर्देश प्रदान किये गए है। UP Mission Shakti 3.0 योजना के अंतर्गत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा 1 अप्रैल 2022 को सरकारी आवास पर गृह विभाग की उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक का आयोजन 100 दिनों की कार्ययोजना के विषय में किया गया था। [यह भी पढ़ें- UP CM Fellowship Program 2023 क्या है | Apply Online यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना]

75000 महिलाओं को जोड़ा जाएगा उद्यमिता से

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा महिलाओं को आत्मनिर्भर और सशक्त बनाने के उद्देश्य से एक नई मुहिम का आरंभ किया गया है। महिलाओ में उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए 75 जिलों की 75000 महिलाओं को उद्यमिता से जोड़ने हेतु विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन मिशन शक्ति योजना के अंतर्गत किया जायेगा, शिविरों के माध्यम से इन प्रशिक्षणो को प्रदान किया जायेगा। महिलाओ को स्वलंबित बनाने का प्रयास भी इन शिविरों के माध्यम से किया जायेगा,साथ ही इसके अंतर्गत सभी प्रशिक्षणार्थियों को टूलकिट भी सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी। UP Mission Shakti Abhiyan के अंतर्गत बैंकों से आसान किस्त पर लोन प्रशिक्षण समाप्त होने के पश्चात उद्यम स्थापित करने हेतु प्रदान किया जायेगा, जिसके ज़रिये से महिलाओ की आर्थिक ज़रूरतों की पूर्ति भी की जा सकेगी। [यह भी पढ़ें- यूपी स्कॉलरशिप ऑनलाइन फॉर्म 2023 प्री मैट्रिक और पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप.up.gov.in पर]

 उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इसके तहत महिला उद्यमियों के लिए हेल्प डेस्क, मोबाइल एप व वेबसाइट का भी आयोजन किया जायेगा। इसके अतिरिक्त राज्य सरकार द्वारा घोषणा की गई है कि एक जनपद एक उत्पाद योजना के चिन्हित उत्पादको पर आधारित डाक टिकट और विशेष कवर का विमोचन भी इस मौके पर किया जायेगा। इस योजना को आरम्भ करने का मुख्य द्रष्टिकोण सरकार का यह है कि महिलाओं एवं लड़कियों को जागरूक किया जा सके और महिलाओं के प्रति होने वाली हिंसा करने वाले लोगों की पहचान उजागर करना और महिलाओं को राज्य में सुरक्षित महसूस करवाने हेतु सरकार द्वारा यह अहम कदम उठाये जा रहे है। [यह भी पढ़ें- UP Scholarship Status 2023: यूपी छात्रवृत्ति रिन्यूअल, scholarship.up.gov.in भुगतान स्थिति]

प्रदान किए जाएंगे आधारित विशेष कवर व डाक टिकट

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री जी द्वारा मिशन शक्ति योजना को आरम्भ करने के अवसर पर कहा गया है कि जी प्रकार से ओडीओपी योजना को पूरे देश में पसंद किया जा रहा है इसी तरह से जल्द ही इस योजना को भी पूरे देश में पसंद किया जायेगा। प्रत्येक थाने में महिला हेल्प डेस्क को स्थापित करने की भी घोषणा इस योजना के अंतर्गत की गई है और इसके अंतर्गत गांव में महिला शक्ति बूथ भी स्थापित किये जा चुके है। यूपी मिशन शक्ति अभियान के तहत तीसरे चरण में 20000 से अधिक महिला आरक्षिओ को बीट पुलिस के रूप में फील्ड की भी जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। इन सभी पुलिसकर्मियों द्वारा गांव गांव में महिलाओं को सुरक्षा एवं सम्मान दिलाने की कोशिश कर रही है और महिलाओं को शासन की योजनाओं से जोड़कर स्वालंबन और आत्मनिर्भर बनाने की राह में भी मुख्य भूमिका निभा रही है। [यह भी पढ़ें- यूपी छात्रवृत्ति नवीनीकरण 2023 ऑनलाइन फॉर्म, लॉगिन, स्थिति और अंतिम तिथि]

 उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाई गई इस योजना के ज़रिये से उत्तर प्रदेश की महिलाएं सुरक्षित, सफल और स्वावलंबी हो रही है। सरकार द्वारा आयोजित इस योजना के अंतर्गत एक जनपद एक उत्पाद योजना के अंतर्गत शामिल सभी 75 जिलों के उत्पादों पर आधारित विशेष कवर, डाक टिकट का भी अनावरण किये जाने की घोषणा की गई है। UP Mission Shakti Abhiyan के अंतर्गत यह अनावरण किया जा रहा है। [यह भी पढ़ें- IGRS AP – Search Encumbrance Certificate (EC) at registration.ap.gov.in]

महिलाओं को किया जाएगा उनके अधिकारों को लेकर जागरूक

इस योजना का आरम्भ राज्य की महिलाओ को आत्मनिर्भर और जागरूक बनाने हेतु उनको सरकार द्वारा आरम्भ की जा रही बहुत सी कल्याणकारी योजनाओ में शामिल करने के द्रश्य से किया गया है। स्वालंबन की राह पर महिलाओ द्वारा अब तेज़ी से कदम बढ़ाये जा रहे है और महिलाये अपने अधिकारों हेतु भी जागरूक हो रही है। मिशन शक्ति योजना के तहत वूमेन वेलफेयर डिपार्टमेंट द्वारा बहुत से कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है, जिसके ज़रिये प्रदेश की महिलाये जागरूक होती है। प्रदेश की महिलाओं को उनके कानूनी अधिकार से संबंधित जागरूकता सितंबर 2021 में इस योजना के माध्यम से प्रदान किये जाने की घोषणा की गई है। इसके तहत महिलाओं को हिंसा से कानून और प्रावधानों से संबंधित जानकारी 21 सितंबर 2021 तक ग्रहण करवाई जाएगी। [यह भी पढ़ें- fcs.up.gov.in | यूपी राशन कार्ड 2023 ऑनलाइन आवेदन, UP FCS आधिकारिक वेबसाइट, नई सूची]

प्रदेश की महिलाएं कर सकेंगी महिला कल्याण योजनाओं के अंतर्गत आवेदन

इस योजना के अंतर्गत एक टीम का भी गठन किये जाने की घोषणा की गई है, जिनके द्वारा सभी गांव सभा के भिन्न भिन्न ब्लॉक में जाकर महिलाओ को जागरूक करने का कार्य किया जायेगा। प्रदेश की महिलाओं को विभिन्न प्रकार की योजनाओं के अंतर्गत इन शिविरों के ज़रिये से पंजीकृत किया जा रहा है और साथ ही बहुत सी योजनाओ के बारे में जानकारी प्रदान की जा रही है। डेस्टिट्यूट वूमेन पेंशन स्कीम, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना आदि जैसी योजनाओ के बारे में महिलाओ को विस्तार से जानकारी प्रदान की जा रही है। इसके अतिरिक्त इन कैंपों के माध्यम से 6314 आवेदन कन्या सुमंगला योजना के तहत प्राप्त किये गए है, जिसमे से 4489 आवेदनों को सरकार द्वारा स्वीकार कर लिया गया है। स्टिट्यू वुमन पेंशन स्कीम के अंतर्गत 2002 आवेदनो की प्राप्ति हुई है इनमे से सरकार द्वारा 1264 आवेदनों को स्वीकार कर लिया गया है। [यह भी पढ़ें- ehrms upsdc.gov.in Registration, Login, eHRMS Manav Sampada UP]

  • इसके तहत 399 आवेदन मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के अंतर्गत प्राप्त किये गए है जिसमे से 187 आवेदनो को सरकार द्वारा स्वीकार कर लिया गया है, इसके साथ ही 169 जनरल आवेदन  मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के अंतर्गत ग्रहण किये गए है। 9 सितंबर 2021 को स्वावलंबन शिविरों का आयोजन किया जायेगा। 
  • इस योजना के अंतर्गत अधिकारी एवं अनुमोदन अधिकारी इन शिविरों के सत्यापन हेतु मौजूद होंगे, जिसके ज़रिये 1 दिन के भीतर ही अनुमोदन की प्रक्रिया को पूर्ण किया जा सके। राज्य में ग्रामसभा स्तर पर एक मेगा प्रोग्राम का भी आयोजन किये जाने की घोषणा की गई है। 
  • UP Mission Shakti 3.0 के ज़रिये से राज्य की महिलाओ में जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से वभिन्न प्रकार के नाटकों का भी आयोजन किया जायेगा। इसके अलावा इन नाटकों के माध्यम से विभिन्न प्रकार की महिला कल्याण योजनाओं का प्रचार-प्रसार भी किये जाने की बात सामने आई है। 

75 महिलाओं को किया जाएगा सम्मानित

बालिनी दुग्ध उत्पादक कंपनी की तर्ज पर नई कंपनियो को भी इस अभियान के तीसरे चरण में स्थापित किया जायेगा। रायबरेली, सुल्तानपुर, अमेठी, सोनभद्र, चंदौली, मिर्जापुर, बलिया, गाजीपुर, गोरखपुर, देवरिया, महाराजगंज, कुशीनगर, बरेली, पीलीभीत, लखीमपुर खीरी और रामपुर आदि जिलों में इन कंपनियों की स्थापना की जाएगी। उत्तर प्रदेश मिशन शक्ति अभियान के तहत एक लाख नए स्वयं सहायता समूह दिसंबर 2021 तक बनाने के लक्ष्य का निर्धारण किया गया है। इसके अंतर्गत सरकार द्वारा राज्य के 75 जिलों में विभिन्न कार्यक्रमो का संचालन किया जायेगा और इन कार्यक्रमों की गेस्ट ऑफ़ ऑनर महिला होंगी। इस कार्यक्रमों के तहत करोना काल में उत्कृष्ट कार्य करने वाली 75 महिलाओं को सम्मानित किये जाने की घोषणा की गई है, वह महिलाये चिकित्सा, स्वास्थ्य कर्मी, महिला स्वयं सहायता समूह, महिला स्वयंसेवी संगठन आदि के क्षेत्र की होंगी। [यह भी पढ़ें- मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना 2023 ऑनलाइन आवेदन | mksy.up.gov.in Official Website]

 मिशन शक्ति योजना के तीसरे चरण के तहत महिलाओ को पुलिस सेवाएं डोरस्टेप तक प्रदान की जाएगी। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा ये भी घोषणा की गई है कि पुलिस स्टेशन में वुमन हेल्प डेस्क की भी स्थापना की जाएगी जिसके माध्यम से एकल माओ की मदद हेतु व्यवस्था की जाएगी। [यह भी पढ़ें- AP EWS Certificate Application Form: Online Registration, Check Eligibility]

https://twitter.com/hashtag/%E0%A4%B8%E0%A4%B6%E0%A4%95%E0%A5%8D%E0%A4%A4_%E0%A4%A8%E0%A4%BE%E0%A4%B0%E0%A5%80_%E0%A4%B8%E0%A4%AE%E0%A4%B0%E0%A5%8D%E0%A4%A5_%E0%A4%AA%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A4%A6%E0%A5%87%E0%A4%B6?src=hash&ref_src=twsrc%5Etfw

UP Mission Shakti 3.0 के लाभ एवं विशेषताएं

  • मुख्यमंत्री माननीय योगी आदित्य नाथ जी द्वारा उत्तर प्रदेश मिशन शक्ति अभियान का शुभारंभ करने की घोषणा की गयी है, जिसके अंतर्गत राज्य की महिलाओं एवं बेटियों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान की जाएगी। 
  • उत्तर प्रदेश राज्य सरकार ने इस अभियान को शरदीय नवरात्रि के शुभ अवसर पर आरम्भ करने योजना बनायीं है, जिसके माध्यम से प्रदेश की महिलाओं को सशक्त एवं आत्मनिर्भर बनाया जायेगा। 
  • इसके साथ ही इस अभियान के माध्यम से समाज में महिलाओं के प्रति नकारात्मक सोच को बदलने एवं उनके साथ होने वाले आपराधिक घटनाओं पर रोक लगाने हेतु विभिन्न प्रयत्न किये जायेंगे।
  • UP Mission Shakti Abhiyan के अंतर्गत महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करने के लिए विभिन्न प्रकार के जागरूकता कार्यक्रम एवं प्रशिक्षण कार्यकर्मों का आयोजन भी किया जायेगा। 
  • राज्य सरकार द्वारा इस अभियान की आधारशिला वर्ष 2020 में रखी गयी थी, जिसे प्रदेश के कुल 75 जिलों में लागू किया गया था। 
  • योगी सरकार द्वारा शुरू की गयी इस अभियान को शुरूआती समय में दो चरणों में विभाजित किया गया था एवं अब इसे नवरात्रि के अवसर पर तीसरे चरण में आरम्भ करने की घोषणा की गयी है। 
  • यूपी मिशन शक्ति 3.0 का शुभारंभ इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान, लखनऊ में किया जायेगा, जिसके तहत अभियान के पहले एवं दूसरे चरण में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 47 जिलों की 75 महिला अधिकारियों एवं कर्मचारियों को पुरस्कृत भी किया जायेगा। 
  • इसके साथ ही इस आयोजन पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी के साथ राज्यपाल आनंदीबेन पटेल एवं केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी भी शामिल होगीं। 
  • साथ ही साथ इस कार्यक्रम के सुअवसर पर राज्य सरकार द्वारा मुख्यमंत्री निरीक्षक पेंशन योजना की  29.68 लाख प्रत्येक लाभार्थी महिलाओं के बैंक खातें में 451 रुपये की वित्तीय सहायता भी स्थांतरित की जाएगी। 
  • इसके आलावा इस कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री सुमंगला योजना के तहत प्रदेश की लगभग 1.55 लाख बालिकाओं को 30.12 करोड रुपए की धनराशि भी उनके बैंक खातें में आवंटित किये जायेंगे। 
  • उत्तर प्रदेश सरकार के इस अभियान के अंतर्गत राज्य के 59 ग्राम पंचायत भवनों में मिशन शक्ति कक्ष की शुरुआत भी की जाएगी एवं साथ ही इस अभियान के तहत  1.73 लाख से अधिक नए लाभार्थियों को भी जोड़े जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। 
  • मुख्यमंत्री जी द्वारा शुरू किये जाने वाले यूपी मिशन शक्ति अभियान के तीसरे चरण के अंतर्गत महिला बीट पुलिस अधिकारीयों की नियुक्ति भी की जाएगी। 
  • राज्य सरकार की इस अभियान के तहत योगी सरकार द्वारा प्रदेश के लगभग 1286 थानों में कुल 84.79 करोड़ रुपए की लागत से पिंक टॉयलेट का निर्माण भी किया जाएगा।

उत्तर प्रदेश मिशन शक्ति अभियान पात्रता मानदंड 

  • राज्य सरकार द्वारा प्रारंभ की गयी UP Mission Shakti Abhiyan के तहत लाभ प्राप्त करने हेतु आवेदक को उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी होना चाहिए। 
  • इसके साथ ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री जी द्वारा शुरू की गयी इस अभियान के तहत मिलने वाले लाभों को केवल राज्य की महिला नागरिकों द्वारा ही प्राप्त किया जा सकता है। 

आवश्यक दस्तावेज 

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • बैंक खाता विवरण
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

यूपी मिशन शक्ति अभियान के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया 

उत्तर प्रदेश राज्य की ऐसी इच्छुक महिला नागरिक जो UP Mission Shakti 3.0 के तहत मिलने वाले लाभों को प्राप्त करने हेतु आवेदन करना चाहती है, उन्हें अभी कुछ समय तक प्रतीक्षा करनी होगीं। आपको बता दे की राज्य सरकार द्वारा वर्तमान समय में इस अभियान को नवरात्रि के अवसर पर तीसरे चरण में शुरू करने की अभी केवल घोषणा की गयी है, इसके अंतर्गत आवेदन करने हेतु कोई भी आधिकारिक सूचना जारि नहीं की गयी है। जैसे ही हमें अभियान के तहत आवेदन करने हेतु कोई भी सूचना प्राप्त होती है, वैसे ही हम आपको संबंधित जानकारी अवश्य प्रदान करेंगे। [यह भी पढ़ें- (रजिस्ट्रेशन) विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना 2023 : ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन स्टेटस]

Leave a Comment